नोवार्टिस की डाइक्लोफेनेक दवा का लाइसेंस रद्द

गुजरात की ट्रॉयका फार्मास्युटिकल्स के लिए यह फैसला राहत देने वाला है


Updated: July 12, 2018, 11:13 PM IST
नोवार्टिस की डाइक्लोफेनेक दवा का लाइसेंस रद्द
Representative image

Updated: July 12, 2018, 11:13 PM IST
औषधि क्षेत्र के नियामक भारतीय दवा महानियंत्रक (डीसीजीआई) ने दर्द से राहत देने वाले इंजेक्शन डाइक्लोफेनेक के विनिर्माण और बिक्री पर रोक लगा दी है. इस दवा का विपणन नोवार्तिस इंडिया करती है.

उल्लेखनीय है कि स्वास्थ्य मंत्रालय की एक समिति ने इस दवा के स्वास्थ्य पर प्रभाव को लेकर चिंता जताई थी.

एक सरकारी अधिकारी ने कहा कि डीजीसीआई ने थेमिस मेडिकेयर को डाइक्लोफेनेक सोडियम इंजेक्शन 75 एमजी - एमएल के लिए दिए गए लाइसेंस को रद्द कर दिया है.

इसके अलावा डीसीजीआई ने इस दवा के स्टॉक को बाजार से वापस लेने का भी निर्देश दिया है.

गुजरात की ट्रॉयका फार्मास्युटिकल्स के लिए यह फैसला राहत देने वाला है. ट्रॉयका ने दावा किया था कि डाइक्लोफेनेक सोडियम 75 एमजी - एमएल के इंजेक्शन में ट्रांसक्यूटोल - पी होता है जिससे किडनी को नुकसान पहुंचता है.

नोवार्टिस इस इंजेक्शन का विपणन वोवरेन 1 एमएल ब्रांड नाम से करता है. ट्रॉयका ने स्वास्थ्य मंत्रालय से इस इंजेक्शन की बिक्री पर रोक लगाने की मांग की थी. इसके बाद सरकार ने 2015 इसकी समीक्षा के लिए समिति का गठन किया था. समिति ने अपनी जो रिपोर्ट सौंपी उसमें ट्रॉयका के दावे को सही पाया गया.

 
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर