लाइव टीवी

शेयर बाजार में LIC लगाएगी अब तक का सबसे बड़ा दांव! 70 हजार करोड़ के निवेश की तैयारी

News18Hindi
Updated: November 15, 2019, 2:32 PM IST
शेयर बाजार में LIC लगाएगी अब तक का सबसे बड़ा दांव! 70 हजार करोड़ के निवेश की तैयारी
LIC इस साल शेयर बाजार में 72 हजार करोड़ रुपये का निवेश कर सकती है. इससे पॉलिसी कराने वालों को बड़ा फायदा होगा.

मनीकंट्रोल (Moneycontrol) को सूत्रों (Sources) ने बताया कि एलआईसी (LIC-Life Insurance Corporation of India) ने बीते वित्त वर्ष 2018-19 में कुल 68,620 करोड़ रुपये का निवेश शेयर बाजार में किया था. जो कि मौजूदा वित्त वर्ष 2019-20 में बढ़कर 72,000 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 15, 2019, 2:32 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी और सरकारी इंश्योरेंस कंपनी एलआईसी (LIC-Life Insurance Corporation of India) इक्विटी यानी शेयर बाजार में अब तक का सबसे बड़ा निवेश करने की तैयारी में है. बिजनेस की सबसे बड़ी वेबसाइट मनीकंट्रोल (Moneycontrol) को सूत्रों (Sources) ने बताया  कि बीते वित्त वर्ष 2018-19 में LIC  ने कुल 68,620 करोड़ रुपये का निवेश शेयर बाजार में किया था. जो कि मौजूदा वित्त वर्ष 2019-20 में बढ़कर 72,000 करोड़ रुपये तक पहुंच सकता है. आपको बता दें कि अगर ऐसा होता है तो LIC की ओर से  शेयर बाजार में ये अब तक का सबसे बड़ा निवेश होगा.

आपको बता दें कि मनीकंट्रोल ने इस मामले को लेकर LIC से संपर्क किया है. लेकिन अभी तक उनकी ओर से कोई जानकारी नहीं मिली है.

इस साल अभी तक लगाया 33 हजार करोड़-  LIC के एक अधिकारी ने मनीकंट्रोल को बताया है कि शेयर बाजार में निवेश 33,000 करोड़ रुपये के पार पहुंच गया हैं और साल की दूसरी छमाही में इसके तेजी से बढ़ने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें-LIC पॉलिसीधारकों के लिए बड़ी खबर! इस खास छूट के लिए आज है अंतिम दिन

>> जहां साल-दर-साल की वृद्धि 3.5 प्रतिशत होगी, वहीं LIC का इक्विटी निवेश महत्व रखता है क्योंकि यह देश का सबसे बड़ा घरेलू संस्थागत निवेशक है.

>> साल 2019 में, एलआईसी डेट (बॉन्ड मार्केट) और इक्विटी (शेयर बाजार) में 3.49 लाख करोड़ रुपये निवेश करना चाहता है.

मनीकंट्रोल को मिले डॉक्युमेंट से हुआ ये खुलासा
अगले छह महीने में और बड़े निवेश की तैयारी- वित्त वर्ष 2019-20 की पहली छमाही में, एलआईसी ने शेयर बाजारों में करीब 33,500 करोड़ रुपये का निवेश किया है.

>> वहीं, दूसरी छमाही (H2) निवेश के लिहाज से और बेहतर रह सकती है क्योंकि ज्यादातर लोग अक्टूबर से टैक्स सेविंग के लिए जीवन बीमा खरीदना शुरू करते हैं.पॉलिसीधारकों से मिले पैसों का इस्तेमाल निवेश के लिए किया जाता है.

LIC इस स्ट्रैटेजी से करती है शेयर बाजार में मोटी कमाई- शेयर बाजार में निवेश करते समय, LIC एक 'कॉन्ट्रेरियन इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटेजी' का पालन करता है. अगर आसान शब्दों में कहें तो मतलब साफ है कि शेयर बाजार में जब गिरावट का दौर होता है तो LIC शेयर खरीदता है. वहीं, तेजी आने पर इन्हें बेच देता है. इसके लिए LIC ने बड़े फंड मैनेजर्स को नियुक्त किया हुआ है.

>> हर साल, एलआईसी शेयर बाजार के जरिए 18,000 करोड़ रुपये से 25,000 करोड़ रुपये का मुनाफा कमाती है. वित्त वर्ष 2019-20 में, LIC को शेयर बाजार से करीब 23,600 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. वहीं, एक साल पहले 25,650 करोड़ रुपये शेयर बेचकर कमाए थे.

ये भी पढ़ें-राहत! इस दिन तक बढ़ी GST Return फाइल करने की डेडलाइन

कहां लगता है LIC में पॉलिसी कराने वालों का पैसा- एलआईसी के पॉलिसीधारकों का पैसा डेट और इक्विटी में लगाया जाता है. लॉन्ग टर्म के लिहाज से होने वाले निवेश के चलते इसमें ज्यादा पैसा सरकारी बॉन्ड्स और अन्य गारंटेड मुनाफा देने वाली स्कीम में लगाया जाता है.

>> वित्त वर्ष 2018-19 के अंत तक एलआईसी के निवेश का बाजार मूल्य करीब 28.7 करोड़ रुपये था, जो कि साल-दर-साल के लिहाज से 8.6 प्रतिशत बढ़ा है. वहीं, इस दौरान बीमाकर्ता की कुल संपत्ति 31 करोड़ रुपये के उच्च स्तर को छू गई थी. इसमें 9.4 प्रतिशत की ग्रोथ आई है.

IDBI बैंक में LIC खरीद चुकी है बड़ी हिस्सेदारी-वित्त वर्ष 2016-17 के बाद शेयर बाजार में लगातार तेजी बनी हुई है. पिछले वित्त वर्ष में, LIC ने शेयर बाजार में लिस्टेड सरकारी बैंक IDBI में भी 51 फीसदी हिस्सेदारी खरीदी है.

>> एलआईसी ने आईडीबीआई बैंक में 51 प्रतिशत हिस्सेदारी खरीदने के दौरान 21,600 करोड़ रुपये का निवेश किया और बैंक को धन मुहैया कराने में सरकार से सहायता मांगी.

ये भी पढ़ें-किसान या जमाखोर, किसने बढ़ाए प्याज-टमाटर के दाम!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए इनोवेशन से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 15, 2019, 1:44 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर