कोरोना संकट के बीच LIC ने 3 महीने में कमाएं 97,400 करोड़, अब ग्राहकों को होगा ऐसे बड़ा मुनाफा

कोरोना संकट के बीच LIC ने 3 महीने में कमाएं 97,400 करोड़, अब ग्राहकों को होगा ऐसे बड़ा मुनाफा
कोरोना लॉकडाउन के बीच एलआईसी ने 97400 करोड़ रुपये कमाए

कोरोना संकट में जहां देश की कई बड़ी कंपनियों की बुरी हालत है. वहीं, देश की सबसे बड़ी इंश्यरोरेंस कंपनी LIC ने तीन महीने में 97,400 करोड़ रुपये की कमाई की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. शेयर बाजार का सबसे बड़े निवेशक एलआईसी -लाइफ इन्श्योरेंस कॉर्पोरेशन (LIC-Life Insurance Corporation) के लिए बीते महीने कमाई के लिहाज से बहुत बेहतर रहे है. मीडिया रिपोर्टेस के मुताबिक, कोरोना लॉकडाउन के बीच एलआईसी ने 97400 करोड़ रुपये कमाए है. ये फायदा शेयर बाजार से हुआ है. भारतीय जीवन बीमा निगम (एलआईसी) को वित्त वर्ष 2020-21 की पहली तिमाही में जबरदस्त फायदा हुआ है. जून तिमाही में एलआईसी के इक्विटी पोर्टफोलियो की वैल्यू 23 फीसदी बढ़ी है. एलआईसी देश की सबसे बड़ी बीमा कंपनी है. आपको बता दें कि शेयर बाजार की कमाई को LIC अपने निवेशकों में बांटती हैं. इसे वो निवेशकों को डिविडेंड और बोनस के तौर पर देती है.

आम निवेशकों के लिए LIC कर रही है मोटी कमाई-एक्सपर्ट्स कहते हैं कि एलआईसी आम निवेशकों के पैसे को ही शेयर बाजार में इन्वेस्ट करता है और बड़े रिटर्न हासिल कर इन्वेस्टर्स को भी फायदा पहुंचाता है. आपको बता दें कि फाइनेंशियल ईयर 2015-16 में एलआईसी ने 11 हजार करोड़ रुपए का मुनाफा कमाया था. इसके बाद उसने अपने निवेशकों को 40 फीसदी ज्यादा डिविडेंड और बोनस दिया.

तीन महीने में की 97,400 करोड़ रुपये की कमाई - अंग्रेजी के बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स में छपी के मुताबिक, 31 मार्च 2020 को इसके पोर्टफोलियो में मौजूद कंपनियों की मार्केट वैल्यू 4.30 लाख करोड़ रुपये थी. यह 30 जून 2020 को बढ़कर 5.27 लाख करोड़ रुपये हो गई. इस लिहाज से 23 फीसदी की ग्रोथ आई है. ऐस इक्विटी ने ईटी को बताया कि एलआईसी ने इस तिमाही के दौरान 25 पैनी शेयरों में निवेश किया. उसने जल्द मोटी कमाई के मकसद से ऐसा किया. इसके पोर्टफोलियो में मौजूद बिड़ला टायर्स ने 1,603 फीसदी यानी 17 गुना रिटर्न दिया है.



ये भी पढ़ें-महंगी हो सकती है चीनी, जल्द इतने रुपये तक बढ़ सकते है दाम
जानिए कैसे और कहां की मोटी कमाई- वैल्यू के आधार पर बात करें, तो जून तिमाही में एलआईसी ने 97,400 करोड़ रुपये कमाई की, जिसमें से 22,360 करोड़ रुपये की हिस्सेदारी सिर्फ रिलायंस इंडस्ट्रीज से आई है. जून तिमाही के दौरान आरआईएल का शेयर 1,102 रुपये से 1,703 रुपये का स्तर पर पहुंच गया.

मार्च में 23 फीसदी तक का गोता लगाने के बाद बीएसई सेंसेक्स ने बीती तिमाही में 18 फीसदी की तेजी दिखाई है. वैश्विक संकेतों की मजबूती, विदेशी निवेशकों की खरीदारी और मौद्रिक नीति में नरमी ने बाजार में हरियाली को बनाए रखा है. हालांकि, विश्लेषक सतर्क रहने की सलाह दे रहे हैं.

30 जून को इस शेयर का भाव 50.25 रुपये तक पहुंच गया, जो 31 मार्च को 2.95 रुपये था. अन्य शेयरों में आलोक इंडस्ट्रीज (1,255 फीसदी ऊपर), डिगजैम (283 फीसदी ऊपर), रिलायंस होम फाइनेंस (275 फीसदी ऊपर) और जय प्रकाश पावर वेंचर्स (272 फीसदी ऊपर) शामिल हैं.

रिलायंस पावर, कॉक्स एंड किंग्स, बल्लारपुर इंडस्ट्रीज, जेपी इंफ्राटेक, जीटीएल इंफ्रा, रिलायंस कैपिटल, बजाज हिंदुस्तान और सुजलॉन एनर्जी ने भी इस दौरान 100 फीसदी से अधिक का रिटर्न दिया है. इन सभी शेयरों की कीमत मार्च तिमाही में 10 रुपये से कम थी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज