लाइव टीवी

सरकार के नए इनकम टैक्स ऑप्शन से LIC को लग सकता है बड़ा झटका! जानिए क्या होगा आपकी पॉलिसी पर असर

News18Hindi
Updated: February 5, 2020, 11:25 AM IST
सरकार के नए इनकम टैक्स ऑप्शन से LIC को लग सकता है बड़ा झटका! जानिए क्या होगा आपकी पॉलिसी पर असर
सरकार के नए इनकम टैक्स ऑप्शन से LIC को लग सकता हैं बड़ा झटका

नए इनकम टैक्स ऑप्शन में इंश्योरेंस पर टैक्सपेयर्स को मिलने वाले ट्रेडिशनल टैक्स इन्सेन्टिव खत्म किए जाने से LIC की आमदनी पर असर होने की आशंका जताई जा रही है. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फैसले से LIC की वैल्यूएशन में भी कमी आ सकती है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 5, 2020, 11:25 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बजट में इनकम टैक्स के नए ऑप्शन से देश की सबसे बड़ी और इकलौती सरकारी इंश्योरेंस कंपनी लाइफ इंश्योरेंस कॉरपोरेशन ऑफ इंडिया (LIC) को झटका लग सकता है. दरअसल नए इनकम टैक्स ऑप्शन में इंश्योरेंस पर टैक्सपेयर्स को मिलने वाला ट्रेडिशनल टैक्स इन्सेन्टिव खत्म किए जाने से LIC की आमदनी पर असर होने की आशंका जताई जा रही हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, इस फैसले से LIC की वैल्यूएशन में भी कमी आ सकती है. अंग्रेजी के बिजनेस अखबार इकोनॉमिक टाइम्स में छपी खबर में बताया गया है कि इंश्योरेंस कंपनियों के वैल्यूएशन पर दबाव बना हुआ है क्योंकि ये कंपनियां सरकार के प्रस्तावित डायरेक्ट टैक्स सिस्टम के हिसाब से खुद के प्लान को बदलने में जुटी हैं. ग्लोबल ब्रोकरेज फर्म जेफरीज की रिपोर्ट के मुताबिक, LIC का रिटेल बिजनेस पार्टिसिपेटिंग पॉलिसी वाला है जो कंपनी मिडल और लो इनकम परिवारों को टैक्स प्लानिंग के मकसद से मुहैया कराती है. इसलिए टैक्स बेनिफिट में कमी लाने का सबसे ज्यादा असर LIC पर होगा.

इनकम टैक्स के नए ऑप्शन को समझिए...

सेंट्रल बोर्ड ऑफ डायरेक्ट टैक्सेज (CBDT) के चेयरमैन पीसी मोदी ने CNBC आवाज़ को खास बातचीत में बताया हैं कि टैक्सपेयर्स के पास दोनों विकल्प मौजूद रहेंगे कि वो कम रेट और बिना एग्जम्पशंस वाली इनकम टैक्स की नई व्यवस्था को चुने. या फिर पुराने सिस्टम में रहें. जहां पर सेविंग्स करने पर टैक्स छूट मिलती है.

नई टैक्स व्यवस्था में कम दर पर टैक्स भुगतान करने का विकल्प होगा, लेकिन इसमें किसी भी तरह के डिडक्शन का फायदा नहीं मिलेगा. टैक्सपेयर्स के लिए कौन सा विकल्प फायदेमंद होगा इसके लिए उन्हें नए तथा पुराने टैक्स विकल्प के तहत अपनी टैक्स देनदारी का कैलकुलेशन करना पड़ेगा.



ये भी पढ़ें-मोदी सरकार ने किसानों के बैंक खाते में सीधे भेजे 50 हजार करोड़, इन राज्य के लोगों को हुआ सबसे ज्यादा फायदा 



इनकम टैक्स के अधिनियम के चैप्टर 6ए के तहत मिलने वाले तमाम डिडक्शंस जैसे सेक्शन 80C, 80CCC, 80CCD, 80D, 80DD, 80DDB, 80E, 80EE, 80EEA, 80EEB, 80G, 80GG, 80GGA, 80GGC, 80IA, 80-IAB, 80-IAC, 80-IB, 80-IBA, इत्यादि का फायदा आप नए टैक्स विकल्प में नहीं उठा पाएंगे.

इससे LIC पर क्या असर होगा- एक्सपर्ट्स बताते हैं कि, LIC का रिटेल बिजनेस पार्टिसिपेटिंग पॉलिसी वाला है जो मिडल और कम इनकम परिवारों को टैक्स प्लानिंग के मकसद से मुहैया कराती है. इसलिए टैक्स बेनिफिट में कमी लाने का सबसे ज्यादा असर LIC पर होगा. इसीलिए बजट वाले दिन इंश्योरेंस कंपनियों के शेयरों में भारी गिरावट आई थी. ICICI प्रूडेंशियल का शेयर 12.6% और HDFC लाइफ का शेयर 5.8% गिर गया था, जबकि SBI लाइफ का शेयर भी 8.6% फिसल गया था.

वहीं, दूसरी ओर ये भी माना जा रहा हैं कि नए टैक्स ऑप्शन से इंश्योरेंस कंपनी की ग्रोथ पर खास असर नहीं होगा, क्योंकि नई पीढ़ी ने LIC या दूसरी इंश्योरेंस कंपनियों के सेविंग्स प्रॉडक्ट्स में दिलचस्पी नहीं दिखाई और सिर्फ टर्म प्लान लिया. टैक्स बेनिफिट नहीं होने पर हो सकता है कि वे कंजम्पशन के लिए अपने हाथ में ज्यादा कैश रखना चाहें.

ये भी पढ़ें-अगर आपके पास हैं एक से ज्यादा बैंक खाता, तो जानिए अब कितने लाख रुपये रहेंगे सेफ? 




क्या होगा पॉलिसी कराने वालों पर असर- मौजूदा समय में भारत के तीन चौथाई बीमा बाजार पर LIC की पकड़ है. हालांकि, पिछले साल ही निवेश को लेकर LIC के कुछ गलत फैसलों पर सवाल भी उठाया गया था. अब सरकार द्वारा LIC IPO लाने के फैसले को लेकर माना जा रहा है कि LIC की लिस्टिंग के बाद कंपनी के कामकाज में पहले से अधिक पारदर्शिता आएगी.

अगर कंपनी बेहतर प्रदशर्न करती है तो इसका लाभ बीमाधारकों को भी मिलेगा. जानकारों का कहना है कि LIC की अधिकतर पॉलिसी नॉन यूनिट लिंक हैं. इसका मतलब है कि अगर शेयर बाजार में कोई उतार-चढ़ाव आता है तो इसका असर पॉलिसी पर नहीं देखने को मिलेगा. वहीं, कंपनी के बेहतर प्रदर्शन का असर लोगों के निवेश पर सकारात्मक रूप में देखने को मिलेगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए Mumbai से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 5, 2020, 10:16 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर