Linde India और Tata Group मिलकर करेंगे ऑक्सीजन की सप्लाई, हासिल किए 24 क्रायोजेनिक कंटेनर्स

हर कंटेनर की क्षमता 20 टन लिक्विड ऑक्सीजन ढोने की है.

हर कंटेनर की क्षमता 20 टन लिक्विड ऑक्सीजन ढोने की है.

हर कंटेनर्स की क्षमता 20 टन लिक्विड ऑक्सीजन (Oxygen) ढोने की है. लिंडे इंडिया इन कंटेनर में कई मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटीज से ऑक्सीजन लेकर उन अस्पतालों तक पहुंचाएगी, जहां इसकी जरूरत है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 25, 2021, 7:04 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. कोरोना वायरस (Corona) के एक तरफ तेजी से बढ़ते मामले तो दूसरी तरफ ऑक्सीजन (Oxygen) को लेकर मची हाहाकार. अब तक देश में सेकड़ो मौतें ऑक्सीजन की कमी से हो चुकी हैं. वहींं, बड़े पैमाने पर ऑक्सीजन सिलेंडर की कालाबाजारी (Black market) की खबरें भी परेशान कर रही हैं. इन सब के बीच अब प्राइवेट कंपनियों ने भी मदद के लिए हाथ बढ़ाने शुरू कर दिए हैं. रिलायंस इंडस्ट्रीज अपने जामनगर यूनिट से ऑक्सीजन की सप्लाई कर रही है. तो वहीं अब औद्योगिक गैस कंपनी लिंडे इंडिया (Linde India) ने कहा है कि उसने टाटा ग्रुप (Tata Group) के साथ मिलकर इंटरनेशनल सोर्स से ऑक्सीजन की ढुलाई के लिए 24 क्रायोजेनिक कंटेनर हासिल किए हैं. इन कंटेनर के जरिये देश भर में मेडिकल ऑक्सीजन की सप्लाई की जाएगी. केंद्र सरकार ने विदेश से ऑक्सीजन आयात करने का फैसला किया है.



अस्पतालों तक पहुंचाएगी ऑक्सीजन

हर कंटेनर की क्षमता 20 टन लिक्विड ऑक्सीजन ढोने की है. लिंडे इंडिया इन कंटेनर में कई मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटीज से ऑक्सीजन लेकर उन अस्पतालों तक पहुंचाएगी, जहां इसकी जरूरत है. इसके अलावा ये कंटेनर्स दूर-दराज के इलाकों में अंतरिम ऑक्सीजन स्टोरेज (interim oxygen storage) के रूप में मददगार साबित होंगे, जहां ऑक्सीजन की किल्लत हो रही है. 



ये भी पढ़ें - कोरोना के खिलाफ जंग में रेलवे ने संभाला मोर्चा, आज रात रायगढ़ से दिल्ली के लिए रवाना होगी 4 ऑक्सीजन टैंकर्स


हवाई रास्ते से देश के पूर्वी तट पर पहुंच चुके हैं कंटेनर


कंपनी के बयान के मुताबिक, ये कंटेनर हवाई रास्ते से देश के पूर्वी तट पर पहुंच चुके हैं. अब यहां से लिंडे इंडिया अपनी लिक्विड ऑक्सीजन मैन्यूफैक्चरिंग फैसिलिटी भेजेगी. इस फैसिलिटी में इन क्रॉयोजेनिक ISO containers का कंडीशंड किया जाएगा और लिक्विड मेडिकल ऑक्सीजन इस्तेमाल के लिए सर्टिफाई (certified) किया जाएगा. बता दें कि रिलायंस इंडस्ट्रीज लिमिटेड, टाटा स्टील लिमिटेड, इंडियन ऑयल कॉर्पेरेशन लिमिटेड, भारत पेट्रोलियम कॉर्प लिमिटेड और JSW स्टील लिमिटेड समेत एक दर्जन फर्मों ने अस्पतालों में ऑक्सीन की सप्लाई की है.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज