• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • Credit Line: कैसे काम करता है क्रेडिट लाइन, पर्सनल लोन या ओवरड्राफ्ट से कैसे है अलग

Credit Line: कैसे काम करता है क्रेडिट लाइन, पर्सनल लोन या ओवरड्राफ्ट से कैसे है अलग

कुछ बैंक/कंपनियां क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी क्रेडिट लाइन की सुविधा प्रदान करते हैं.

फिनटेक कंपनियां सिक्‍योर्ड और साथ ही अनसिक्‍योर्ड क्रेडिट लाइन की सुविधाएं प्रदान करते हैं. अनसिक्‍योर्ड क्रेडिट लाइनें आमतौर पर वेतनभोगी आवेदकों को उनके क्रेडिट स्कोर और मासिक वेतन के आधार पर दी जाती हैं.

  • Share this:

    नई दिल्ली. आदमी के जीवन में आपातकालीन परिस्थितियां कभी भी घट सकती हैं. कई बार अचानक पैसों की जरूरत आ जाती है. अगर आपके पास बैंक एफडी (FD) है और आपके पास पैसे की कमी हो रही है, तो एफडी को तोड़ने की कोई जरूरत नहीं है. इसके बजाय आप अपनी एफडी के बदले ओवरड्राफ्ट या ओडी (Overdraft) लेने का विकल्प चुन सकते हैं. आपके अधिकांश निवेश जैसे गोल्ड, म्यूचुअल फंड आदि के बदले ओवरड्रॉफ्ट की सुविधा का लाभ उठाया जा सकता है.

    लेकिन क्या होगा अगर आपके पास ऐसा कोई निवेश नहीं है जो अल्प सूचना पर पैसे की जरूरत को पूरा कर सके. ऐसे मामले में आप पर्सनल लोन (Personal Loans) और क्रेडिट लाइन (Credit Line) या लाइन ऑफ क्रेडिट (Line of Credit) का विकल्प चुन सकते हैं. पर्सनल लोन में आपको ईएमआई चुकाते रहना होगा, जबकि एक लाइन ऑफ क्रेडिट में आपको केवल ब्याज चुकाने की जरूरत होती है और मूलधन का भुगतान बाद में कर सकते हैं.

    क्रेडिट लाइन लोन और ओवरड्राफ्ट सुविधाओं में कई समानताएं
    पैसा बाजार डॉट कॉम के डायरेक्‍टर और हेड (अनसिक्‍योर्ड लोन) गौरव अग्रवाल कहते हैं,  ”क्रेडिट लाइन लोन और ओवरड्राफ्ट सुविधाओं में कई समानताएं हैं. दोनों ऑप्शन प्री-सैंक्शन्ड क्रेडिट लिमिट के साथ आते हैं, जिसमें उधारकर्ता सैंक्शन्ड पीरियड के दौरान कई बार कर्ज ले सकते हैं. ये दोनों सुविधाएं बिना किसी प्रीपेमेंट चार्ज के उधारकर्ताओं को उनकी पुनर्भुगतान क्षमता के अनुसार भुगतान करने की अनुमति देती हैं.”

    रीपेमेंट ऑप्शन आकर्षक
    ओडी और क्रेडिट लाइन को रीपेमेंट ऑप्शन आकर्षक बनाता है. अग्रवाल बताते हैं, ”जहां तक ​​ब्याज लागत का सवाल है, कर्जदारों को उधार ली गई राशि (न कि स्वीकृत राशि) पर ब्याज तब तक लगता है, जब तक कि उसे चुकाया नहीं जाता.” हालांकि अग्रवाल ने कहा कि कुछ क्रेडिट लाइनों के मामले में उधारकर्ताओं को ईएमआई के रूप में चुकाने की आवश्यकता होती है, जिसमें मूलधन और ब्याज दोनों घटक शामिल होते हैं.

    अग्रवाल कहते हैं, ”ओवरड्राफ्ट की सुविधा बैंकों द्वारा आम तौर पर अपने करंट अकाउंट होल्डर्स जैसे व्यवसायियों, कॉरपोरेट्स और एसएमई के लिए दी जाती है. हाल ही में कई फिनटेक कंपनियों ने इंडिविजुअल को भी क्रेडिट लाइन की सुविधा देना शुरू कर दिया है. फिनटेक कंपनियां सिक्‍योर्ड और साथ ही अनसिक्‍योर्ड क्रेडिट लाइन की सुविधाएं प्रदान करते हैं. अनसिक्‍योर्ड क्रेडिट लाइनें आमतौर पर वेतनभोगी आवेदकों को उनके क्रेडिट स्कोर और मासिक वेतन के आधार पर दी जाती हैं.”

    क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी क्रेडिट लाइन की सुविधा
    अग्रवाल ने बताया कि क्रेडिट लाइन्स में ब्याज दर आम तौर पर क्रेडिट कार्ड में भुगतान की जाने वाली ब्याज दर से कम होती है. कोई भी लाइन ऑफ क्रेडिट का लाभ उठा सकता है और राशि अपने क्रेडिट कार्ड में भी प्राप्त कर सकता है. कुछ बैंक/कंपनियां क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी क्रेडिट लाइन की सुविधा प्रदान करते हैं. इसका उपयोग एटीएम में कैश निकासी के लिए किया जा सकता है, ऑफलाइन लेनदेन करने के लिए पीओएस पर स्वाइप किया जा सकता है या ऑनलाइन लेनदेन करने के लिए किया जा सकता है.”

    पर्सनल लोन की तुलना में अधिक ब्याज दरें
    क्रेडिट लाइन का लाभ उठाने से पहले जरूरत और उस समयावधि का मूल्यांकन करें जिसके लिए आपको पैसे की आवश्यकता है. पर्सनल लोन आपको कम कीमत पर मिल सकता है. क्रेडिट लाइन सुविधाओं में आमतौर पर पर्सनल लोन की तुलना में अधिक ब्याज दरें होती हैं.

    पर्सनल लोन, ओवरड्राफ्ट या क्रेडिट लाइन को चुनने के सवाल पर अग्रवाल कहते हैं,  ”क्रेडिट लाइन सुविधाओं के माध्यम से दी जाने वाली हाई रीपेमेंट फ्लेक्सिबिलिटी उन्हें लगातार नकदी प्रवाह बेमेल का सामना करने वालों के लिए अधिक उपयुक्त बनाती है. हालांकि, ऐसे उपभोक्ता अपने सेविंग, करंट या सैलरी अकाउंट के माध्यम से बैंकों द्वारा दी जाने वाली ओवरड्राफ्ट सुविधाओं पर भी विचार कर सकते हैं, अगर उन्हें क्रेडिट लाइन सुविधाओं की तुलना में कम ब्याज लगे. वे कुछ बैंकों/कंपनियों की ओर  ओवरड्राफ्ट सुविधाओं के रूप में दिए गए पर्सनल लोन पर भी विचार कर सकते हैं.”

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन