IPO में पैसा लगाकर इस हफ्ते हो सकते हैं मालामाल! इन 3 कंपनियों में है निवेश करने का मौका

IPO में पैसा लगाकर इस हफ्ते हो सकते मालामाल! इन 3 कंपनियों में निवेश का मौका
IPO में पैसा लगाकर इस हफ्ते हो सकते मालामाल! इन 3 कंपनियों में निवेश का मौका

कुछ ही दिनों में अपने पैसों से भारी रिटर्न पाना चाहते हैं तो इस हफ्ते तीन आईपीओ आ रहे हैं. हाल में जो भी आईपीओ आए हैं उन्होंने 10 दिन में ही दोगुना रिटर्न दिया है. आइये आपको बताते हैं इन आईपीओ के बारे में सब कुछ और कैसे इसमें आप निवेश करेंगे और कंपनी कैसी है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 21, 2020, 12:21 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. अगर आप भी कुछ ही दिनों में अपने पैसों से भारी रिटर्न पाना चाहते हैं तो इस हफ्ते तीन आईपीओ आ रहे हैं. हाल में जो भी आईपीओ आए हैं उन्होंने 10 दिन में ही दोगुना रिटर्न दिया है. इन आईपीओ की लिस्ट में म्यूचुअल फंड के लिए सेवा देनेवाली कैम्स (CAMS) और केमकॉन स्पेशियालिटी केमिकल (Chemcon Speciality Chemicals Ltd) शामिल हैं. बता दें कि इन दोनों कंपनियों का इश्यू आज खुल रहा है. यह दोनों इश्यू 23 सितंबर को बंद होंगे. जबकि एंजल ब्रोकिंग का इश्यू कल यानी मंगलवार को खुलेगा और गुरुवार को बंद होगा. आइये आपको बताते हैं इन आईपीओ के बारे में सब कुछ और कैसे इसमें आप निवेश करेंगे और कंपनी कैसी है.

कैम्स के बारे में जानिए कंपनी क्या करती है?
कंप्यूटर एज मैनेजमेंट सर्विसेस (कैम्स) फाइनेंशियल इंफ्रा और सेवा के लिए टेक्नोलॉजी देती है. यह म्यूचुअल फंड के रजिस्ट्रार और ट्रांसफर एजेंट के रूप में काम करती है. क्रिसिल की रिपोर्ट के मुताबिक, म्यूचुअल फंड में इसकी बाजार हिस्सेदारी 69.4 प्रतिशत रही है. कैम्स की विशेषता यह है कि इसका पूरे भारत में नेटवर्क है. टेक्नोलॉजी कंपनी है. काफी बड़ा इंफ्रा है.

कैम्स आईपीओ के पैसे का क्या होगा?
कैम्स को इसमें कोई पैसा नहीं मिलेगा. इसके जो हिस्सेदार हैं, वे अपने शेयर बेचेंगे और पैसा उनको मिलेगा. लिस्टिंग का लाभ लेने के लिए आईपीओ आ रहा है. इसमें कई हिस्सेदार हैं जिसमें एनएसई भी है. कम से कम 12 शेयर (एक लॉट) और अधिकतम 156 शेयर (13 लॉट) खरीद सकते हैं. कम से कम 14,760 रुपये और अधिकतम एक लाख 91 हजार 880 रुपये का निवेश कर सकते हैं. कर्मचारियों के लिए प्रति शेयर 122 रुपये का डिस्काउंट है.



आज से रेलवे चला रहा है 3AC क्‍लोन ट्रेनें, मुख्‍य ट्रेन से ज्‍यादा होगी स्‍पीड

कैम्स का लॉट साइज क्या है?
लॉट साइज मतलब आप कम से कम एक लॉट खरीद सकते हैं या अधिकतम 2 लाख रुपये के कम मूल्य के शेयर में जितना लॉट होगा उतना खरीद सकते हैं. सेबी के नियमों के मुताबिक रिटेल निवेशक किसी एक आईपीओ में 2 लाख रुपये तक का निवेश कर सकता है.

केमकॉन स्पेशियालिटी कंपनी क्या करती है?
केमकॉन स्पेशियालिटी 1988 में बनी कंपनी है. यह विशेष केमिकल उत्पादों का निर्माण करती है. इन उत्पादों में एचएमडीएस और सीएमआईसी भी शामिल हैं. फार्मास्यूटिकल्स केमिकल्स में यह वैश्विक स्तर की बड़ी निर्माता कंपनी है. घरेलू और वैश्विक स्तर पर इसके ग्राहक हैं.

केमकॉन आईपीओ के पैसे का क्या करेगी?
कंपनी पैसे का उपयोग मैन्युफैक्चरिंग सुविधा का विस्तार करने में करेगी. इसके साथ वर्किंग कैपिटल के लिए उपयोग करेगी और जनरल कॉर्पोरेट उद्देश्य के लिए भी खर्च करेगी.

केमकॉन के कम से कम और अधिकतम कितने शेयर खरीद सकते हैं?
कम से कम 44 शेयरों (एक लॉट) और अधिकतम 572 शेयरों (13 लॉट) को खरीद सकते हैं. कम से कम 14,960 रुपये और अधिकतम एक लाख 94 हजार 480 रुपये का निवेश कर सकते हैं. अलॉटमेंट का मतलब आपको कितना शेयर मिला है. जब ज्यादा लोग शेयर खरीदते हैं तो ऐसी स्थिति में यह संभव है कि आपको शेयर न मिले.

एंजल ब्रोकिंग कंपनी क्या करती है?
1996 में स्थापित यह कंपनी देश के अग्रणी स्टॉक ब्रोकिंग कंपनियों में है. यह मूलरूप से एडवाइजरी और फाइनेंशियल सेवा देती है. इसके साथ ब्रोकिंग और मार्जिन फंडिंग की भी सेवा देती है. यह चौथी सबसे बड़ी ब्रोकिंग कंपनी है. कंपनी का मजबूत ब्रांड है.

1 अक्टूबर से इस तरह के लेनदेन पर देना होगा टैक्स, लागू हो रहा नया नियम

कितना शेयर खरीद सकते हैं?
कम से कम 49 शेयर (एक लॉट) और अधिकतम 637 शेयर (13 लॉट) खरीद सकते हैं. कम से कम 14,994 और अधिकतम एक लाख 94 हजार 922 रुपये का निवेश कर सकते हैं. ग्रे मार्केट का मतलब वो मार्केट जहां शेयरों की बिक्री ज्यादा भाव पर होती है. जैसे आपको किसी आईपीओ में शेयर मिला और लगता है कि इसकी लिस्टिंग कम या ज्यादा भाव पर होगी तो फिर आप इसे ग्रे मार्केट में बेच सकते हैं.

इन आईपीओ के निवेशकों को दिया बेहतर रिटर्न
हैप्पिएस्ट माइंड की लिस्टिंग पिछले हफ्ते हुई थी. इस शेयर ने महज 10 दिनों में ही निवेशकों को दोगुना का लाभ दिया है. यानी आपके 10 हजार रुपये 20 हजार रुपये हो गए. इसके पहले डिमार्ट और आईआरसीटीसी भी 10 दिन में ही दोगुना मुनाफा लिस्टिंग पर दिए थे.

आईपीओ का मतलब क्या है?
आईपीओ का मतलब कोई भी कंपनी जब पहली बार स्टॉक एक्सचेंज पर लिस्ट होती है तो उसे कुछ शेयर जारी करने होते हैं. इसे हम इनिशियल पब्लिक ऑफर कहते हैं. निवेश करने से पहले कंपनी की फाइनेंशियल स्थिति के बारे में जरूर पता करना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज