Home /News /business /

SBI का ग्राहकों को बड़ा तोहफा! आपके 30 लाख रुपये तक के होम लोन की EMI इतने रुपये हुई कम

SBI का ग्राहकों को बड़ा तोहफा! आपके 30 लाख रुपये तक के होम लोन की EMI इतने रुपये हुई कम

SBI का ग्राहकों को नवरात्र तोहफा! इतनी सस्ती हुई होम-ऑटो पर्सनल लोन EMI

SBI का ग्राहकों को नवरात्र तोहफा! इतनी सस्ती हुई होम-ऑटो पर्सनल लोन EMI

देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई ने ग्राहकों को नवरात्रि तोहफा देते हुए होम, ऑटो और पर्सनल लोन की ब्याज दरें घटाने का फैसला लिया है. नई दरें 10 अप्रैल से लागू होंगी

    भारतीय रिजर्व बैंक (RBI) के ब्याज दरों में कटौती के बाद देश के सबसे बड़े सरकारी बैंक एसबीआई (स्टेट बैंक ऑफ इंडिया) ने ग्राहकों को नवरात्रि तोहफा देते हुए 30 लाख रुपये तक के होम लोन पर दरें 0.10 फीसदी तक घटा दी है. वहीं, मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) में कटौती की घोषणा की है. नई दरें 10 अप्रैल से लागू होंगी. इसके बाद बैंक का होम लोन, ऑटो लोन और पर्सनल लोन सस्ता हो जाएगा. एमसीएलआर घटने से आम आदमी को सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि उसका मौजूदा लोन सस्ता हो जाता है और उसे पहले की तुलना में कम EMI देनी पड़ती है. आपको बता दें कि अब दूसरे बैंकों पर भी ब्याज दर घटाने का दबाव बनेगा.

    (ये भी पढ़ें: गर्मियों की इन छुट्टियों में ऐसे करें अपने SBI ATM कार्ड को सेफ! कोई फ्रॉड नहीं निकाल पाएगा पैसा)

    इतनी सस्ती हुई होम-ऑटो पर्सनल लोन EMI- SBI ने मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट (MCLR) में 0.05 फीसदी की कटौती की है. एक साल के कर्ज पर एमसीएलआर 8.55 फीसदी से घटाकर 8.50 फीसदी पर आ गई हैं.

    बैंक ने 30 लाख रुपये तक के होम लोन पर दरें 0.10 फीसदी तक घटा दी है. नई दरें 8.60 फीसदी से लेकर 8.90 फीसदी पर आ गई है. इससे पहले ये दरें 8.70 फीसदी से 9 फीसदी पर थीं.



    क्या होता है MCLR-MCLR को मार्जिनल कॉस्ट ऑफ लेंडिंग रेट भी कहते हैं. इसमें बैंक अपने फंड की लागत के हिसाब से लोन की दरें तय करते हैं. ये बैंचमार्क दर होती है. इसके बढ़ने से आपके बैंक से लिए गए सभी तरह के लोन महंगे हो जाते हैं.

    (ये भी पढ़ें: PF और PPF का सवाल आपको करता है परेशान, तो जानें इससे जुड़ी सारी खास बातें)

    एमसीएलआर कम होने से फायदा-एमसीएलआर कम होने से आम आदमी को सबसे बड़ा फायदा यह होता है कि उसका मौजूदा लोन सस्ता हो जाता है और उसे पहले की तुलना में कम ईएमआई देनी पड़ती है.



    आरबीआई की ओर से दरें घटाने के बाद लिया ये फैसला- RBI ने रेपो रेट एक चौथाई फीसदी (0.25%) घटा दिए है. आरबीआई की मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी (MPC) की तीन दिवसीय बैठक के बाद ये फैसला लिया. रेपो में कटौती के बाद यह 6 फीसदी पर आ गया है. रिवर्स रेपो रेट भी घटकर 5.75 फीसदी पर आ गया है.

    ये भी पढ़ें: इनकम टैक्स रिटर्न भरने के लिए कौन से फॉर्म का करें इस्तेमाल, यहां जानें!

    एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएगी आपके पास, सब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

    Tags: Largest lender SBI, Sbi, SBI Bank, SBI has slashed charges, SBI Quick, Sbi share price

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर