प्रवासी मजदूरों की मदद के लिए खोले गए 20 कंट्रोल रूम, वाट्सएप या फोन करके बताई जा सकेगी समस्या

migrant workers

migrant workers

कोरोनावायरस की दूसरी लहर (Coronavirus second wave) से देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन व कर्फ्यू (Lockdown Curfew) लगा दिया गया है. ऐसे में एक बार फिर से प्रवासी श्रमिकों (Migrant Worker) में खौफ है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 9:13 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनावायरस की दूसरी लहर (Coronavirus second wave) से देश के विभिन्न हिस्सों में लॉकडाउन व कर्फ्यू (Lockdown Curfew)लगा दिया गया है. ऐसे में एक बार फिर से प्रवासी श्रमिकों (Migrant Worker) में भगदड़ है. उनमें रोजीरोटी खोने का डर है इसी डर के चलते वे अपने घर रवाना हो रहे हैं. अब इसे देखते हुए केंद्रीय श्रम मंत्रालय ने प्रवासी श्रमिकों की मदद के लिए 20 कंट्रोल रूम बनाए हैं. प्रवासी श्रमिक इन केंद्रों से संपर्क कर अपनी समस्याएं साझा कर सकते हैं. मंत्रालय ने कहा कि ऐसी परिस्थिति में प्रवासी श्रमिक कई प्रकार से प्रभावित होते हैं और उनकी सभी समस्याओं को दूर करने की कोशिश की जाएगी. मुख्य श्रम आयुक्त सभी 20 कंट्रोल रूम की निगरानी करेंगे.

इस तरह करें संपर्क...

संबंधित राज्य सरकार की मदद से श्रम मंत्रालय का यह कंट्रोल रूम श्रमिकों की समस्या का निवारण कराएगा. प्रवासी श्रमिक ई-मेल, वाट्सएप या मोबाइल फोन के जरिये अपनी समस्या कंट्रोल रूम से साझा कर सकते हैं.

ये भी पढ़ें- रोजाना 131 रुपये बचाकर कमा सकते हैं 20 लाख रुपये, जानिए इस स्कीम के बारे में सबकुछ...
इन शहरों में खुले कंट्रोल रूम

श्रम मंत्रालय के मुताबिक, ये कंट्रोल रूम अहमदाबाद, अजमेर, आसनसोल, बेंगलुरु, भुवनेश्वर, चंडीगढ़, चेन्नई, कोच्चि, देहरादून, दिल्ली, धनबाद, गुवाहाटी, हैदराबाद, जबलपुर, कानपुर,कोलकाता, मुंबई, नागपुर,पटना व रायपुर स्थापित किए गए हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज