अपना शहर चुनें

States

कोरोनाकाल में Parle-G बिस्कुट के साथ-साथ लोगों ने खूब खाई Maggi, इतने फीसदी बढ़ी सेल

कोरोनाकाल में Parle-G बिस्कुट के साथ-साथ लोगों ने खूब खाई Maggi, बढ़ी मांग
कोरोनाकाल में Parle-G बिस्कुट के साथ-साथ लोगों ने खूब खाई Maggi, बढ़ी मांग

कोरोनाकाल में जहां पेट्रोल, गाड़ी, बाइकों जैसी कई चीजों की मांग में कमी आई है. वहीं खाने-पीने की चीजों की सेल में काफी इजाफा हुआ है. अब नेस्ले ने बताया कि लॉकडाउन के बीच इन्सटेंट नूडल्स मैगी (Maggi) के लिए जमकर मारामारी रही. लॉकडाउन के दौर में मैगी की बिक्री में 25 फीसदी की भारी बढ़त हुई है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कोरोनाकाल में जहां पेट्रोल, गाड़ी, बाइकों जैसी कई चीजों की मांग में कमी आई है. वहीं खाने-पीने की चीजों की सेल में काफी इजाफा हुआ है. हाल ही में परले ने Parle-G बिस्कुट की मांग 8 दर्शक में सबसे ज्यादा होने की जानकारी दी थी. अब नेस्ले ने बताया कि लॉकडाउन के बीच इन्सटेंट नूडल्स मैगी (Maggi) के लिए जमकर मारामारी रही. कोरोना वायरस के प्रकोप से पहले के दौर की तुलना में इस बीमारी के आने और इसके बाद लॉकडाउन के दौर में मैगी की बिक्री में 25 फीसदी की भारी बढ़त हुई है.

आखिर क्यों बढ़ी मैगी की सेल?
दरअसल बात ये है कि कोरोना की वजह से होटल-रेस्टोरेंट थे. बंद होने की वजह से बहुत से लोगों के लिए मैगी तत्काल बनानें वाली चीजों में एकमात्र विकल्प थी. फिर चाहे वो किसी भी समय का खाना हो नाश्ता, लंच या डिनर. मांग बढ़ने की वजह से बहुत से दुकानदारों ने तो 1.68 किलोग्राम वाले पैक का भंडारण कर लिया क्योंकि छोटे पैकेट मिलने में काफी मुश्किल आ रही थी. इस बड़े पैक में 24 मैगी नूडल्स केक होते हैं. लॉकडाउन के बीच उपभोक्ताओं ने भी स्टॉक खत्म होने के डर से इसका जमकर भंडारण करना शुरू कर दिया.

ये भी पढ़ें:- सरकार की इस स्कीम के तहत सस्ते में सोना खरीदने का आखिर मौका! होगा कितना फायदा?
मांग बढ़ने की वजह से बढ़ाया गया काम


मैगी ब्रैंड के उत्पाद बेचने वाली कंपनी नेस्ले इंडिया के मैनेजिंग डायरेक्टर सुरेश नारायण ने businesstoday.in को बताया कि लॉकडाउन के बीच कंपनी को अपने सभी पांचों कारखानों में मैगी का उत्पादन काफी तेजी से करना पड़ा. करीब 12,000 करोड़ रुपये के कारोबार वाली नेस्ले इंडिया के प्रमुख ने कहा कि कंपनी ने अपने सभी कारखानों में काम बढ़ा दिया था. देश में हेल्दी ईटिंग के बढ़ते चलन के बावजूद मैगी की लोकप्रियता कम नहीं हो रही.

बिस्किट भी हुए पॉपुलर
न केवल मैगी बल्कि खाने-पीने की अन्य सुविधाजनक वस्तुओं जैसे ​बिस्किट आदि की भी लॉकडाउन के दौरान रिकॉर्ड बिक्री हुई है. पारले प्रोडक्ट ने भी हाल में कहा कि उसकी बाजार हिस्सेदारी 5 फीसदी बढ़ गई है. यही नहीं, ब्रिटानिया का गुड डे, टाइगर, बोरबन, मारी, मिल्क बिकीज और पारले का मोनको, हाइड ऐंड सीक, क्रैकजैक जैसे ब्रांड की बिक्री भी जमकर हुई है. पारले-जी की बिक्री तो पिछले आठ दशकों में सबसे ज्यादा रही है.

ये भी पढ़ें:- SBI ने किया करोड़ों ग्राहकों को अलर्ट! नए तरीके से पैसे चोरी होने की दी जानकारी
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज