लाइव टीवी

Ola और Uber से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर, जरूरी है इन 5 नियमों का पालन करना

Ravishankar Singh | News18Hindi
Updated: May 21, 2020, 10:55 AM IST
Ola और Uber से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर, जरूरी है इन 5 नियमों का पालन करना
Ola और Uber से सफर करने वालों के लिए बड़ी खबर

Ola ने बुधवार से 160 और UBER ने 49 शहरों में सेवाएं शुरू की हैं. दोनों ही कंपनियां ऑनलाइन माध्यम से सेवाएं देती हैं. केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के चौथे चरण में टैक्सी सेवाएं कुछ शर्तों के साथ चालू करने का निर्णय लिया था.

  • Share this:
नई दिल्ली. देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) संकट के बीच टैक्सी सेवाएं (Taxi Services) उपलब्ध कराने वाली कंपनी ओला (Ola) और उबर (Uber) ने कुछ शर्तों के साथ अपनी सेवाएं शुरू कर दी हैं. Ola ने बुधवार से 160 और UBER ने 49 शहरों में सेवाएं शुरू की हैं. दोनों ही कंपनियां ऑनलाइन माध्यम से सेवाएं देती हैं. केंद्र सरकार ने लॉकडाउन के चौथे चरण में टैक्सी सेवाएं कुछ शर्तों के साथ चालू करने का निर्णय लिया था. हालांकि, टेक्सी सेवाओं को लेकर अंतिम निर्णय अभी भी राज्य सरकारों को ही लेने हैं. उबर इंडिया और ओला दोनों ने इसके लिए दिशा-निर्देश जारी किए हैं. इसके तहत पूल सेवा पर फिलहाल प्रतिबंध है. एक समय में अधिकतम दो ही यात्री सवारी कर सकेंगे.

ड्राइवरों के लिए बनाए गए नियमों के अनुसार-

(1) किसी कंटेनमेंट जोन में कैब नहीं जाएगी.
(2) साथ ही सभी ड्राइवरों के लिए राइड के दौरान मास्क पहना अनिवार्य है



(3) अपनी यात्रा शुरू करने से पहले सेल्फी खींचकर ऐप के जरिए ओला APP पर डालनी होगी.


(4) ड्राइवरों को राइड के दौरान अपने पास मास्क और सैनिटाइजर रखने होंगे. हर राइड के बाद ड्राइवर को कार के कॉमन एरिया जैसे कि हैंडल सीट जैसी जगहों को सैनिटाइज करना जरूरी होगा.
(5) ओला के नियम के अनुसार इवर और यात्री दोनों के पास यह विकल्प होगा कि दोनों में से किसी ने मास्क नहीं पहना है तो यात्रा रद्द की जा सकती है.

यात्रियों के लिए बनाए 5 नियम-
(1) यात्रियों के लिए भी कुछ नियम बनाए हैं, जिसके अनुसार यात्रा के दौरान हर यात्री को मास्क पहनना अनिवार्य होगा.

(2) साथ ही यात्रा शुरू होने से पहले सैनिटाइज करना भी जरूरी होगा.

(3) हर यात्रा के दौरान कार का एसी बंद रहेगा और खिड़कियां खुली रहेंगी. ताकि हवा के रिसर्कुलेशन से बचा जा सकेगा.

(4) यात्रा में 2 यात्रियों से ज्यादा की इजाजत नहीं होगी और दोनों यात्रियों को पिछली सीट पर खिड़की की तरफ ही बैठना होगा.

(5) इसके अलावा सोशल डिस्टेंसिंग के तहत समान चढ़ाने और उतारने का काम यात्री को खुद करना होगा.साथ ही ड्राइवर और यात्रियों में कम से कम संपर्क हो इसके कैशलेस पेमेंट जरूरी की जाए.

25 मार्च से बंद थी सेवाएं
बता दें के ओला और उबर ने 25 मार्च को लॉकडाउन लागू करने के बाद से अपनी सेवाओं को स्थगित कर दिया था. हालांकि, अब लॉकडाउन में आंशिक छूट के बाद ओला ने देश के करीब 160 शहरों में अपनी सर्विस को दोबारा शुरू कर दी है. सभी कैब ड्राइवर को मास्क पहनना और हैंड सैनिटाइजर रखना जरुरी किया गया है. कोई भी राइड शुरु करने से पहले चालक को मास्क पहन कर एप्प पर अपनी सेल्फी अपलोड करनी होगी, लेकिन अभी तक ये क्लीयर नहीं किया गया है कि इस सेल्फी में सवारी या कस्टमर के मास्क का फोटो भी आएगा?

Ola और UBER सोशल डिस्टेंसिंग को कैसे अमल में लाएगी? 

लॉकडाउन के दौरान ओला और उबर किस तरह से सोशल डिस्टेंसिंग को अमल में लाएगी और इसके लिए क्या-क्या कदम उठाए हैं. इसी बात को समझने के लिए जब न्यूज 18 हिंदी ने ओला से संपर्क किया तो पब्लिक रिलेशन डिपार्टमेंट ने ईमेल या व्हाटसएप पर प्रश्न भेजने को कहा. मंगलवार शाम 7 बजे ओला ने फोन कर कन्फर्म किया कि वह फिलहाल इन प्रश्नों का जवाब नहीं भेज सकता.

क्या कहना है ओला और उबर का

इसी तरह उबर इंडिया के एक बड़े अधिकारी के मुताबिक, 'हमने कोरोना महामारी को ध्यान में रखते हुए उन्नत तरीके का एक साॉफ्टवेयर विकसित किया है. यह सॉफ्टवेयर पहले की तुलना में ज्यादा एडवांस है. कोरोना को लेकर यूरोपियन कंट्री में जो सावधानी बरती जा रही है वही सारे टुल्स इस सॉफ्टवेयर में भी दिए गए हैं. हम इंडिया में भी एडवांस टेक्नोलॉजी के साथ उबर एप शुरू कर दिए हैं.'

उबर के ग्लोबल सीनियर डायरेक्टर (उत्पाद प्रबंधन) सचिन कंसल न्यूज 18 हिंदी को बताया, 'पिछले दो महीनों में हमारी वैश्विक तकनीक टीम और सेफ्टी टीम ने कड़ी मेहनत से यह ऐप तैयार की है. राइडर्स और ड्राइवरों के लिए एक नया उत्पाद बनाने के लिए कठिन मेहनत किया गया है. भारत ने अपने लॉकडाउन को आसान बना दिया है. अब यह महत्वपूर्ण है कि हम सभी आवश्यक सावधानी बरतें और अपने आप को सुरक्षित रखने में मदद करें और अगली यात्रा को सुरक्षित बनाएं. इन नई सुविधाओं और नीतियों को वैश्विक स्तर पर अमल में लाया जा रहा है. हम सभी के लिए एक सुरक्षित उत्पाद अनुभव सुनिश्चित करने के लिए आवश्यकतानुसार उन्हें बढ़ाते और संशोधित करते रहेंगे.'

ऐप में हुए हैं कई बदलाव
बता दें कि उबर ने 20 तारीख से सवारी और ड्राइवरों को ऐप में कई बदलाव किए हैं. गो ऑनलाइन चैकलिस्ट पर जा कर ड्राइवर सुरक्षा के उपाए अपनाए हैं कि नहीं. फेस मास्क पहना है कि नहीं. इनको वेरिफाई कर सकते हैं. इस तरह की कई चैकलिस्ट राइडर्स के लिए बनाई गई हैं. हर ट्रिप से पहले राइडर्स को पुष्टि करनी होगी कि उन्होंने जरूरी एहतियात बरते हैं या नहीं. मास्क वैरिफिकेशन, सभी के लिए जवाबदेही, अपडेटेड कैंसिलेशन पॉलिसी, नई सीट लिमिट और राइडशेयर स्वास्थ्य सुरक्षा पर विशेष ध्यान दिया गया है.'

ये भी पढ़ें-UP के बाद दिल्ली में कांग्रेस ने केजरीवाल सरकार से मांगी 300 बसें चलाने की अनुमति

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: May 21, 2020, 10:04 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading