लाइव टीवी

लोकसभा चुनाव की वजह से मझधार में अटके मोदी सरकार के ये अहम फैसले

News18Hindi
Updated: March 12, 2019, 9:21 AM IST

चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही ऐसे कई अहम फैसले अब सरकार नहीं ले पाएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2019, 9:21 AM IST
  • Share this:
छोटे कारोबारियों के लिए राहत पैकेज हो या फिर ज्वैलर्स के लिए गोल्ड पॉलिसी. अब इनके लागू होने के लिए नई सरकार के आने तक इंतजार करना होगा. क्योंकि चुनाव की तारीखों के ऐलान के साथ ही ऐसे कई अहम फैसले अब सरकार नहीं ले पाएगी. आइए जानते हैं ऐसे कौन-कौन से फैसले हैं जिसके लिए आपको लंबा इंतजार करना पड़ेगा... (ये भी पढ़ें: 2019 में दोबारा बनी मोदी सरकार तो 47 हजार तक जा सकता है सेंसेक्स- रिपोर्ट)

छोटे कारोबारी आस लगाए बैठे थे कि मुफ्त दुर्घटना बीमा समेत विशेष राहत पैकेज की घोषणा हो जाएगी. प्रस्ताव पर कारोबारियों और सरकार के बीच चर्चा भी हो चुकी थी. प्रस्ताव कैबिनेट की मंजूरी के लिए तैयार था. लेकिन अब चुनाव आचार संहिता लागू हो चुकी है. इसी तरह वित्त मंत्री ने बजट भाषण में गोल्ड पॉलिसी लाने का वादा किया था.

गोल्ड पॉलिसी के तहत ज्वैलरी सेक्टर को संगठित उद्योग के तौर पर विकसित करने योजना है. कई बार चर्चाओं का दौर चला. कैबिनेट के लिए मसौदा भी तैयार हो गया. लेकिन अब नई सरकार के बाद ही इस पर बात बढ़ पाएगी. इतना ही नहीं लेबर रिफॉर्म के लिए इंडस्ट्रियल कोड सरकार ने तैयार कर लिया है. लेकिन अब ये अटक गया.

ये भी पढ़ें: नई सौगात की तैयारी में EPFO, नौकरी बदलने पर खुद नए अकाउंट में ट्रांसफर हो जाएगा PF का पैसा

अलग-अलग इंडस्ट्री के विकास के लिए इंडस्ट्रियल पॉलिसी का मसौदा भी तैयार था. पुरानी गाड़ियों को बेचने पर रियायत देने वाली स्क्रैपेज पॉलिसी पर भी कई दौर की चर्चा हो चुकी है. लेकिन अब ये सब नई सरकार के आने पर ही आगे बढ़ पाएगी.

सिर्फ ये पॉलिसी ही नहीं बल्कि ऐसे फैसले जिसके अमल से राजनितिक तौर पर नुकसान हो सकता है, वो भी फिलहाल ठंडे बस्ते में ही समझिए. जैसे सरकारी कंपनियों के बंद करने, टैक्स की वसूली के लिए बड़े पैमाने पर छापेमारी. जैसे रास्तों पर सरकार अब काफी धीमी रफ्तार से चलेगी.

ये भी पढ़ें: गाड़ी और सोना खरीदना हो सकता है सस्ता, टैक्स नियमों में होने वाला है बदलाव
Loading...

लटक गए ये अहम फैसले-
>> छोटे कारोबारियों का राहत पैकेज
>> मुफ्त बीमा, वित्तीय सहायता की थी उम्मीद
>> गोल्ड पॉलिसी तैयार, मंजूरी नहीं मिल पाई
>> लेबर रिफॉर्म के लिए इंडस्ट्रियल कोड ठंडे बस्ते में
>> इंडस्ट्रियल पॉलिसी का मसौदा भी तैयार
>> पुरानी गाड़ियों के लिए स्क्रैपेज पॉलिसी

(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक-पॉलिसी एडिटर, CNBC आवाज़)

ये भी पढ़ें: Election 2019: चुनाव के दौरान होगी बंपर कमाई, यहां लगाएं पैसा

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 12, 2019, 9:10 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...