2019 में फिर बनी मजबूत सरकार तो 47 हजार तक जा सकता है सेंसेक्स- रिपोर्ट

ग्लोबल ब्रोकरेज मॉर्गन स्टैनली ने अपनी रिपोर्ट में इस साल के अंत तक सेंसेक्स के 42,000 तक पहुंचने की उम्मीद जताई है. तेजी में उम्मीद है कि दिसंबर 2019 तक सेंसेक्स 47,000 का स्तर भी पार कर सकता है.
ग्लोबल ब्रोकरेज मॉर्गन स्टैनली ने अपनी रिपोर्ट में इस साल के अंत तक सेंसेक्स के 42,000 तक पहुंचने की उम्मीद जताई है. तेजी में उम्मीद है कि दिसंबर 2019 तक सेंसेक्स 47,000 का स्तर भी पार कर सकता है.

ग्लोबल ब्रोकरेज मॉर्गन स्टैनली ने अपनी रिपोर्ट में इस साल के अंत तक सेंसेक्स के 42,000 तक पहुंचने की उम्मीद जताई है. तेजी में उम्मीद है कि दिसंबर 2019 तक सेंसेक्स 47,000 का स्तर भी पार कर सकता है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 12, 2019, 6:47 PM IST
  • Share this:
ग्लोबल ब्रोकरेज मॉर्गन स्टेनली ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि केंद्र में मजबूत सरकार की वापसी की संभावना बनी है, जिसका असर भारतीय शेयर बाजार पर दिखेगा. रिपोर्ट के मुताबिक, चुनावी अनिश्चितता, भारत और अमेरिका के बीच होने वाले संभावित ट्रेड वॉर और पाकिस्तान के साथ बढ़ते तनाव से भारत का शेयर बाजार अपनी मजबूत बुनियाद के दम पर आगे बढ़ता रहेगा. लोकसभा चुनाव की तारीखों की घोषणा के बाद सोमवार को शेयर बाजार में जोरदार तेजी दर्ज की गई. सेंसेक्स में जहां 300 अंकों से ज्यादा का उछाल आया, वहीं निफ्टी 11 हजार के स्तर को पार कर गया. (ये भी पढ़ें: Election 2019: चुनाव के दौरान होगी बंपर कमाई, यहां लगाएं पैसा)

ग्लोबल ब्रोकरेज मॉर्गन स्टैनली ने अपनी रिपोर्ट में इस साल के अंत तक सेंसेक्स के 42,000 तक पहुंचने की उम्मीद जताई है. तेजी में उम्मीद है कि दिसंबर 2019 तक सेंसेक्स 47,000 का स्तर भी पार कर सकता है. कमजोरी आने पर वे सेंसेक्स के 33,000 तक फिसलने का अनुमान लगा रहे हैं. ऐसा तभी होगा जब चुनावों के नतीजों में किसी गठबंधन को स्पष्ट बहुमत नहीं मिलेगा.

मॉर्गन स्टेनली ने अपनी रिपोर्ट में कहा है कि तेल की बढ़ती कीमतों और इस साल के मई महीने में होने वाले आम चुनाव को लेकर जारी अनिश्चितता की वजह से बाजार में गिरावट आई. रिपोर्ट में कहा गया है, इस साल भारत के बुरे प्रदर्शन की वजह तेल की कीमतें बढ़ रही हैं और राजनीतिक अनिश्चितता है.



ये भी पढ़ें: देश के सबसे बड़े निवेशक का दावा, 2019 में फिर बनेगी मोदी सरकार!
हालांकि, ग्लोबल ब्रोकरेज ने कहा है कि भारतीय शेयर बाजार की बुनियाद बेहद मजबूत है और यह बता रहा है कि आने वाले दिनों में इसमें मजबूती आएगी, क्योंकि बाजार का वैल्यूएशन मध्यम स्तर पर पहुंच चुका है

मॉर्गन स्टेनली ने तीन तरह के अनुमान लगाए-

बेस केस- दिसंबर 2019 तक सेंसेक्स 42,000 तक जा सकता है. इसकी संभावना 50 फीसदी है. 2019 में साल-दर-साल आधार अर्निंग ग्रोथ 21 फीसदी और 2020 में 24 फीसदी रहने का अनुमान है.

ये भी पढ़ें: Lok Sabha Election 2019: चुनावी खर्चे में US को पीछे छोड़ नंबर-1 बन जाएगा भारत

बुल केस- अगर बाजार में बुल रन की शुरुआत हुई, तो बाजार साल के अंत तक 47,000 के स्तर को छू सकता है. इसकी संभावना 30 फीसदी है. हालांकि, यह मजबूत चुनावी नतीजे और एक पार्टी को बहुमत मिलने की स्थिति होगी. 2019 में साल-दर-साल आधार अर्निंग ग्रोथ 29 फीसदी और 2020 में 26 फीसदी रहने का अनुमान.

ये भी पढ़ें: इन 127 तरह के काम करने वालों को मिलेगी हर महीने 3000 रुपये पेंशन, यहां देखें पूरी लिस्ट

बियर केस- वहीं बियर रन के मामले में बाजार 33,000 तक जा सकता है. इसकी संभावना 20 फीसदी है. हालांकि, यह तभी संभव होगा जब वैश्विक स्थितियां खराब होंगी और चुनावी नतीजे ठीक नहीं होंगे. 2019 में साल-दर-साल आधार पर अर्निंग ग्रोथ 16 फीसदी और 2020 में 22 फीसदी रहने का अनुमान जताया.

ये भी पढ़े: वोटर लिस्ट में आपका नाम है या नहीं? चेक करने के लिए डायल करें 1950, ये है पूरा प्रोसेस

एक क्लिक और खबरें खुद चलकर आएंगी आपके पाससब्सक्राइब करें न्यूज़18 हिंदी  WhatsApp अपडेट्स
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज