LPG Gas Subsidy Status: क्या आपके अकाउंट में आ रही है गैस सब्सिडी, ऐसे आसानी से करें पता

सब्सिडी न मिलने का बड़ा कारण एलपीजी आईडी का अकाउंट नंबर से न जुड़ना होता है.

सब्सिडी न मिलने का बड़ा कारण एलपीजी आईडी का अकाउंट नंबर से न जुड़ना होता है.

LPG Gas Subsidy: अगर आपने एलपीजी आईडी को अभी तक अपने अकाउंट से लिंक नहीं किया है तो आप डिस्ट्रीब्यूटर के पास जाकर यह करा सकते हैं.

  • Share this:
नई दिल्ली. हाल ही में एक बार फिर से एलपीजी गैस सिलेंडर (LPG Cylinder) की कीमत में उछाल आया है. एलपीजी सिलेंडर की कीमतों में 1 मार्च को फिर से 25 रुपये की बढ़ोतरी की गई. पिछले कुछ सालों से भारत सरकार ने गैस सिलेंडर में मिलने वाली सब्सिडी को सीधे बैंक खातों में देना शुरू कर दिया है. लेकिन ज्यादातर लोग सिलेंडर की सब्सिडी खाते में आने को लेकर कन्फ्यूज रहते हैं क्योंकि उन्हें पता ही नहीं रहता कि सब्सिडी आ रही है कि नहीं. बहरहाल आपको ज्यादा चिंता करने की जरूरत नहीं है क्योंकि हम आपको एक ऐसा तरीका बताने जा रहे हैं जिसके जरिए आप आसानी से पता लगा सकते हैं कि आपके अकाउंट में गैस सिलेंडर की सब्सिडी आ रही है कि नहीं,

www.mylpg.in वेबसाइट लॉग इन करें
इसके लिए अपने मोबाइल के ब्राउजर में www.mylpg.in वेबसाइट लॉग इन करें. इसमें टॉप दाईं ओर गैस कंपनियों के नामों में से अपनी सर्विस प्रोवाइडर कंपनी का नाम सिलेक्ट करें. इसके बाद आपसे एलपीजी आईडी मांगी जाएगी. इसे भरने के बाद अपना रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर और मौजूदा वित्त वर्ष सिलेक्ट करें. इस तरह से आपकी सब्सिडी का सारा डिटेल आपके सामने होगा.

ये भी पढ़ें- DDA Housing Scheme: सच होगा सस्ते घर का सपना, डीडीए इस दिन निकलेगा ड्रॉ, यहां देखें लाइव स्ट्रीमिंग
इस डिटेल में हर महीने में आपके अकाउंट में भेजी गई सब्सिडी की रकम का ब्यौरा होगा. साथ ही अगर आपके अकाउंट में सब्सिडी की रकम नहीं आ रही तो आप तुरंत फीडबैक (सुझाव) वाले बटन पर क्लिक करके अपनी शिकायत भी दर्ज कर सकते हैं.



ये भी पढ़ें- महंगे LPG Cylinder से मिलेगी राहत! ऐसे बुक करें और पाएं 50 रुपये की छूट, आईओसी ने बताया तरीका

सब्सिडी न मिलने का बड़ा कारण 
सब्सिडी न मिलने का बड़ा कारण एलपीजी आईडी का अकाउंट नंबर से न जुड़ना होता है. इसके लिए आप अपने नजदीकी डिस्ट्रिब्यूटर से संपर्क करें और अपनी समस्या से उसे वाकिफ कराएं. वहीं टोल फ्री नंबर 18002333555 पर कॉल करके भी आप अपनी शिकायत दर्ज करवा सकते हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज