लाइव टीवी

LPG रसोई गैस सिलेंडर की किल्लत को लेकर IOC का बयान, ग्राहकों के लिए उठाए बड़े कदम

News18Hindi
Updated: March 25, 2020, 7:22 PM IST
LPG रसोई गैस सिलेंडर की किल्लत को लेकर IOC का बयान, ग्राहकों के लिए उठाए बड़े कदम
रसोई गैस सिलेंडर की किल्लत पर IOC ने दिया बड़ा बयान

IOC ने कहा कि परेशान होने की जरूरत नहीं है. कंपनी लॉकडाउन की स्थिति में भी सभी को सिलेंडर उपलब्ध कराएगी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2020, 7:22 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. देश की सबसे बड़ी एलपीजी गैस डिस्ट्रीब्यूशन कंपनी इंडियन ऑयल (IOC) ने कहा कि परेशान होने की जरूरत नहीं है. कंपनी लॉकडाउन की स्थिति में भी सबको सिलेंडर उपलब्ध कराएगी. दरअसल पिछले 3-4 दिनों में नॉर्थ ईस्ट के साथ-साथ देश के कई इलाकों में कोरोना वायरस की वजह से लॉकडाउन होने की खबरों के चलते LPG रसोई गैस सिलेंडर की खरीदारी तेजी से बढ़ गई.

कोरोना वायरस (Corona Virus) के चलते पूरे देश में 21 दिन का लॉकडाउन (Lockdown) कर दिया गया है इस दौरान लोगों को रसोई गैस (kitchen Gas) की कोई परेशानी न हो इसीलिए आईओसी की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि कंपनी तेजी से प्रोडक्शन बढ़ा रही है.

ये भी पढ़ें-सरकार की व्यापारियों को चेतावनी मुनाफाखोरी की तो होगी सख्त कार्रवाई

अगले कुछ दिनों में इसका असर दिखने लगेगा. इसके साथ ही गैस की ऑनलाइन बुकिंग (Online Booking) के जरिए ग्राहकों (Customers) को उनके दरवाजे पर ही गैस डिलीवरी (Gas Delivery) की जाएगी. साथ ही जिन लोगों के पास कनेक्शन (Connection) नहीं है उन्हें 5 किलो का एफटीएल सिलेंडर (FTL Cylinder) उपलब्ध कराया जाएगा.



कहां से खरीद सकते हैं सिलेंडर- IOC ने ट्वीट कर बताया है कि ग्राहक अपने शहर में इंडेन के किसी भी डिस्ट्रीब्यूटर या प्वाइंट ऑफ सेल पर जाकर 5 किलो का रसोई गैस सिलेंडर खरीद सकते हैं. वो भी ऑन द स्पॉट.

एड्रेस प्रूफ की जरूरत नहीं- कंपनी के मुताबिक, 5 किलो का रसोई गैस सिलेंडर खरीदने के लिए किसी एड्रेस प्रूफ की जरूरत नहीं है. पैसे दें, गैस ले जाएं.

कहां कराएं रिफिल- कंपनी के अनुसार, ग्राहक इंडेन के किसी भी सेलिंग प्वाइंट पर 5 किलो का रसोई गैस सिलेंडर रिफिल करा सकते हैं. यह सिलेंडर BIS प्रमाणित सिलेंडर है, जिससे सुरक्षा और बढ़ जाती है.

ये भी पढ़ें :-

OLA ने ड्राईवर को दी राहत! ड्राइवरों के बचेंगे 31500 रु, जानें क्या है पैकेज?
एविएशन सेक्टर में नौकरी बचाने के लिए सरकार दे सकती है 12 हजार करोड़ रुपये!
लॉकडाउन से भारत को हो सकता है 9 लाख करोड़ रुपये का नुकसान!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: March 25, 2020, 6:28 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर

भारत

  • एक्टिव केस

    5,218

     
  • कुल केस

    5,865

     
  • ठीक हुए

    477

     
  • मृत्यु

    169

     
स्रोत: स्वास्थ्य मंत्रालय, भारत सरकार
अपडेटेड: April 09 (05:00 PM)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर

दुनिया

  • एक्टिव केस

    1,151,000

     
  • कुल केस

    1,603,115

    +42
  • ठीक हुए

    356,422

     
  • मृत्यु

    95,693

    +1
स्रोत: जॉन हॉपकिंस यूनिवर्सिटी, U.S. (www.jhu.edu)
हॉस्पिटल & टेस्टिंग सेंटर