अपना शहर चुनें

States

BSE पर लिस्ट हुआ लखनऊ नगर निगम बॉन्ड, जानिए निवेश पर कितना मिलेगा फायदा

BSE पर लिस्ट हुआ लखनऊ नगर निगम बॉन्ड
BSE पर लिस्ट हुआ लखनऊ नगर निगम बॉन्ड

लखनऊ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (LMC) बॉन्ड की लिस्टिंग आज बीएसई पर हो गई है. बॉन्ड की लिस्टिंग के मौके पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे. बता दें इस बॉन्ड के जरिए 200 करोड़ रुपए जुटाए गए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 2, 2020, 1:54 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली: लखनऊ म्युनिसिपल कॉरपोरेशन (LMC) बॉन्ड की लिस्टिंग आज बीएसई पर हो गई है. बॉन्ड की लिस्टिंग के मौके पर यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ मौजूद रहे. बता दें इस बॉन्ड के जरिए 200 करोड़ रुपए जुटाए गए हैं. बीएसई (BSE) प्लेटफॉर्म पर यह अब तक का 8वां सबसे शानदार लिस्टिंग वाला नगर निगम बॉन्ड (Lucknow Municipal Corporation Bonds) है. लखनऊ नगर निगम को 21 बोलियां प्राप्त हुई थीं और ये 4.5 गुना सब्सक्राइब हुआ है. आइए आपको बताते हैं कि इस बॉन्ड में निवेश करने का क्या फायदा है-

आपको बता दें इसे 13 नवंबर 2020 को खोला गया था. राज्य सरकार ने लखनऊ समेत 8 शहरों में अमृत (AMRUT) और स्मार्ट सिटी मिशन जैसी योजनाओं में इस्तेमाल के लिए जुटाएं हैं.

यह भी पढ़ें: खुशखबरी! नवंबर में घटी बेरोजगारी दर, 2018 के बाद पहली बार निचले स्तर पर



जानिए बॉन्ड के बारे में जरूरी बातें-
>> आपको बता दें इस बॉन्ड की मेच्योरिटी करीब 10 साल की है.
>> इसमें निवेश करने पर निवेशकों को 8.5 फीसदी सालाना ब्याज मिलेगा.
>> बीएसई बॉन्ड प्लेटफॉर्म पर नगर निगम को 450 करोड़ के लिए 21 बिड मिली जो इश्यू साइज की 4.5 गुना है.
>> यह प्लेटफॉर्म पर अबतक का 8वां सबसे सफल नगर निगम बॉन्ड है.
>> आपको बता दें ये बॉन्ड टैक्सेबल हैं.

कैसी मिली रेटिंग?
आपको बता दें लखनऊ नगर निगम बॉन्ड को रेटिंग एजेंसियों ने अच्छी रेटिंग दी है. इंडिया रेंटिंग्स ने इस बॉन्ड के लिए ‘AA’ रेटिंग दी है. वहीं ब्रिकवर्क ने इसे ‘AA (CE)’ रेटिंग दी है. बता दें इस बॉन्ड के जरिए निवेश जुटाने में भी मदद मिलेगी.

अब तक जारी हो चुके हैं 11 ऐसे बॉन्ड
आपको बता दें अब तक इस तरह के कुल 11 बॉन्ड जारी किए जा चुके हैं, जिसके जरिए 3690 करोड़ रुपए जुटाए हैं. अब इसके पहले अमरावती (2000 करोड़ रुपए), विशाखापत्तनम (80 करोड़ रुपए), अहमदाबाद (200 करोड़ रुपए), सूरत (200 करोड़ रुपए), भोपाल (175 करोड़ रुपए), इंदौर (140 करोड़ रुपए), पुणे (495 करोड़ रुपए), हैदराबाद (200 करोड़ रुपए) नगर निगम बॉन्ड हैं.

क्या होते हैं बॉन्ड?
बॉन्ड एक साख पत्र होता है, जिसके जरिए आम जनता या संस्थाओं से धन जुटाए जाते हैं. इसमें बॉन्ड जारी करने वाली संस्था एक निश्चित समय के लिए रकम उधार लेती है और निश्चित रिटर्न यानी ब्याज देने के साथ मूलधन वापस करने की गारंटी देती है. यह नि​वेशकों के लिए निश्चित आय का एक निवेश साधन होता है. यह एक तरह से कर्ज लेने वाले और देने वाले के बीच समझौता होता है.

यह भी पढ़ें: हवाई यात्रा करने वालों के लिए खुशखबरी, Spicejet शुरू कर रहा 20 नई उड़ानें, चेक करें रूट्स

क्या होता है म्युनिसिपल बॉन्ड?
आपको बता दें म्युनिसिपल या नगर निगम बॉन्ड शहरी स्थानीय निकायों द्वारा जारी किये जाते हैं. शहर में विकास कामों को जारी रखने के लिए धन की जरूरत इससे पूरी की जाती है. मार्केट रेगुलेटर सेबी के अनुसार सिर्फ वही नगर निगम ऐसे बॉन्ड जारी कर सकते हैं, जिनका नेटवर्थ लगातार 3 वित्त वर्ष तक निगेटिव न रहा हो. पिछले एक साल में उन्होंने कोई लोन डिफाल्ट न किया हो.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज