मैक्रोटेक डेवलपर्स ने 1,500 करोड़ रुपये की रियल्टी परियोजनाओं के लिये दो संयुक्त उद्यम बनाये

मैक्रोटेक डेवलपर्स (Macrotech Developers)

मैक्रोटेक डेवलपर्स (Macrotech Developers)

जमीन जायदाद के विकास से जुड़ी कंपनी मैक्रोटेक डेवलपर्स (Macrotech Developers) ने मुंबई और पुणे में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिये पहल की है. कंपनी ने इन दोनों शहरों में 1,500 करोड़ रुपये के बिक्री मूल्य की परियोजनाएं तैयार करने के लिये दो संयुक्त उद्यम बनाये हैं.

  • Share this:

नई दिल्ली. जमीन जायदाद के विकास से जुड़ी कंपनी मैक्रोटेक डेवलपर्स (Macrotech Developers) ने मुंबई और पुणे में अपनी स्थिति मजबूत करने के लिये पहल की है. कंपनी ने इन दोनों शहरों में 1,500 करोड़ रुपये के बिक्री मूल्य की परियोजनाएं तैयार करने के लिये दो संयुक्त उद्यम बनाये हैं. साथ ही कंपनी कारोबार बढ़ाने के लिये इस प्रकार की और भागीदारी पर विचार कर रही है.

पूर्व में लोढ़ा डेवलपर्स कहलाने वाली मुंबई की मैक्रोटेक डेवलपर्स 2,500 करोड़ रुपये के सफल आरंभिक सार्वजनिक निर्गम (आईपीओ) पेश करने के बाद पिछले महीने शेयर बाजार में सूचीबद्ध हुई. कंपनी के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी अभिषेक लोढ़ा ने ‘पीटीआई भाषा’ से बातचीत में कहा कि कंपनी ने मुंबई महानगर क्षेत्र (एमएमआर) और पुणे में दो रियल एस्टेट कंपनियों के साथ दो संयुक्त विकास समझौते किये हैं.

ये भी पढ़ें: Petrol Price Today: पेट्रोल-डीजल की कीमत में आज नहीं हुआ कोई बदलाव, जानें आपके शहर में क्‍या है लेटेस्ट रेट?

उन्होंने कहा कि एमएमआर और पुणे में हमारे पास अच्छा खासा भूखंड है. हम अगले 2 3 साल में एमएमआर और पुणे पर ध्यान देना चाहते हैं. हमारे पास इन दोनों शहरों में भूखंड हैं. लेकिन यह स्थिति हर जगह नहीं है. हालांकि लोढ़ा ने उन दो कंपनियों के नाम नहीं बताये जिसके साथ संयुक्त उद्यम बनाये गये हैं. उन्होंने कहा कि कंपनी जमीन की खरीद तभी करेगी जब अच्छे अवसर होंगे.
कंपनी ने निवेशकों के समक्ष रखी गयी बातों में कहा कि उसने दो संयुक्त विकास समझौते (जेडीए) किये हैं. इसमें से एक पश्चिमी उपनगरीय क्षेत्र (मलाड) और दूसरा पुणे (एनआईएमबी) में है. मलाड में सकल विकास मूल्य लगभग 600 करोड़ रुपये जबकि पुणे में यह करीब 900 करोड़ रुपये का अनुमानित है.

लोढ़ा ने उम्मीद जतायी कि वह अगले 12 से 24 महीनों में संयुक्त रूप से परियोजनाओं के विकास के लिये और समझौते करेगी. मैक्रोटेक डेवलपर्स अगले तीन साल में शुद्ध रूप से कर्ज को शून्य पर लाने का लक्ष्य लेकर चल रही है जो अभी करीब 16,000 करोड़ रुपये है. हमारा 2023 24 तक कर्ज मुक्त होने का लक्ष्य है. कंपनी ने 2020 21 में 5,968 करोड़ रुपये मूल्य की संपत्तियां बेची जो इससे पूर्व वित्त वर्ष में 6,570 करोड़ रुपये थी.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज