Covid-19: दिल्ली सहित इन 4 राज्यों के यात्रियों की मुंबई में एंट्री पर रोक! सरकार ने जारी की गाइडलाइन

महाराष्ट्र सरकार ने हवाई यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है

देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस (coronavirus) के मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने हवाई यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है.

  • Share this:
    नई दिल्ली: देशभर में तेजी से बढ़ रहे कोरोना वायरस (coronavirus) के मामलों को देखते हुए महाराष्ट्र सरकार ने हवाई यात्रियों के लिए नई गाइडलाइन जारी कर दी है. बता दें पिछले कुछ दिनों से दिल्ली, गुजरात में कोरोना के केस काफी तेजी से बढ़े हैं, जिसको देखते हुए सरकार फैसले लेते हुए कहा कि 25 नवंबर से दिल्ली, गुजरात, गोवा और राजस्थान से मुंबई आने वाले हर शख्स का RT-PCR टेस्ट होगा. महाराष्ट्र सरकार ने कहा कि जिनके पास कोरोनावायरस संक्रमण की नेगेटिव रिपोर्ट होगी सिर्फ उन्हें ही आने की परमिशन दी जाएगी.

    72 घंटे पहले की जांच मानी जाएगी वैलिड
    कोरोना के केस पर रोक लगाने के लिए उद्धव ठाकरे सरकार की ओर से यह निर्देश सोमवार को जारी किया गया है. इस निर्देश के मुताबिक, इन चार राज्यों से आने वाले जिन लोगों के पास कोरोना जांच रिपोर्ट नहीं होगी, उनके यहां पहुंचने पर जांच कराई जाएगी. इस जांच का खर्च भी संबंधित यात्री से ही वसूला जाएगा. इसके अलावा विमान से आने वाले यात्रियों को 72 घंटे पहले और रेल यात्रियों को 96 घंटे पहले तक जांच कराने की छूट होगी.

    यह भी पढ़ें: इस गेहूं की खेती आपको बनाएगी मालामाल, एक ही सीजन में होगा बंपर मुनाफा, जानें कैसे...



    जानिए क्या है गाइडलाइंस
    >> दिल्ली-NCR, राजस्थान, गुजरात और गोवा से मुंबई के लिए फ्लाइट पकड़ने वाले लोगों के पास RT-PCR नेगेटिव टेस्ट रिपोर्ट होना चाहिए. ये रिपोर्ट होने पर ही यात्रियों को प्लेन में बैठने की इजाजत दी जाएगी.
    >> RT-PCR रिपोर्ट महाराष्ट्र में लैंड करने के 72 घंटों के भीतर का होना चाहिए.
    >> जिन यात्रियों के पास RT-PCR रिपोर्ट नहीं होगी उन्हें एयरपोर्ट पर अपने खर्चे से टेस्ट करना होगा.
    >> टेस्ट के बाद ही एयरपोर्ट ऑपरेटर पैसेंजर को घर जाने की इजाजत देंगे.
    >> सभी यात्रियों के घर का पता और फोन नंबर रखा जाएगा ताकि पॉजिटिव रिपोर्ट आने पर उन्हें ट्रेस किया जा सके.
    >> जिन यात्रियों की रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उनका इलाज मौजूदा प्रोटोकॉल के तहत होगा. ये इंतजाम कराने की जिम्मेदारी म्यूनसिपल कॉरपोरेशन की होगी.
    >> महाराष्ट्र में उतरने से 96 घंटे के भीतर टेस्ट कराना होगा.
    >> रेलवे स्टेशन पर सिम्टम और बुखार की जांच की जाएगी.
    >> जिन यात्रियों में कोई लक्षण नजर नहीं आएगा उन्हें घर जाने दिया जाएगा.
    >> जिनकी रिपोर्ट पॉजिटिव आएगी उन्हें कोविड केयर सेंटर पर भेजा जाएगा जिसका खर्च यात्रियों को खुद उठाना होगा.
    >> अगर आप अपनी गाड़ी से महाराष्ट्र में एंट्री करना चाहते हैं तो आपका तापमान चेक किया जाएगा.
    >> अगर आपमें कोई लक्षण नजर नहीं आएगा तो आपको जाने की इजाजत दे दी जाएगी.
    >> जिनमें लक्षण नजर आएगा उनका एंटीजन टेस्ट होगा.
    >> अगर नेगेटिव रिपोर्ट आती है तो उसे महाराष्ट्र में दाखिल होने दिया जाएगा.

    महाराष्ट्र के सीएम ने कहा कि अगर कोरोना की दूसरी लहर आई तो वह सुनामी की तरह होगी इसलिए सभी लोगों को अपनी सुरक्षा खुद करनी होगी. यही वजह है कि महाराष्ट्र सरकार संक्रमण पर रोक लगाने के लिए हर संभव प्रयास कर रही है. ठाकरे ने यह भी चेतावनी दी थी कि अगर लोग सुरक्षा उपायों का ध्यान नहीं रखते हैं तो उन्हें दोबारा लॉकडाउन लगाना होगा.

    यह भी पढ़ें: अब अपने घर की छत से कमाएं पैसा, कुछ ही महीनों में बनेंगे लखपति, अपनाएं ये ट्रिक!

    पिछले कुछ दिनों में तेजी से बढ़े कोरोना के मामले
    आपको बता दें दिल्ली सहित इन चारों राज्यों में कोरोना के केस बढ़े हैं. इसी को देखते हुए सरकार ने ये फैसला किया है. राष्ट्रीय राजधानी दिल्ली में कोरोनावयरस के संक्रमण में कमी नहीं दिखाई दे रही है. यहां एक दिन में रविवार को 6,746 नए मामले सामने आए और 121 मौतें हुईं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.