होम /न्यूज /व्यवसाय /जेल में बंद कैदियों को भी मिलेगा पर्सनल लोन, देश में पहली बार इस राज्य में शुरू हो रही योजना

जेल में बंद कैदियों को भी मिलेगा पर्सनल लोन, देश में पहली बार इस राज्य में शुरू हो रही योजना

देश में पहली बार कैदियों को पर्सनल लोन देने की योजना हो रही शुरू

देश में पहली बार कैदियों को पर्सनल लोन देने की योजना हो रही शुरू

इसके तहत कैदियों को 50,000 रुपये तक का पर्सनल लोन (Personal Loans) मिलेगा. राज्य सहकारी बैंक इस योजना में 7 प्रतिशत ब्य ...अधिक पढ़ें

नई दिल्लीः जेल में बंद किसी आरोपी या सजायाफ्ता को कोई बैंक लोन नहीं देता है. जेल में रहने की वजह से उन कैदियों के परिवार वालों को काफी मुश्किलों का सामना करना पड़ता है जिनकी आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं होती है. खासकर तब जब कैदी अपने परिवार में अकेला कमाने वाला होता है. आर्थिक तंगी से जूझ रहे ऐसे कैदी अब पर्सनल लोन सकेंगे, वो भी बिना किसी गारंटर के और कम ब्याज दर पर. भारत में ऐसा पहली बार हो रहा है.

यहां मिलेगा कैदियों को लोन

महाराष्‍ट्र की उद्धव ठाकरे सरकार ने जेल में बंद कैदियों को लोन देने का फैसला किया है. पुणे की यरवदा जेल में पायलट प्रोजेक्ट के रूप में इस योजना को शुरू किया जाएगा. इसके तहत कैदियों को 50,000 रुपये तक का पर्सनल लोन (Personal Loans) मिलेगा. महाराष्ट्र राज्य सहकारी बैंक इस योजना में 7 प्रतिशत ब्याज दर पर कैदियों लोन देंगे. जेल में किए गए काम के बदले उन्हें ये लोन मिलेगा. महाराष्ट्र सरकार का दावा है कि देश में ऐसा पहली बार हो रहा है जब जेल में बंद कैदियों को लोन की सुविधा दी जा रही है.

ये भी पढ़ें- भारत ने रूस का ये ऑफर मान लिया तो मिल सकता है सस्ता तेल, अमेरिकी प्रतिबंध भी होंगे बेअसर

गारंटर जरूरी नहीं होगा

कैदियों की आमदनी, रोजाना की मजदूरी, सजा अवधि, सजा से संभावित राहत, उम्र आदि के आधार सहकारी बैंक लोन देंगे. इस लोन के लिए किसी गारंटर की जरूरत नहीं पड़ेगी. सिर्फ पर्सनल गारंटी पर लोन दिया जाएगा.

ये भी पढ़ें- 7th Pay Commission: सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों का DA बढ़ाया, 31 से किया 34 फीसदी, जानिए बाकी डिटेल

मिली जानकारी के मुताबिक, पुणे की यरवदा जेल के करीब 1,055 कैदी शुरुआत में इस योजना का लाभ उठा सकेंगे. इनमें से कई कैदी लंबी सजा काट रहे हैं. इनमें से ज्यादातर कैदी अपने परिवार के प्रमुख कमाऊ सदस्य थे. जेल में आने के बाद उनका परिवार आर्थिक तंगी से गुजर रहा है. उन कैदियों को परिवार की जरूरतों को पूरा करने और अन्य कामों के लिए लोन मुहैया कराया जाएगा. लोन की राशि का इस्तेमाल ये कैदी वकील की फीस भरने में भी कर सकेंगे.

Tags: Auto and personal loan, Bank Loan, Loan, Maharashtra Government

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें