होम /न्यूज /व्यवसाय /

महारत्न कंपनी ने अपने शेयरों के स्प्लिट की रिकॉर्ड डेट फिक्स की, पढ़िए स्टॉक स्प्लिट की सारी डिटेल

महारत्न कंपनी ने अपने शेयरों के स्प्लिट की रिकॉर्ड डेट फिक्स की, पढ़िए स्टॉक स्प्लिट की सारी डिटेल

यह स्टॉक पिछले एक साल में  48 प्रतिशत से अधिक गिर चुका है.

यह स्टॉक पिछले एक साल में 48 प्रतिशत से अधिक गिर चुका है.

देश की महारत्न कंपनी सेल (SAIL, Steel Authority of India) ने स्टॉक स्प्लिट के लिए 13 जुलाई की रिकॉर्ड डेट फिक्स की है. कंपनी ने आज बीएसई को इस संबंध में सूचित किया. इसकी मार्केट कैप 28,087 करोड़ रुपए है.

मुंबई . देश की महारत्न कंपनी सेल (SAIL, Steel Authority of India) स्टॉक स्प्लिट करने जा रही है. सेल एक लार्ज कैप कंपनी है जो आयरन और स्टील इंडस्ट्री में काम करती है. इसकी मार्केट कैप 28,087 करोड़ रुपए है. देश के इस सबसे बड़े स्टील उत्पादक को महारत्न कंपनी का दर्जा प्राप्त है. कंपनी ने स्टॉक स्प्लिट के लिए 13 जुलाई की रिकॉर्ड डेट फिक्स की है. कंपनी ने आज बीएसई को इस संबंध में सूचित किया.

यह स्टॉक पिछले एक साल में  48 प्रतिशत से अधिक गिर चुका है.  पिछले 6 महीने में यह शेयर 37 फीसदी से ज्यादा टूट चुका है और पिछले महीने से 7 फीसदी. पिछले पांच कारोबारी सत्र में यह 3 फीसदी चढ़ चुका है. शुक्रवार को यह 68.15 रुपए पर क्लोज हुआ.

यह भी पढ़ें- शेयर मार्केट ट्रेडिंग टिप्स देने वाला ऑटो ड्राइवर, ‘5 मिनट में निकल जाने का…’ पढ़िए मजेदार बातचीत

हाई से आधा हुआ शेयर
लास्ट ट्रेड प्राइज के लिहाज से ये स्टॉक  20-day, 50-day, 100-day, and 200-day मूविंग एवरेज से नीचे चल रहा है. एनएसई पर इसका 52 सप्ताह का हाई 145.90 रुपए है. 30 जुलाई 2021 को इसने ये हाई लगाया था. 20 जून 2022 को इसने अपने 52 सप्ताह के लो को टच किया. यानी यह स्टॉक इस समय अपने हाई से 53.28 परसेंट नीचे ट्रेड कर रहा है.

शेयरों में स्प्लिट से आप पर क्या असर होगा
यदि कोई कंपनी अपने शेयरों को दो हिस्से में विभाजित करती है, तो शेयरधारकों को उसके पास मौजूद हर एक शेयर के लिए एक अतिरिक्त शेयर दिया जाता है. इससे शेयरधारक के पास पहले से मौजूद शेयरों की संख्या दोगुनी हो जाती है. निवेश के वैल्यू पर इससे कोई असर नहीं होता, क्योंकि दो हर एक शेयरों को दो शेयरों में स्प्लिट करने से हर एक शेयर का वैल्यू आधा हो जाता है.

यह भी पढ़ें- Market Update: अमेरिकी शेयर बाजारों में भी हफ्ते के आखिरी कारोबारी दिन जोरदार तेजी, मार्केट में सुधार के संकेत

कंपनी पर क्या असर होता है
शेयर स्प्लिट से कंपनी के शेयरों की संख्या बढ़ जाती है. लेकिन इससे कंपनी के मार्केट कैपिटलाइजेशन पर कोई असर नहीं होता है. स्टॉक स्प्लिट से कंपनी के शेयर अधिक लिक्विड हो जाते हैं. कई बार लोग स्टॉक स्प्लिट को बोनस शेयर को एक ही समझ बैठते हैं. लेकिन ये दोनों अलग-अलग चीजें हैं.

Tags: SAIL, Share market, Stock return, Stocks

विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर