• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • मालामाल शेयर: सालभर में यूं कमाएं 40% तक मुनाफा

मालामाल शेयर: सालभर में यूं कमाएं 40% तक मुनाफा

एक-दूसरे पर यकीन: पति-पत्‍नी को एक-दूसरे पर यकीन करना चाहिए. इससे न सिर्फ तरक्‍की करने में उन्‍हें मदद मिलेगी, बल्कि वे एक-दूसरे से काफी कुछ सीख भी सकेंगे.

एक-दूसरे पर यकीन: पति-पत्‍नी को एक-दूसरे पर यकीन करना चाहिए. इससे न सिर्फ तरक्‍की करने में उन्‍हें मदद मिलेगी, बल्कि वे एक-दूसरे से काफी कुछ सीख भी सकेंगे.

जॉएंड्रे कैपिटल सर्विसेस के अविनाश गोरक्षकर ने कोचीन शिपयार्ड के शेयर में खरीदारी की सलाह है. उनका मानना है कि 12-15 महीने की अवधि में शेयर 40 फीसदी का मुनाफा करा सकता है.

  • Share this:
    जॉएंड्रे कैपिटल सर्विसेस के अविनाश गोरक्षकर की कोचीन शिपयार्ड के शेयर में खरीदारी की सलाह है. इसमें लंबी अवधि के नजरिए से उन्होंने खरीदारी की सलाह दी है. उनका मानना है कि 12-15 महीने की अवधि में कोचीन शिपयार्ड के शेयर में 710 रुपये तक का भाव देखने को मिल सकता है. फिलहाल कोचीन शिपयार्ड का शेयर 505 रुपये के पास कारोबार कर रहा है. उनके मुताबिक, वित्त वर्ष 2020 तक कंपनी का मुनाफा सालाना 15-18 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है. लिहाजा शेयर में पैसा बनाने का अच्छा मौका है.

    शेयर का प्रदर्शन
    एक हफ्ता: 5 फीसदी बढ़ा
    तीन महीने: -5 फीसदी गिरा
    छह महीने: -11 फीसदी गिरा
    एक साल: -3 फीसदी गिरा

    क्यों खरीदें
    अविनाश गोरक्षकर ने बताया कि कोचीन शिपयार्ड डॉकयार्ड बनाने और जहाज की मरम्मत के कामकाज से जुड़ी कंपनी है. कोचीन शिपयार्ड के पास 2 डॉकयार्ड हैं. 2017 में कंपनी का आईपीओ आया था. डॉकयार्ड के मामले में कोचीन शिपयार्ड सबसे बड़ी कंपनी है. कंपनी नौसेना के जहाज रिपेयर करने का काम करती है.मालामाल शेयर

    वित्त वर्ष 2014-17 के दौरान कंपनी ने नौसेना के 15 जहाज रिपेयर किए हैं. कंपनी ने आईएनएस आदित्य, सुकन्या और शारदुल जहाज रिपेयर किए हैं. वित्त वर्ष 2020 तक कंपनी का मुनाफा सालाना 15-18 फीसदी बढ़ने की उम्मीद है. साथ ही एबिटडा मार्जिन भी बढ़ने की उम्मीद है.

    कंपनी का मुनाफा 2.2 गुना बढ़ा
    वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कोचीन शिपयार्ड का स्टैंडअलोन मुनाफा 2.2 गुना बढ़कर 142 करोड़ रुपये हो गया है. वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में कोचीन शिपयार्ड का स्टैंडअलोन मुनाफा 64 करोड़ रुपये रहा था.

    आमदनी 15 फीसदी बढ़ी
    वित्त वर्ष 2018 की चौथी तिमाही में कोचीन शिपयार्ड की स्टैंडअलोन आय 15 फीसदी बढ़कर 600 करोड़ रुपये पर पहुंच गई है. वित्त वर्ष 2017 की चौथी तिमाही में कोचीन शिपयार्ड की स्टैंडअलोन आय 522 करोड़ रुपये रही थी.

    VIDEO: इन 6 म्यूचुअल फंड SIP में पैसा लगाकर 3 साल में मिल सकते हैं 25 लाख रुपये



    कंपनी के मैजनेमेंट का क्या है कहना
    सीएनबीसी-आवाज़ से बातचीत में कोचीन शिपयार्ड के चेयरमैन और मैनेजिंग डायरेक्टर, मधु नायर ने बताया कि चौथी तिमाही में शिप रिपेयर सेगमेंट में काफी अच्छा प्रदर्शन देखने को मिला है. शिप बिल्डिंग सेगमेंट में भी प्रदर्शन बेहतर रहा है. कंपनी ने पिछले साल अक्टूबर में 970 करोड़ रुपये की लागत वाली इंटरनेशनल शिप रिपेयर फैसिलिटी का कंस्ट्रक्शन शुरू किया है. साथ ही कंपनी ने 800 करोड़ रुपये का एक और प्रोजेक्ट पर काम शुरू कर दिया है.

    ये भी पढ़ें
    मालामाल शेयर: सालभर में यूं कमाएं 25 फीसदी तक मुनाफा
    बस 500 रुपए बचाकर छात्र भी बन सकते हैं लखपति, जानें क्या है फार्मूला?

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज