इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की चेतावनी पर नहीं दिया ध्यान, तो इनके खाते से उड़ गए 1.50 लाख रु

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की चेतावनी पर नहीं दिया ध्यान, तो इनके खाते से उड़ गए 1.50 लाख रु
टैक्स रिफंड मैसेज पर क्लिक करने के बाद खाते से उड़ गए 1.5 लाख

इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) की चेतावनी पर ध्यान नहीं देना एक शख्स को भारी पड़ा गया और उसके बैंक अकाउंट (Bank Account) से 1.50 लाख रुपये उड़ गए.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 12, 2019, 6:52 PM IST
  • Share this:
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट (Income Tax Department) की चेतावनी पर ध्यान नहीं देना एक शख्स को भारी पड़ा गया और उसके बैंक अकाउंट (Bank Account) से 1.50 लाख रुपये उड़ गए. हाल ही में Income Tax Department ने देश के सभी टैक्सपेयर्स (Taxpayers) को अलर्ट किया था. IT डिपार्टमेंट का कहना था कि इनकम टैक्स रिफंड (Income Tax Refund) के फर्जी मैसेज के बहकावे में बिल्कुल भी नहीं आएं. इससे आपको चूना लग सकता है, और ऐसा ही हुआ मुंबई के रहने वाले इस शख्स के साथ. आइए जानते हैं क्या है मामला?

रिंफड मैसेज पर क्लिक करने के बाद उड़े 1.5 लाख रु
इंडिया टुडे की रिपोर्ट के मुताबिक, मुंबई के पवई में रहने वाले अरुप बनर्जी को उनके मोबाइल पर इनकम टैक्स रिफंड का एक मैसेज मिला. इस मैसेज पर क्लिक करने के बाद एक मोबाइल एप्लीकेशन उनके मोबाइल में ऑटोमैटिक डाउनलोड हो गया. मोबाइल एप्लीकेशन के डाउनलोड होने पर उनको संदेश हुआ तो उन्होंने इस मैसेज के साथ एप्लीकेशन को डिलीट कर दिया. लेकिन अगले दिन उनको मालूम चला कि उनके बैंक अकाउंट से 1.50 लाख रुपये निकल गए हैं. इसके बाद उन्होंने अपने बैंक से संपर्क किया और फिर उन्होंने पुलिस में रिपोर्ट दर्ज कराई.

IT डिपार्टमेंट ने दी बचने की सलाह
बता दें कि पिछले लंबे समय से कई लोगों को फ्रॉड करने वालों के मैसेज आ रहे हैं. जिसमें बैंक डिटेल समेत कई सीक्रेट जानकारियां मांगी गई है. इसलिए डिपार्टमेंट ने अपनी वेबसाइट पर सभी आईटीआर भरने वालों को इस तरह के फ्रॉड से बचने की सलाह दी है. ये भी पढ़ें: खुशखबरी! 10 बजे नहीं, अब इस समय खुलेंगे सभी सरकारी बैंक





इनकम टैक्स डिपार्टमेंट नहीं मांगता ये जानकारियां
इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के मुताबिक विभाग द्वारा कभी भी फोन, एसएमएस या ई-मेल के जरिये करदाताओं से डेबिट या क्रेडिट कार्ड के पिन, ओटीपी, पासवर्ड या ऐसी ही कोई जानकारी नहीं मांगी जाती है.

कैसे करें इसकी पहचान
>> इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कहा है कि फिशिंग ई-मेल की पहचान सावधानी से करें. इसके लिए इनकम टैक्स डिपार्टमेंट ने कुछ बातें बताई हैं.
>> जिस आईडी से मेल आया है, उसे ध्यान से देखें. उसमें या तो गलत स्पेलिंग होगी या इनकम टैक्स डिपार्टमेंट की वेबसाइट से मिलता-जुलता कोई दूसरा नाम होगा.

भूलकर भी न करें ये काम
>> ऐसे किसी मेल के साथ अचैटमेंट को न खोलें.
>> मेल में दिए गए किसी लिंक को क्लिक न करें.
>> अगर आप धोखे से किसी लिंक को क्लिक कर दें तो उसमें कहीं भी अपने बैंक अकाउंट, क्रेडिट कार्ड, डेबिट कार्ड आदि की निजी जानकारी इंटर न करें.

ये भी पढ़ें: इन चीजों के लिए भारत के भरोसे था पाकिस्तान, अब चुकाने पड़ेंगे 35% ज्यादा दाम
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading