कोरोना मरीजों को बड़ी राहत, Remdesivir बनाने वाली कंपनियों की बढ़ेगी मैन्युफैक्चरिंग क्षमता

रेमडेसिविर इंजेक्शन (सांकेतिक तस्वीर)

रेमडेसिविर इंजेक्शन (सांकेतिक तस्वीर)

कोरोना के इलाज में उपयोगी रेमडेसिविर (Remdesivir) बनाने वाली कंपनियों की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता बढ़ने वाली है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 21, 2021, 10:48 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) की दूसरी लहर बेहद भयावह रूप ले रही है. देश में कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के बीच रेमडेसिविर (Remdesivir) की मांग काफी ज्यादा हो गई है. कोरोना वायरस की दूसरी बड़ी लहर के बीच कोरोना मरीजों के लिए अच्छी खबर है. दरअसल, कोरोना के इलाज में उपयोगी रेमडेसिविर (Remdesivir) बनाने वाली कंपनियों की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता बढ़ने वाली है.

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने कहा कि कोविड-19 के चलते रेमडेसिविर की मांग में अचानक बढ़ोतरी को देखते हुए घरेलू रेमडेसिविर मैन्युफैक्चरर की मैन्युफैक्चरिंग क्षमता 38 लाख शीशियों से बढ़कर प्रति माह 74 लाख शीशियां की गई है. 20 अतिरिक्त मैन्युफैक्चरिंग स्थलों को भी मंजूरी दी गई है.



मंत्रालय ने कहा घरेलू आपूर्ति बढ़ाने के लिए 11 अप्रैल से रेमेडिसविर का निर्यात प्रतिबंधित है. फार्मास्युटिकल विभाग के साथ मिलकर मंत्रालय ने 19 राज्यों/केंद्र शासित प्रदेशों के लिए 30 अप्रैल तक रेमेडिसविर का अंतरिम आवंटन किया है.
सदानंद गौड़ा बोले- Remdesivir पर कस्टम ड्यूटी माफ करने से बढ़ेगी घरेलू उपलब्धता

गौरतलब है कि केंद्र सरकार ने मंगलवार को रेमडेसिविर, इसके कच्चे माल और वायरल रोधी दवा बनाने में इस्तेमाल होने वाले अन्य सामान पर कस्टम ड्यूटी (Customs Duty) समाप्त करने की घोषणा की थी. वहीं, रसायन और उर्वरक मंत्री सदानंद गौड़ा (Sadananda Gowda) ने बुधवार को कहा कि एंटीवायरल दवा रेमडेसिविर पर कस्टम ड्यूटी माफ करने के सरकार के फैसले से इस दवा की आपूर्ति बढ़ाने में मदद मिलेगी.

राजस्व विभाग (Department of Revenue) की ओर से जारी नोटिफिकेशन में कहा गया है कि केंद्र सरकार ने जन हित में इन प्रोडक्ट्स पर कस्टम ड्यूटी समाप्त करने का फैसला किया है. गौड़ा ने एक ट्वीट में कहा, ''फार्मास्यूटिकल्स विभाग की सिफारिश पर तत्काल आवश्यकता को देखते हुए राजस्व विभाग ने रेमडेसिविर और इसके एपीआई/केएसएम पर कस्टम ड्यूटी घटा दिया है. यह कदम घरेलू उपलब्धता को और बढ़ाएगा.''
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज