अडानी ग्रुप की कई कंपनियां सेबी और DRI की जांच के दायरे में, जानिए क्या है पूरा मामला

अडानी ग्रुप की कई कंपनियां सेबी की जांच के दायरे में.

Adani Group : सेबी अडानी ग्रुप की कई कंपनियों की जांच कर रहा है. कंपनियों पर सेबी के नियमों के उल्लंघन का शक है. इसके अलावा डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) भी इन कंपनियों की जांच कर रहा है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. अडानी ग्रुप की कई कंपनियां सेबी की जांच के दायरे में है. आज मॉनसून सत्र के पहले दिन सरकार ने सदन में इस बात की जानकारी दी है. 19 जुलाई को सदन में लिखित तौर पर दिए जवाब में वित्त राज्य मंत्री पंकज चौधरी ने कहा कि अडानी ग्रुप की कई कंपनियों की सेबी और सरकार की डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) जांच कर रही है. ये खबर आने के बाद अडानी ग्रुप की कंपनियों के शेयरों ने गिरावट का नया लेवल बनाया है.

    चौधरी ने बताया, "सेबी अडानी ग्रुप की कई कंपनियों की जांच कर रहा है. कंपनियों पर सेबी के नियमों के उल्लंघन का शक है. इसके अलावा डायरेक्टोरेट ऑफ रेवेन्यू इंटेलिजेंस (DRI) भी इन कंपनियों की जांच कर रहा है." हालांकि चौधरी ने यह भी बताया कि एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट (ED) इन कंपनियों की जांच नहीं कर रहा है.

    यह भी पढ़ें: FASTag से होते हैं कई फायदें, अब कैशलेस और कॉन्टैक्टलेस पेट्रोल भरने में भी मिलेगी मदद, जानिए सबकुछ

    शेयर बाजार में अडानी ग्रुप की 5 कंपनियां लिस्टेड हैं. वित्त मंत्रालय ने ये भी बताया कि तीन फॉरेन पोर्टफोलियो फंड्स अलबुला इनवेस्टमेंट फंड, क्रेस्टा फंड लिमिटेड और APMS इनवेस्टमेंट फंड का अकाउंट सेबी ने फ्रीज किया था. यह खबर पहले भी आई थी लेकिन इसके बाद NSDL की तरफ से यह सफाई पेश की गई थी कि ये अकाउंट फ्रीज नहीं किए गए थे.





    अडानी ग्रुप ने पूरे मामले पर कही ये बात - अडानी ग्रुप ने मॉनसून सत्र में SEBI और DRI की जांच के मामले पर ट्विटर पर ट्वीट करके अपना पक्ष रखा. जिसमें अडानी ग्रुप ने कहा कि, हाल फिलहाल में अडानी ग्रुप को SEBI और DRI की ओर से कोई नोटिस नहीं मिला है. वहीं उन्होंने साफ किया कि, ये मामाला 5 साल पुराना है. जो कि संसद में बताया गया है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.