Home /News /business /

market closing sensex improved by 500 points from below and closed with a slight decline pmgkp

Market Closing: रिकवरी की बार-बार कोशिश, सेंसेक्स नीचे से 500 अंक सुधर कर मामूली गिरावट के साथ बंद

बाजार में आज नीचे के स्तरों से अच्छी-खासी रिकवरी देखने को मिली.

बाजार में आज नीचे के स्तरों से अच्छी-खासी रिकवरी देखने को मिली.

कारोबार के आखिरी में सेंसेक्स 150.48 अंक गिरकर 53026.97 पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 51.10 अंकों की गिरावट के साथ 15,799.10 पर क्लोज हुआ. निफ्टी आज खुलने के बाद 15,700 के स्तर पर पहुंच गया था लेकिन इंट्रा डे में ये इंडेक्स रिकवरी के बाद 15,850 के स्तर पर पहुंच गया था.

अधिक पढ़ें ...

Share Market Closing: भारतीय शेयर बाजार पिछले कुछ दिनों से निचले स्तरों से बार-बार रिकवरी की कोशिश कर रहे हैं. आज बुधवार को भी सेंसेक्स 500 अंकों से ज्यादा की गिरावट के साथ खुला. लेकिन बाजार वहां से नीचे जाने की बजाय फिर से रिकवरी दिखाने लगा. सेंसेक्स आज इंट्राडे में 500 अंकों से ज्यादा के सुधार के बाद हरे निशान में ट्रेड करने लगा था. लेकिन ऊपरी स्तरों से थोड़ी मुनाफावसूली देखने को ंमिली. लास्ट में बाजार मामूली गिरावट के साथ बंद हुआ.

निफ्टी आज खुलने के बाद 15,700 के स्तर पर पहुंच गया था लेकिन इंट्रा डे में ये इंडेक्स रिकवरी के बाद 15,850 के स्तर पर पहुंच गया था. हालांकि वहां ये टिक नहीं पाया और नीचे फिसल गया. कारोबार के आखिरी में सेंसेक्स 150.48 अंक गिरकर 53026.97 पर बंद हुआ. वहीं निफ्टी 51.10 अंकों की गिरावट के साथ 15,799.10 पर क्लोज हुआ.

यह भी पढ़ें- IPO का बढ़ता क्रेज! कमर कस लें निवेशक, और 52 कंपनियों के आईपीओ आएंगे, मई तक हुआ 40,311 करोड़ का निवेश

गिरता रुपया और महंगा क्रूड बड़ी बाधा

रुपया आज फिर नए रिकॉर्ड लो पर क्लोज हुआ. डॉलर के मुकाबले रुपया आज 78.97 पर पहुंच गया. कल 28 जून को यह डॉलर के मुकाबले 78.77 पर क्लोज हुआ था. आज के कारोबार में बैंक, आईटी और एफएमसीजी सेक्टर में बिकवाली देखी गई. वहीं, मिडकैप और स्मॉल कैप लाल निशान में रहे.

बाजार गिरने के बाद बार बार निचले स्तरों से रिकवरी की कोशिश कर रहा है. लेकिन महंगा क्रूड ऑयल, गिरता रुपया और विदेशी निवेशकों की बिकवाली बाजार की तेजी में सबसे बड़ी बाधा नजर आ रहे हैं. आज क्रूज फिर 118 डॉलर प्रति बैरल के पार पहुंच गया. महंगा क्रूड भारतीय मार्केट के लिए बड़ा निगेटिव फैक्टर होता है.

यह भी पढ़ें- फार्मा कंपनी दे रही है शेयरधारकों को 400 फीसदी का डिविडेंड, देखें एक्स डिविडेंड और रिकॉर्ड डेट

आईपीओ के लिए अच्छा जा रहा साल

PRIME Database के आंकड़े बताते हैं कि साल 2022 के शुरुआती पांच महीने में ही 16 कंपनियों ने आईपीओ के जरिये 40,311 करोड़ रुपये जुटा लिए हैं. यह पिछले साल मई तक जुटाई कुल रकम से करीब 43 फीसदी ज्‍यादा है. 2021 की मई तक आईपीओ के जरिये 17,496 करोड़ की रकम कंपनियों को मिली थी.

Tags: BSE Sensex, Nifty, Share market, Stock Markets

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर