बजट से पहले शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 130 और निफ्टी 34 अंक उछला

बजट से पहले शेयर बाजार की मजबूत शुरुआत, सेंसेक्स 130 और निफ्टी 34 अंक उछला
आम बजट पेश होने में अब कुछ ही समय बचा हुआ है. लेकिन घरेलू शेयर बाजार ने मजबूत शुरुआत की है. सेंसेक्स-निफ्टी 0.25 फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है.

आम बजट पेश होने में अब कुछ ही समय बचा हुआ है. लेकिन घरेलू शेयर बाजार ने मजबूत शुरुआत की है. सेंसेक्स-निफ्टी 0.25 फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 1, 2018, 9:49 AM IST
  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
आम बजट पेश होने में अब कुछ ही समय बचा हुआ है. लेकिन घरेलू शेयर  बाजार ने मजबूत शुरुआत की है. सेंसेक्स-निफ्टी 0.25 फीसदी से ज्यादा की तेजी के साथ कारोबार कर रहा है. फिलहाल (9:30 AM) बीएसई का 30 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स 150 अंक की तेजी के साथ 36,123 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. वहीं, एनएसई का 50 शेयरों वाला प्रमुख इंडेक्स निफ्टी 38 अंक के उछाल के साथ 11,066 के स्तर पर कारोबार कर रहा है.

बजट के लाइव अपडेट्स के  लिए लिंक पर क्लिक करें https://goo.gl/ZFwuXC

मिडकैप शेयरों में थोड़ा दबाव है, लेकिन स्मॉलकैप शेयरों में खरीदारी नजर आ रही है. बीएसई का मिडकैप इंडेक्स 0.2 फीसदी गिरा है, जबकि निफ्टी के मिडकैप 100 इंडेक्स में 0.1 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई है। बीएसई का स्मॉलकैप इंडेक्स 0.5 फीसदी मजबूत हुआ है.



बैंकिंग, ऑटो, आईटी, पीएसयू बैंक, रियल्टी, कैपिटल गुड्स, कंज्यूमर ड्युरेबल्स और ऑयल एंड गैस शेयरों में खरीदारी देखने को मिल रही है. बैंक निफ्टी 0.4 फीसदी की मजबूती के साथ 27,477 के स्तर पर कारोबार कर रहा है. हालांकि फार्मा शेयरों में बिकवाली नजर आ रही है.



जेटली के बजट पेश करने वाले दिन शेयर बाजार का प्रदर्शन
> 10 जुलाई 2014- निफ्टी 252 अंक गिरकर 7567.75 पर बंद हुआ था.
> 28 फरवरी 2015- निफ्टी 190 अंक बढ़कर 8902 पर बंद हुआ था.
> 29 फरवरी 2016- निफ्टी 269 अंक गिरकर 6987 पर बंद हुआ था.
> 1 फरवरी 2017-निफ्टी 155 अंक बढ़कर 8716 पर बंद हुआ था.

बाजार की उम्मीदें

मार्केट एक्सपर्ट उदयन मुखर्जी का कहना है कि बाजार के लिए वित्तीय घाटे की चिंता काफी कम हो गई है. बजट के दिन बाजार में उतार-चढ़ाव जरूर देखने को मिलेगा. बजट को लेकर बाजार की नजर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेंस टैक्स के एलान को लेकर रहेगी. बजट के बाद बाजार में एक तेजी का दौर देखने को मिल सकता है.

रिस्क कैपिटल एडवाइजर्स के डी डी शर्मा का कहना है कि बजट में अगर किसी तरह की नेगेटिविटी नहीं आती है तो और भी तेजी देखने को मिल सकती है. डी डी शर्मा के मुताबिक बजट थीम को ध्यान में रखा जाए तो सरकार का फोकस इंफ्रास्ट्रक्चर सेक्टर, हाउसिंग सेक्टर पर रह सकता है. सरकार इन सेक्टर पर निवेश कर सकती है.

मेबैंक किम इंग सिक्योरिटीज के मुख्य कार्याधिकारी जिगर शाह कहते हैं, बजट से पहले कई अहम कदम उठाए जा चुके हैं. इसलिए बाजार और अर्थव्यवस्था की दृष्टि से बजट की अहमियत कम हो गई है. शेयर बाजार की नजरें फिलहाल इंटरनेशनल मार्केट पर टिकी हैं.

फॉर्च्युन फिस्कल के डायरेक्टर जगदीश ठक्कर कहते हैं कि कॉरपोरेट टैक्स में कटौती और लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स पर मार्केट की नजर है. कॉरपोरेट टैक्स में कटौती की उम्मीद कम है. लेकिन अगर लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स को एक साल से बढ़ाकर 3 साल कर दिया जाता है, तो ये मार्केट के लिए बहुत ज्यादा निगेटिव साबित होगा. हालांकि लॉन्ग टर्म कैपिटल गेन टैक्स लगाने के बाद अगर सरकार शॉर्ट टर्म कैपिटल गेन टैक्स को हटा दें तो यह मार्केट के लिए पॉजिटिव रहेगा.

जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेज लिमिटेड के हेड इन्वेस्टमेंट स्ट्रैटजिस्ट गौरांग शाह का कहना है कि शेयर बाजार अब काफी महंगे हो चुके हैं. इसलिए मौजूदा स्तर पर एक गिरावट आने की पूरी संभावना है. हालांकि, मार्केट के लिए संकेत पॉजिटिव हैं. फिलहाल मार्केट की नजर बजट पर है. इसके बाद बाजार  इस साल 8 राज्यों में होने वाले चुनावों पर फोकस करेगा.

बजट के बाद शेयर बाजार का प्रदर्शन
अगर आंकड़ों पर नजर डालें तो साफ पता चल रहा है कि वित्त मंत्री अरुण जेटली के पिछले चार बजट में  सिर्फ 2017 के बाद ही शेयर बाजार ने नई ऊंचाइयों को छुआ है.

ये भी पढ़ें
Budget 2018: यहां हैं पैसे बनाने के मौके, ऐसे उठाएं फायदा!
Budget 2018: कब और किसने की भारत में बजट की शुरुआत?
Budget 2018: 1860 में ईस्ट इंडिया कंपनी ने पेश किया था भारत में पहला बजट
First published: February 1, 2018, 9:48 AM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading