अपना शहर चुनें

States

शादी में मेहमानों की संख्या पर नहीं मानी सरकार, अब मैरिज होम वाले कर रहे हैं यह काम

अब मैरिज होम वाले कर रहे हैं यह काम
अब मैरिज होम वाले कर रहे हैं यह काम

दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में 50 मेहमानों को शादी समारोह में जाने की छूट दी गई है. देश के दूसरे राज्यों में भी गाइडलाइंस तय की गई है. यूपी में तो वैडिंग संघर्ष समिति भी बनाई गई. सरकार से बात की, लेकिन मेहमानों की संख्या 100 ही रखते हुए सरकार ने कोई राहत नहीं दी.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 26, 2020, 10:47 AM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. यूपी-राजस्थान (UP-Rajsthan) में 100 तो दिल्ली-एनसीआर (Delhi-NCR) में 50 मेहमानों को शादी समारोह में जाने की छूट दी गई है. देश के दूसरे राज्यों में भी गाइडलाइंस तय की गई है. यूपी में तो वैडिंग संघर्ष समिति भी बनाई गई. सरकार से बात की, लेकिन मेहमानों की संख्या 100 ही रखते हुए सरकार ने कोई राहत नहीं दी. अब कोई और रास्ता न निकलता देख मैरिज होम संचालकों ने कानूनी कार्रवाई से बचने के लिए खुद ही कदम उठाने शुरु कर दिए हैं. जिसका थोड़़ा सा असर लड़का और लड़की पक्ष पर भी पड़ रहा है.

...दूल्हा-दुल्हन पर हो जाएगी एफआईआर-यूपी वैडिंग संघर्ष समिति के मनीष अग्रवाल बताते हैं कि सरकार वैडिंग इंडस्ट्री को कोई राहत नहीं दे रही है. ऐसे में हमे ही कुछ जरूरी कदम उठाने पड़ रहे हैं. पंडाल में आने के बाद मेहमानों को सबसे पहले मास्क दिया जा रहा है. उनके हाथ सैनिटाइज कराए जा रहे हैं. उन्हें पहले ही बताया जा रहा है कि लिफाफा देने की जल्दबाजी न करें, पहले मास्क पहने और सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें. कुछ लोगों को याद दिलाने पड़ता है कि अगर आप ऐसा नहीं करेंगे तो दूल्हा-दुल्हन पर हो जाएगी एफआईआर





दिल्ली के बुराड़ी में 6 गज़ में बने चर्चित 3 मंजिला मकान पर MCD चला सकती है बुलडोजर
पंडाल में लगाए गए हैं वालंटियर-जिस पंडाल में शादी हो रही है वहां मैरिज होम संचालक की ओर से वालंटियर लगाए गए हैं. यह पूरे पंडाल में घूमते हैं. वालंटियर डीजे पर ग्रुप डांस करने से रोकते हैं. स्टेज पर दूल्हा-दुल्हन के पास ग्रुप फोटो खिंचवाने से रोकते हैं. सटकर खड़े हुए मेहमानों को सोशल डिस्टेंसिंग याद दिलाते हैं. खाने के स्टाल पर भी भीड़ नहीं जुटने देते हैं. कुछ लोग लगातार कुर्सियों और ऐसी जगहों को सैनिटाइज करते रहते हैं जहां ज़्यादा से ज़्यादा लोगों के हाथ लगने की संभावना रहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज