Home /News /business /

इस नई तकनीक से मारुति की गाड़ियों का माइलेज और बढ़ेगा

इस नई तकनीक से मारुति की गाड़ियों का माइलेज और बढ़ेगा

मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अपने वाहनों में एमिशन घटाने और फ्यूल एफिसिएंसी बढ़ाने के लिए नई तकनीक पर फोकस कर रही है

मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अपने वाहनों में एमिशन घटाने और फ्यूल एफिसिएंसी बढ़ाने के लिए नई तकनीक पर फोकस कर रही है

मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अपने वाहनों में एमिशन घटाने और फ्यूल एफिसिएंसी बढ़ाने के लिए नई तकनीक पर फोकस कर रही है

    देश की सबसे बड़ी कार निर्माता कंपनी मारुति सुजुकी इंडिया (एमएसआई) अपने वाहनों में एमिशन घटाने और फ्यूल एफिसिएंसी बढ़ाने के लिए नई तकनीक पर फोकस कर रही है.

    कंपनी ने कहा कि वह 2007-08 से लगभग एक दशक में अपनी सभी गाड़ियों के कार्बन उत्सर्जन में औसतन करीब 19 फीसदी कटौती करने में सफल रही है.

    मारुति सुजुकी इंडिया के कार्यकारी निदेशक (इंजीनियरिंग) सीवी रमन ने सोमवार को एक बयान में कहा कि आगे चलकर हम नई तकनीक पर निवेश जारी रखेंगे. हम अपनी कारों की फ्यूल एफिसिएंसी बढ़ाकर प्रति वाहन एमिशन में कमी की क्षमता को मजबूत करेंगे.

    बलेनो और नई डिजायर हार्टेक्ट प्लेटफॉर्म पर आधारित

    मौजूदा इंजन और ट्रांसमिशन में सुधार के अलावा मारुति सुजुकी नई पीढ़ी के हल्के प्लेटफॉर्म पर भी फोकस करेगी, मसलन हार्टेक्ट आदि. कंपनी की बलेनो और नई डिजायर मॉडल इसी पर आधारित है. कंपनी का कहना है कि इससे वह अधिक सुरक्षित और फ्यूल एफिसिएंट वाहन पेश कर पाएगी.

    रमन ने कहा कि हम प्लेटफार्म रणनीति पर काम कर रहे हैं. उनको तर्कसंगत बना रहे हैं, जिससे बेहतर ईंधन दक्षता और बेहतर प्रदर्शन के जरिए ग्राहकों को अच्छा मूल्य उपलब्ध कराया जा सके.

    एमिशन कटौती की कोशिशों के बारे में पूछे जाने पर कंपनी ने कहा कि उसने अपनी सभी गाड़ियों में औसतन कार्बन उत्सर्जन लगभग 19 फीसदी तक घटाया है.

    ये भी पढ़े -
    आपके लिए जल्द हाइब्रिड टेक्नोलॉजी वाली कारें लाएगी मारुति, सुजुकी

    मारुति सुजुकी ने लॉन्‍च की सुपर कैरी एलसीवी कार, पढ़ें क्‍या रखी है कीमत

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर