• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने कहा, मोदी सरकार की नीतियों से मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में बढ़ी प्रतिस्‍पर्धा

मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने कहा, मोदी सरकार की नीतियों से मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में बढ़ी प्रतिस्‍पर्धा

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा कि मोदी सरकार में देश की आर्थिक नीतियों में सुधार हो रहा है.

मारुति सुजुकी के चेयरमैन आरसी भार्गव ने कहा कि मोदी सरकार में देश की आर्थिक नीतियों में सुधार हो रहा है.

मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) के चयरमैन आरसी भार्गव (RC Bhargava) के मुताबिक, कोविड-19 महामारी (Covid-19) ने लोगों को काफी जागरूक किया है. इस समय लोगों को समझ आ रहा है कि मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर (Manufacturing Sector) को बढ़ावा देने के लिए कदम उठाने का यही सही समय है.

  • Share this:
    नई दिल्ली. मारुति सुजुकी (Maruti Suzuki) के चेयरमैन आरसी भार्गव (RC Bhargava) ने कहा कि कोरोना संकट ने लोगों को बड़े पैमाने पर जागरूक किया है. लोगों को समझ आ रहा है कि देश की इकोनॉमी (Indian Economy) और मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर (Manufacturing Sector) की तेज वृद्धि के लिए ठोस कदम उठाने की जरूरत है. मारुति की सालाना आमसभा (AGM) में भार्गव ने कहा कि इकोनॉमी और रोजगार (Employment) को बढ़ाने में मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर की अहम भूमिका है. भारत इस सेक्‍टर को तेजी से बढ़ाने के लिए सात दशक से कोशिश कर रहा है, लेकिन लक्ष्य को हासिल नहीं कर पाया.

    सोवियत संघ की आर्थिक नीति अपनाने का नहीं हुआ फायदा
    भार्गव ने कहा कि आजादी के बाद भारत ने सोवियत संघ (Soviet Union) की आर्थिक नीतियों को अपनाया, जिससे बहुत अच्‍छे नतीजे नहीं मिल सके. पिछले पांच-छह साल में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सरकार की नीतियों में कई बदलाव देखने को मिले हैं, जिन्होंने प्रतिस्पर्धी मैन्‍युफैक्‍चरिंग के लिए बेहतर माहौल बनाया है. मेरी समझ और जानकारी के हिसाब से सरकार मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर को बढ़ावा देने के लिए उठाए गए दूसरे कदमों को लेकर सचेत है, जो इंडस्‍ट्री को ज्‍यादा प्रतिस्‍पर्धी बनाने के लिए जरूरी है. आसान शब्‍दों में समझें तो मोदी सरकार की नीतियों के कारण ही देश के मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में प्रतिस्‍पर्धा बढ़ी है.

    ये भी पढ़ें- डिजिटल हेल्‍थ मिशन में डाटा प्राइवेसी पर केंद्र ने मांगे सुझाव, 3 सितंबर तक दे सकते हैं राय

    'कई गुना अधिकार दर से आर्थिक वृद्धि का यही है सही समय'
    मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने कहा कि कोविड-19 (Covid-19) के प्रभावों के बाद भी हालात उम्मीद भरे हैं. वैश्विक महामारी (Pandemic) ने देश के सभी लोगों के बीच इस बात को लेकर जागरुकता पैदा की है कि यही अपने कामकाज के तरीकों में बड़े बदलाव करने का सही समय है. कई गुना अधिक दर से आर्थिक वृद्धि (Economic Growth) का यही सही समय है. इसका सीधा मतलब है कि मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर में बहुत तेज वृद्धि होगी. इसके लिए सबसे पहली जरूरत देश में मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर की वृद्धि और रोजगार बढ़ाने के लिए राष्ट्रीय आम सहमति होना है. अगर ऐसा हो पाता है तो इसके लिए जरूरी बदलाव आसान हो जाएंगे.

    ये भी पढ़ें- भारत से बाहर जाने के लिए नहीं करना होगा ये काम, टिकट बुक कर सीधे भरें उड़ान

    'केंद्र सरकार की नीतियों में भाग लेते हुए समर्थन करना चाहिए'
    भार्गव ने कहा कि हमें अनिवार्य बदलावों को समझना चाहिए. साथ ही सरकार की नीतियों में भाग लेते हुए उनका समर्थन करना चाहिए. इन बदलावों के जरिये हम देश को ज्‍यादा प्रतिस्पर्धी मैन्‍युफैक्‍चरिंग हब बना सकते हैं. मैन्‍युफैक्‍चरिंग सेक्‍टर के पिछड़ने के पीछे आर्थिक विकास का सोवियत संघ की नीतियों पर आधारित होना रहा. समय के साथ पता चला कि इन नीतियों से अच्‍छे नतीजे नहीं मिल रहे. हमारा दुर्भाग्य रहा कि हमने खुद को समय के साथ नहीं बदला. हम पुरानी नीतियों को ढोते रहे. इन नीतियों ने मैन्‍युफैक्‍चरिंग इंडस्‍ट्री को गैर-प्रतिस्पर्धी बना दिया.

    ये भी पढ़ें- Railway ने कर्मचारियों को दिया तोहफा! शुरू हुई घर बैठे ई-पास की सुविधा, जानिए E-Pass बनवाने का प्रोसेस?

    इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर निवेश के बजाय समाजवाद लाने में जुटी रहीं सरकारें
    मारुति सुजुकी के चेयरमैन ने कहा कि सरकार आम लोगों और इंडस्‍ट्री की जरूरत के मुताबिक आर्थिक गतिविधियों (Economic Activities) व इंफ्रास्‍ट्रक्‍चर पर निवेश करने के बजाय देश में समाजवाद (Socialism) लाने के प्रयास करती रही. आजादी के बाद हर सरकार ने अलग-अलग तरह की सब्सिडी (Subsidy) दीं. सब्सिडी का मॉडल काफी लोकप्रिय रहा. लेकिन, इसका नतीजा यह हुआ कि उत्पादन की लगात (Production Cost) बढ़ती रही और यह हमारे गैर-प्रतिस्पर्धी होने के प्रमुख कारणों में से एक है. सब्सिडी खत्‍म होने से इंडस्‍ट्री को ज्‍यादा फायदा होना तय है.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज