MARUTI SUZUKI Result: Q4 में मुनाफा 9.7% घटा, इनकम 32 फीसदी बढ़ी, 45 रुपये प्रति शेयर डिविडेंड का किया ऐलान

कंपनी के बोर्ड ने शेयरधारकों के लिए 45 रुपए प्रति शेयर लाभांश का ऐलान  किया है.

कंपनी के बोर्ड ने शेयरधारकों के लिए 45 रुपए प्रति शेयर लाभांश का ऐलान किया है.

चौथी तिमाही में मारुति सुजुकी (MARUTI SUZUKI) की आय 32 फीसदी बढ़कर 24,024 करोड़ रुपये पर रही है. पिछले साल की चौथी तिमाही में कंपनी को 18,199 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: April 27, 2021, 4:52 PM IST
  • Share this:

नई दिल्ली. मारुति सुजूकी (MARUTI SUZUKI) के नतीजे (Result) आ गए हैं. चौथी तिमाही में मारुति सुजूकी का मुनाफा  9.7 फीसदी घटकर 1,166.1 करोड़ रुपये पर रहा है, जबकि पिछले साल की चौथी तिमाही में कंपनी को 1,291.7 करोड़ रुपये का मुनाफा हुआ था. चौथी तिमाही में मारुति सुजूकी की आय 32 फीसदी बढ़कर 24,024 करोड़ रुपये पर रही है, जबकि पिछले साल की चौथी तिमाही में कंपनी को 18,199 करोड़ रुपए का मुनाफा हुआ था. सालाना आधार पर चौथी तिमाही में मारुति का EBITDA 1,546.3 करोड़ रुपये से बढ़कर 1,991.4 करोड़ रुपये रहा है. वहीं,  EBITDA Margin पिछले साल के इसी अवधि के 8.5 फीसदी से घटकर 8.3 फीसदी रही है.



ग्रॉस प्रॉफिट मार्जिन घटकर 26.1 फीसदी रहा

चौथी तिमाही में कंपनी की अन्य आय पिछले साल की चौथी तिमाही के 880.4 करोड़ रुपये से घटकर 89.8 करोड़ रुपये पर रही है. इसी तरह Q4 में कंपनी का टैक्स पर होने वाला खर्च पिछले साल की चौथी तिमाही के 284 करोड़ रुपये से घटकर 141.4 करोड़ रुपये पर रही है. चौथी तिमाही में कंपनी की Gross Profit Margin पिछले साल की मार्च तिमाही के 29.7 फीसदी से घटकर  26.1 पर रही है, जबकि वित्त वर्ष 2021 की तीसरी तिमाही में कंपनी की Gross Profit Margin 27.5 फीसदी पर रही थी.



ये भी पढ़ें - 2020 में दुनिया में सैन्य खर्च करीब 2 ट्रिलियन डॉलर पहुंचा, जानिए भारत दुनिया में कौन से नंबर पर


45 रुपए प्रति शेयर लाभांश का किया ऐलान

मारुति ने मार्च तिमाही में 4,92,235 वाहन बेचे थे, जो सालाना आधार पर 28 फीसदी ज्यादा थे. चौथी तिमाही में कंपनी ने घरेलू बाजार में 4,56,707 वाहन बेचे थे, जो सालान आधार पर 26.7 फीसदी अधिक थे. चौथी तिमाही में कंपनी के एक्सपोर्ट में भी सलाना आधार पर 44.4 फीसदी बढ़त देखने को मिली और ये 35,528 यूनिट पर रहा था. कंपनी ये भी कहा, 'इस बात का ध्यान रखा जाना चाहिए कि कोविड-19 लॉकडाउन की वजह से वित्त वर्ष 2020 की चौथी तिमाही में बिक्री में भारी गिरावट देखने को मिली थी.'

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज