डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देने के लिए Mastercard ने लॉन्च किया 'प्रोजेक्ट किराना'

प्रतीकात्मक तस्वीर
प्रतीकात्मक तस्वीर

कार्ड से पेमेंट की सेवा देने वाली वैश्विक कंपनी मास्टरकार्ड (Mastercard) ने यूएसएआईडी (USAID) के साथ मिलकर 'प्रोजेक्ट किराना' (Project Kirana) की शुरुआत की है.

  • Share this:
नई दिल्ली. कार्ड से पेमेंट की सेवा देने वाली वैश्विक कंपनी मास्टरकार्ड (Mastercard) ने यूनाइटेड स्टेटस एंजेंसी फॉर इंटरनेशनल डेवलपमेंट (United States Agency for International Development) के साथ मिलकर 'प्रोजेक्ट किराना' (Project Kirana) की शुरुआत की है. इसका लाभ शुरुआत में उत्तर प्रदेश के चुनिंदा शहरों में 3 हजार महिला किराना दुकानदारों को मिलेगा.

मास्टरकार्ड ने एक बयान में कहा कि इस कार्यक्रम का मकसद महिलाओं द्वारा चलाई जाने वाली किराना दुकानों पर डिजिटल पेमेंट को बढ़ावा देना, वित्तीय समावेशन का दायरा बढ़ाना और आय माध्यमों को विस्तार देना है.

यह भी पढ़ें: 3 साल में पहली बार उच्चतम स्तर पर पहुंचा Bitcoin, PayPal देगा वर्चुअल करंसी खरीदने का मौका



महिलाओं के स्वामित्व वाले कारोबार को बढ़ावा
कंपनी ने कहा कि पुरुषों महिलाओं की गैर बराबरी के कारण दुनिया भर में महिलाओं के स्वामित्व वाले कारोबारों की संख्या कम है. इसके चलते ऐसे कारोबारों की शुरुआत, विकास और फलने-फूलने के मामले कम होते हैं. इन कमियों को दूर करने के लिए मास्टरकार्ड और यूएसएआईडी ने 'वीमेन्स ग्लोबल डेवलपमेंट एंड प्रोसपेरिटी इनीशिएटिव' (डब्ल्यू-जीडीपी) के तहत साझेदारी कर प्रोजेक्ट किराना की शुरुआत की है.

यह भी पढ़ें: सस्ता हो गया सोना-चांदी, जानिए 853 रुपये तक की गिरावट के बाद क्या है नया भाव

मास्टरकार्ड के विभागाध्यक्ष (दक्षिण एशिया) पौरूष सिंह ने एक वर्चुअल कार्यक्रम में इस साझेदारी की घोषणा की. उन्होंने कहा, ''यह एक मजबूत पहल है. वैश्विक स्तर पर मास्टरकार्ड ने छोटे और लघु व्यवसायों को कोविड-19 से पूर्व के स्तर पर पहुंचाने के लिए 25 करोड़ डॉलर की प्रतिबद्धता जताई है. जबकि भारत में वह इसके लिए 250 करोड़ रुपए (3.3 करोड़ डॉलर) की प्रतिबद्धता रखती है.''

कई पहल की शुरुआत
इसके लिए कंपनी ने कई पहल शुरू की हैं. बैंकिंग, डिजिटल पेमेंट, बचत, कर्ज और बीमा जैसे विषयों पर वित्तीय और डिजिटल साक्षरता कौशल का निर्माण करना, माल के आवागमन का प्रबंधन, बही खातों का हिसाब्र-किताब, बजट प्रबधंन और ग्राहक निष्ठा से जुड़े कौशल को बेहतर करना इसमें शामिल है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज