अब पासवर्ड याद रखने का झंझट खत्म! चेहरा और अंगूठा दिखाकर करें पेमेंट

मास्टरकार्ड (Master card) ने ऑनलाइन शॉपिंग (Online shopping) एक्सपीरियंस को आसान बनाने के लिए आइडेंटिटी चेक एक्सप्रसे लॉन्च किया.

News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 4:58 PM IST
अब पासवर्ड याद रखने का झंझट खत्म! चेहरा और अंगूठा दिखाकर करें पेमेंट
अब पासवर्ड याद रखने का झंझट खत्म! चेहरा दिखाकर करें पेमेंट
News18Hindi
Updated: August 6, 2019, 4:58 PM IST
अब पासवर्ड याद रखने का झंझट खत्म हो गया है. क्योंकि मास्टरकार्ड (Master card) ने ऑनलाइन शॉपिंग एक्सपीरियंस को आसान बनाने के लिए आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस लॉन्च किया. इसकी मदद से अब ऑनलाइन शॉपिंग (Online shopping) का पेमेंट चेहरा या अंगूठा दिखाकर कर सकते हैं. मास्टरकार्ड  ने ऑनलाइन शॉपिंग में बढ़ते फ्रॉड (Fraud) से ग्राहकों को सुरक्षित पेमेंट (Safe payment) का विकल्प दिया है. यह अनावश्यक झंझट को खत्म करने और ऑनलाइन लेनदेन की सुरक्षा बढ़ाने में मदद करेगा. भारत में पहली बार आयोजित ग्लोबल मास्टरकार्ड साइबर सिक्योरिटी समिट में आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस को प्रदर्शित किया गया.

मास्टकार्ड आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस एक लेटेस्ट तकनीक से लैस है, जिसमें डिवाइस इंटेलिजेंस और बिहेवियरल बायोमैट्रिक्स शामिल हैं, जो एक निर्बाध मोबाइल पेमेंट का अनुभव देने के लिए लेटेस्ट EMV 3-D सिक्योर और FIDO ऑथेंटिकेशन स्टैंडर्ड्स के साथ आता है. आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस के साथ, मास्टरकार्ड अग्रणी दुकानों पर मास्टरकार्ड कोर्डहोल्डर्स को 2000 रुपये से पेमेंट के लिए मर्चेंट स्पेसिफिक सहमति साझा करते हुए, मोबाइल डिवाइस पर टेंशन फ्री पेमेंट एक्सपीरियंस प्रदान करेगा. 2000 रुपये से अधिक के लेनदेन के लिए कार्डधारक अपने ट्रांजेक्शन पिन के साथ खुद को प्रमाणित कर सकेंगे.

ऐसे करेगा काम
आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस का इस्तेमाल करने के लिए ग्राहक को अपने बैंक से संपर्क करना होगा. इस प्रोग्राम के लिए ग्राहक को रजिस्टर करना होगा. इसके बाद आइडेंटिटी चेक के लिए एक एप्लीकेशन डाउनलोड करना पड़ेगा. फिर आप जब ऑलनाइन शॉपिंग साइट पर शॉपिंग करेंगे तो आपको पेमेंट के लिए अपना चेहरा या उंगली दिखाना होगा. यानी बायोमीट्रिक ऑथेंटिकेशन करना होगा. इससे पासवर्ड याद रखने की झंझट से मुक्ति मिलेगी.

ये भी पढ़ें: टाइटैनिक बनाने वाली कंपनी हो रही है दिवालिया, ये है वजह!

पेटीएम (Paytm) के सीनियर वाइस प्रेसिडेंट दीपक एबट ने कहा, 'हम बहुत खुश हैं कि मास्टरकार्ड भारत में अपने व्यापक कार्ड नेटवर्क का लाभ उठाते हुए एक सरल, आसान मोबाइल पेमेंट सिस्टम का निर्माण कर रहा है. यह निसंदेह डिजिटल इंडिया मिशन को गति देगा और कई और लोगों को पेटीएम का उपयोग करके लेनदेन करने के लिए प्रोस्ताहित करेगा. मास्टरकार्ड के साथ हमारी साझेदारी से देश के हर कोने में भारतीयों को निर्बाध डिजिटल पेमेंट सर्विसेज का लाभ मिलेगा.'

साइबर एंड इंटेलिजेंस सॉल्यूशन मास्टरकार्ड के प्रेसिडेंट अजय भल्ला ने कहा, 'भारतीय उपभोगक्ताओं की बढ़ती क्रय शक्ति और आकांक्षाओं के साथ देश में ई-कॉमर्स के विकास को बढ़ावा मिला है. अपनी खासियत के कारण मास्टरकार्ड डिजिटल भुगतान की सुविधा और सुरक्षा को बढ़ाने के लिए लगातार इनोवेशन करता है. आइडेंटिटी चेक एक्सप्रेस का शुभारंभ सिर्फ उपभोक्ताओं और व्यापारियों के लिए है. मास्टरकार्ड यह सुनिश्चित कर रहा है कि बिना किसी शक के धोखाधड़ी को कम करते हुए लेनदेन सफलता दर सुनिश्चित करने के लिए चेकआउट को मजबूत और सरल बनाएं.
Loading...

ये भी पढ़ें: बैंकों को पूंजी मिलने में होगी देरी, जानें कब मिलेगा पैसा

मास्टरकार्ड भारत की डिजिटल इकोनॉमी को बल देने और सुरक्षा में मदद करने के लिए प्रतिबद्ध है. मई 2019, में मास्टरकार्ड ने 2014 से 2019 के बीच 1 बिलियन अमेरिकी डॉलर के अपने निवेश के अलावा भी भारत में अगले पांच वर्षों में 1 बिलियन डॉलर के निवेश की घोषणा की है. इस निवेश का एक महत्वपूर्ण हिस्सा भारत में और भारत के लिए एक पूर्ण-स्वदेशी घरेलू लेनदेन प्रोसेसिंग सेंटर स्थापित करने में मदद करेगा, शेष राशि को ग्लोबल टीम्स के सहयोग से सर्विसेज हब बनाने की दिशा में निवेश किया जाएगा, जो साइबर स्पेस में अन्य सेवाओं जैसे प्रमाणीकरण, टोकेनाइजेशन, साइबर और खुफिया समाधान और डेटा एनालिटिक्स को विकसित करने और वितरित करने पर केंद्रित होगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 6, 2019, 3:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...