• Home
  • »
  • News
  • »
  • business
  • »
  • अमेरिकी कंपनी की ट्रंप से शिकायत- राष्‍ट्रवाद के सहारे मोदी दे रहे RuPay कार्ड को बढ़ावा

अमेरिकी कंपनी की ट्रंप से शिकायत- राष्‍ट्रवाद के सहारे मोदी दे रहे RuPay कार्ड को बढ़ावा

पेमेंट कंपनी मास्टरकार्ड.

पेमेंट कंपनी मास्टरकार्ड.

अमेरिकी कंपनियां भारत में मोदी की नीतियों से जूझ रही हैं जिन्हें वे संरक्षणवादी मानती हैं. इस साल अमेरिका की तकनीकी कंपनियों ने भारत के उस कानून का विरोध किया जिसमें उन्हें देश के डेटा को देश में ही स्टोर करने को कहा था.

  • Share this:
    पेमेंट कंपनी मास्टरकार्ड ने जून में अमेरिकी सरकार को बताया कि भारतीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी घरेलू पेमेंट नेटवर्क रूपे को बढ़ावा देने के लिए राष्ट्रवाद का इस्तेमाल कर रहे हैं. रॉयटर्स द्वारा देखे गए एक दस्तावेज के अनुसार मास्टरकार्ड ने कहा था कि नई दिल्ली की संरक्षणवादी नीतियां विदेशी पेमेंट कंपनियों को नुकसान पहुंचा रही है.

    हाल के सालों में पीएम मोदी ने भारतीय पेमेंट नेटवर्क रूपे का समर्थन किया है जिससे अमेरिकी पेमेंट कंपनियों मास्टरकार्ड और वीजा का वर्चस्व कम हुआ है. भारत के 1 बिलियन डेबिट और क्रेडिट कार्ड धारकों में से आधे रूपे कार्ड का इस्तेमाल कर रहे हैं, जिसका मतलब है कि मास्टरकार्ड और वीजा कार्ड दुनिया के सबसे बड़े पेमेंट ग्रोथ मार्केट से बाहर हो रहे हैं.

    मोदी सार्वजनिक तौर पर रूपे कार्ड से भुगतान की बात कह चुके हैं, क्योंकि इस कार्ड से लेनदेने करने पर भुगतान भारत के ही भीतर रहता है जो देश के विकास में मदद कर सकता है. यूनाइटेड स्टेट्स ट्रेड रिप्रजेंटिव (यूएटीआर) को जून में लिखे एक पत्र में मास्टर कार्ड ने कहा कि पीएम मोदी ने रूपे कार्ड के इस्तेमाल को देश सेवा की तरह बताया है.

    मास्टरकार्ड द्वारा ग्लोबल पब्लिक पॉलिसी को भेजे गए नोट में लिखा गया था कि डिजिटल भुगतान को बढ़ाने के लिए मोदी के प्रयास सराहनीय थे लेकिन भारत सरकार ने वैश्विक कंपनियों को नुकसान पहुंचाने के लिए कई संरक्षणवादी उपाय अपनाए.

    ये भी पढ़ें: भारत के साथ काम कर रही मास्टर कार्ड, कम होगी डिजिटल भुगतान की लागत

    अमेरिकी कंपनियां भारत में मोदी की नीतियों से जूझ रही हैं जिन्हें वे संरक्षणवादी मानती हैं. इस साल अमेरिका की तकनीकी कंपनियों ने भारत के उस कानून का विरोध किया जिसमें उन्हें देश के डेटा को देश में ही स्टोर करने को कहा था.

    रॉयटर्स द्वारा देखे गए नोट में कहा गया है कि रूपे को मोदी के समर्थन ने मास्टर कार्ड को नुकसान पहुंचाया है. नोट में मास्टरकार्ड ने कहा कि भारत सरकार द्वारा रूपे कार्ड को बढ़ावा देने से अमेरिकी पेमेंट कंपनियों को दिक्कतों का सामना करना पढ़ रहा है.

    कंपनी ने अमेरिकी सरकार पर भारत सरकार द्वारा रूपे को दिए जा रहे समर्थन को बंद करने का दबाव डालने की अपील की. हालांकि रॉयटर्स ने जब इस बारे में मास्टरकार्ड से संपर्क किया तो उसकी तरफ से कहा गया कि वह भारत सरकार की पहल का पूरी तरह से समर्थन करता है. कंपनी ने यूएसटीआर नोट पर कुछ भी बोलने से इनकार कर दिया.

    ये भी पढ़ेंSBI का बड़ा ऑफर! सोने का सिक्का खरीदने पर मिलेगा डिस्काउंट और बड़ा कैशबैक

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज