Home /News /business /

Mastercard का ऐलान, साल 2024 से कार्ड पर नहीं रहेंगे मैग्नेटिक स्ट्रिप

Mastercard का ऐलान, साल 2024 से कार्ड पर नहीं रहेंगे मैग्नेटिक स्ट्रिप

आज के चिप्स माइक्रोप्रोसेसरों द्वारा संचालित होते हैं जो बहुत अधिक सुरक्षित होते हैं

आज के चिप्स माइक्रोप्रोसेसरों द्वारा संचालित होते हैं जो बहुत अधिक सुरक्षित होते हैं

साल 2033 तक किसी भी मास्टरकार्ड (Mastercard) क्रेडिट और डेबिट कार्ड में मैग्नेटिक स्ट्रिप नहीं होगी.

    नई दिल्ली. अमेरिका की पेमेंट टेक्नोलॉजी कंपनी मास्टरकार्ड (Mastercard) ज्यादातर मार्केट में साल 2024 से अपने नए जारी क्रेडिट और डेबिट कार्ड पर मैग्नेटिक स्ट्रिप (Magnetic Stripes) को समाप्त कर देगा. साल 2033 तक किसी भी मास्टरकार्ड क्रेडिट और डेबिट कार्ड में मैग्नेटिक स्ट्रिप नहीं होगी.

    बिजनेस टूडे की एक खबर के मुताबिक, मैग्नेटिक स्ट्रिप सबसे पहले यूरोप जैसे क्षेत्रों में हटेंगी जहां चिप कार्ड का व्यापक रूप से उपयोग किया जाता है. मास्टरकार्ड ने कहा कि अमेरिका में बैंकों को अब 2027 से मैग्नेटिक स्ट्रिप वाले चिप कार्ड जारी करने की आवश्यकता नहीं होगी. साल 2029 तक  मैग्नेटिक स्ट्रिप के साथ कोई नया मास्टरकार्ड क्रेडिट या डेबिट कार्ड जारी नहीं किया जाएगा. हालांकि, प्रीपेड कार्ड को इस बदलाव से छूट मिली हुई है.

    आज के चिप्स माइक्रोप्रोसेसरों द्वारा संचालित होते हैं जो बहुत अधिक सुरक्षित होते हैं. ये कार्ड एक छोटे एंटीना से भी जुड़े होते हैं जो कॉन्टैक्टलैस ट्रांजैक्शन को सक्षम बनाता है. आज प्रत्येक लेनदेन के लिए चिप एक यूनिक ट्रांजैक्शन कोड बनाता है जिसे जारीकर्ता बैंक द्वारा सत्यापित किया जाता है ताकि यह सुनिश्चित किया जा सके कि उपयोग किया गया कार्ड वास्तविक है. 

    ये भी पढ़ें- Data Storage Norms: मास्टरकार्ड ने रिजर्व बैंक को सौंपी ऑडिट रिपोर्ट, कंपनी ने कही ये बात

    भारत में 22 जुलाई से नए कार्ड जारी करने पर लगी है रोक
    लोकल डेटा स्टोरेज नॉर्म्स का अनुपालन नहीं करने को लेकर आरबीआई ने 14 जुलाई को मास्टरकार्ड पर नए क्रेडिट, डेबिट और प्रीपेड कार्ड जारी करने को लेकर अनिश्चितकाल के लिए पाबंदी लगा दी थी. केंद्रीय बैंक ने मास्‍टरकार्ड को 22 जुलाई, 2021 से अपने कार्ड नेटवर्क में नए घरेलू ग्राहकों को शामिल करने पर बैन लगा दिया था. बता दें कि डेटा लोकलाइजेशन के नियमों के तहत कंपनी को भारतीय ग्राहकों के डेटा देश में ही रखने की जरूरत है.

    मौजूदा मास्‍टरकार्ड ग्राहकों पर कोई असर नहीं
    बैन को लेकर आरबीआई ने कहा था कि उसके इस आदेश का मौजूदा कार्ड ग्राहकों पर कोई असर नहीं होगा. बता दें कि मास्‍टरकार्ड को पीएसएस एक्‍ट के तहत देश में कार्ड नेटवर्क का संचालन करने के लिए पेमेंट सिस्‍टम ऑपरेटर के तौर पर मंजूरी दी गई है.

    Tags: Credit card, Mastercard

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर