होम /न्यूज /व्यवसाय /रिटायरमेंट प्लानिंग के मामले में ज्यादातर भारतीय पिछड़ रहे हैं- रिपोर्ट

रिटायरमेंट प्लानिंग के मामले में ज्यादातर भारतीय पिछड़ रहे हैं- रिपोर्ट

सेवानिवृत्ति के दौरान परिवार, दोस्तों और सामाजिक समर्थन पर बढ़ती निर्भरता को दर्शाता है.

सेवानिवृत्ति के दौरान परिवार, दोस्तों और सामाजिक समर्थन पर बढ़ती निर्भरता को दर्शाता है.

मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और KANTAR द्वारा साझेदारी में आयोजित इंडिया रिटायरमेंट इंडेक्स स्टडी (आईआरआईएस) से ...अधिक पढ़ें

  • News18Hindi
  • Last Updated :

हाइलाइट्स

भारत का सेवानिवृत्ति सूचकांक 0 से 100 के पैमाने पर 44 पर था.
जो दर्शाता है कि भारतीय सेवानिवृत्ति योजना में पिछड़ रहे हैं.
प्रत्येक तीन शहरी लोगों में से एक व्यक्ति ऐसा है जो सेवानिवृत्ति लक्ष्यों को पूरा करने का काम कर रहा है.

नई दिल्ली. मैक्स लाइफ इंश्योरेंस कंपनी लिमिटेड और KANTAR द्वारा साझेदारी में आयोजित इंडिया रिटायरमेंट इंडेक्स स्टडी (आईआरआईएस) से पता चलता है कि रिटायरमेंट प्लानिंग के मामले में अधिकांश भारतीय पिछड़ रहे हैं. भारत का सेवानिवृत्ति सूचकांक 0 से 100 के पैमाने पर 44 पर था, जो दर्शाता है कि भारतीय सेवानिवृत्ति योजना में पिछड़ रहे हैं.

रिपोर्ट में कहा गया कि स्वास्थ्य और वित्तीय तैयारी सूचकांक क्रमशः 41 और 49 रहा. भावनात्मक तैयारियां 62 से घटकर 59 रह गईं, जो सेवानिवृत्ति के दौरान परिवार, दोस्तों और सामाजिक समर्थन पर बढ़ती निर्भरता को दर्शाता है. अध्ययन के मुताबिक, शहरी लोगों को इस बात की चिंता है कि वृद्धावस्था के लिए उनकी बचत पर्याप्त नहीं होगी. प्रत्येक तीन शहरी लोगों में से सिर्फ एक व्यक्ति ऐसा है जो सेवानिवृत्ति लक्ष्यों को पूरा करने के लिए काम कर रहा है.

ये भी पढ़ें : S&P ने अर्थव्‍यवस्‍था को लेकर दिए अच्‍छे संकेत! कहा- भारत 7.3% की ग्रोथ के साथ उभरती अर्थव्यवस्थाओं में ‘चमकता सितारा’ होगा

90 प्रतिशत लोगों ने व्यक्त किया अफसोस
निजी बीमा कंपनी मैक्स लाइफ इंश्योरेंस ने विपणन डेटा कंपनी कांतार के साथ भागीदारी में यह सर्वे किया है. सर्वेक्षण में 50 वर्ष से अधिक आयु के लगभग 90 प्रतिशत लोगों ने सेवानिवृत्ति जीवन संबंधी बचत के लिए अपने करियर की जल्दी शुरुआत नहीं करने पर अफसोस व्यक्त किया.

सर्वेक्षण के अपने दूसरे संस्करण में भारत सेवानिवृत्ति सूचकांक अध्ययन (आईआरआईएस) 44 पर था, जो यह दर्शाता है कि सेवानिवृत्त जीवन योजना के लिए शहरी वेतनभोगी वर्ग के बीच पिछले एक साल से तैयारियों में कमी है. इस सर्वेक्षण में 28 शहरों से 3,220 पुरुष और महिलाओं की राय ली गई. इनमें से छह महानगर और 12 पहली और 12 दूसरी श्रेणी के शहर शामिल हैं.

ये भी पढ़ें: डॉलर के मुकाबले रसातल में रुपया, नितिन कामथ बोले- 82 का लेवल इतना खराब नहीं, बताई इसकी वजह

सेवानिवृत्ति की योजना के लिए जल्दी शुरुआत
मैक्स लाइफ इंश्योरेंस के प्रबंध निदेशक और मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) प्रशांत त्रिपाठी ने यहां संवाददाताओं से कहा कि मुझे लगता है जब आप सेवानिवृत्ति के बारे में विचार करना शुरू करते हैं तो कई प्रश्न होते हैं. कुछ वास्तविकताएं हैं जिनके बारे में हर कोई बात करता है कि भारत एक बहुत बड़ा युवा देश है लेकिन भारत भी बूढ़ा हो रहा है.

त्रिपाठी ने कहा कि भारतीयों को अपनी सेवानिवृत्ति की योजना के लिए जल्दी शुरुआत करनी चाहिए ताकि वे आर्थिक रूप से स्वतंत्र और स्वस्थ जीवन जीने के लिए तैयार हो पाएं.

Tags: Business news, Business news in hindi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें