मौत की अफवाह: पूरी तरह स्वस्थ हैं MDH के मालिक धर्मपाल गुलाटी, कहा- मेरी उम्र बढ़ गई

एमडीएच से जुड़े सूत्र ने बताया कि धर्मपाल गुलाटी के निधन के बारे में किसी ने झूठी खबर फैलाई है. वह स्वस्थ और खुशहाल हैं.

News18Hindi
Updated: October 7, 2018, 5:31 PM IST
News18Hindi
Updated: October 7, 2018, 5:31 PM IST
मसाला कंपनी एमडीएच के चेयरमैन महाशय धर्मपाल गुलाटी जीवित हैं और पूरी तरह स्वस्थ हैं. रविवार को उनके निधन की अफवाह सोशल मीडिया पर वायरल हो गई. कंपनी और रिश्तेदारों के पास लगातार फोन आने लगे जिसके बाद कंपनी की तरफ एक वीडियो जारी किया गया है. इस वीडियो में गुलाटी गायत्री मंत्र का पाठ करते नजर आ रहे हैं. इस वीडियो में वह अपना हाथ उठाकर बता रहे हैं कि वह ठीक हैं.

कंपनी के वाइस प्रेसिडेंट और मीडिया प्रभारी राजेंद्र कुमार ने कहा कि वह गुलाटी के साथ खाना खा रहे थे तब उनके पास उनके निधन से जुड़ा फोन आया. उन्होंने बताया कि गुलाटी ने इस अफवाह को बहुत गंभीरता से नहीं लिया और कहा, 'ऐसी अफवाह आती रहती है. मेरी उम्र और लंबी हो गई.'

पाकिस्तान से आए इस तांगेवाले ने भारत में खड़ा किया अरबों का व्यापार

कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में रविवार को कहा गया कि गुलाटी का 99 की उम्र में दिल्ली के एक अस्पताल में निधन हो गया है.

महाशिया दी हट्टी जिसे एमडीएच के नाम से जाना जाता है भारत में मसालों का लोकप्रिय ब्रांड है और गुलाटी पिछले कई सालों से विज्ञापनों में कंपनी के प्रतिष्ठित चेहरा बने हुए हैं. 'महाशय जी' के नाम से प्रसिद्ध धर्मपाल गुलाटी का जन्म साल 1919 में पाकिस्तान के सियालकोट में हुआ था यहीं से उनके व्यवसाय की नीव पड़ी.

कंपनी की शुरुआत शहर में एक छोटे से दुकान से हुई, जिसे उनके पिता ने विभाजन से पहले शुरू किया था. हालांकि 1947 में उनका परिवार दिल्ली आ गया.

ऐसा कहा जाता है कि एमडीएच के मालिक ने दिल्ली पहुंचने के बाद एक टांगा खरीदा जिसमें वह कनॉट प्लेस और करोल बाग के बीच यात्रियों को लाने और ले जाने का काम करते थे. गरीबी की वजह से मजबूर धर्मपाल को इस वक्त अधिक यात्री नहीं मिलते थे, इनमे से कुछ उनके साथ गाली-गलौज भी करते थे.
Loading...

गरीबी से तंग आकर उन्होंने अपना तांगा बेच दिया और 1953 में चांदनी चौक में एक दुकान किराए पर ले ली जिसका नाम रखा गया महाशिया दी हट्टी (MDH) और वह करना शुरू किया जिसके लिए वह जाने जाते थे- मसालों का व्यापार.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
-->