पासपोर्ट में अब आपको अपने परिवार की जानकारी देना अनिवार्य नहीं

विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बड़ा निर्णय लेते हुए पासपोर्ट में परिवार की जानकारी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है.

News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 4:14 PM IST
पासपोर्ट में अब आपको अपने परिवार की जानकारी देना अनिवार्य नहीं
विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बड़ा निर्णय लेते हुए पासपोर्ट में परिवार की जानकारी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है.
News18Hindi
Updated: January 12, 2018, 4:14 PM IST
विदेश मंत्रालय ने शुक्रवार को एक बड़ा निर्णय लेते हुए पासपोर्ट में परिवार की जानकारी की अनिवार्यता को खत्म कर दिया है. अब पासपोर्ट के अंतिम पेज पर पति, पत्नी, पिता, माता जैसे नाम को देने की अनिवार्यता नहीं है.आपको बता दें कि काफी महिलाओं और सिंगल वुमन ने सांसदों से इस बाबत गुहार लगाई थी. उनका कहना था कि पासपोर्ट में इन चीजों को भरना अनिवार्य है. इससे उन्हें दिक्कतों का सामना करना पड़ता है. इसे देखते हुए ही विदेश मंत्रालय ने इसकी अनिवार्यता खत्म कर दी.

भारत सरकार के विदेश मंत्रालय ने पासपोर्ट बनवाने की प्रक्रिया को आसान करने के लिए हाल में  नए नियम जारी किए थे. आइए जानते है कि हाल में सरकार ने क्या-क्या नियम बदल दिए.

(1) पहले 26/01/1989 के बाद जन्मे लोगों को अलग से जन्म प्रमाण पत्र देना होता था. अब जन्मतिथि के लिए स्कूल की टीसी, पैन कार्ड पर लिखित जन्मतिथि, आधार कार्ड पर लिखी जन्मतिथि, ड्राइविंग लाइसेंस, मतदाता पहचान पत्र, बीमा पॉलिसी भी मान्य होंगे.

(2) अब पासपोर्ट के आवेदन में माता-पिता में से किसी भी एक का नाम या क़ानूनी अभिभावक का नाम देना ही अनिवार्य होगा. इससे अब सिंगल पेरेंट भी अपने बच्चों के लिए पासपोर्ट का आवेदन आसानी से कर सकेंगे. आवेदनकर्ता की मांग पर अब पासपोर्ट पर माता-पिता में से किसी एक का ही नाम प्रकाशित किया जा सकेगा.

(3) शादीशुदा लोगों को अब शादी प्रमाण पत्र या Annexure 'K' देने की ज़रूरत नहीं है.

(4) अनाथ बच्चे जिनके पास जन्म प्रमाण पत्र या जन्मतिथि वाली मार्कशीट नहीं है वो अपने अनाथालय या संस्थान के लैटर पैड पर संस्थान प्रमुख के हस्ताक्षर के साथ जन्मतिथि दे सकते हैं.

(5) विवाह के बाहर पैदा हुए बच्चों के पासपोर्ट के लिए अब आवेदन के साथ सिर्फ़ Annexure G लगाना होगा.

(6) सरकारी कर्मचारी जो पहचान पत्र या अपने संस्थान से अनापत्ति प्रमाण पत्र नहीं ले पा रहे हैं वो आपात स्थिति में पासपोर्ट लेने के लिए स्वघोषित Annexure-'N' जमा करा सकते हैं. उन्हें ये घोषित करना होगा कि वो अपने संस्थान को पासपोर्ट आवेदन की जानकारी दे चुके हैं.

(7) साधु-संन्यासी अब अपने गुरू का नाम अभिभावक के रूप में देकर पासपोर्ट के लिए आवेदन कर सकते हैं. इसके लिए उनके पास ऐसा कोई प्रमाण पत्र होना आवश्यक है जिसमें उनके अभिभावक के रूप में आध्यात्मिक गुरू का नाम हो.

 
IBN Khabar, IBN7 और ETV News अब है News18 Hindi. सबसे सटीक और सबसे तेज़ Hindi News अपडेट्स. Business News in Hindi यहां देखें.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर