लाइव टीवी

सरकारी बैंकों के मर्जर से क्या बढ़ जाएगी लोन की EMI? जानें ऐसे ही सभी सवालों के जवाब

News18Hindi
Updated: April 1, 2020, 4:14 PM IST
सरकारी बैंकों के मर्जर से क्या बढ़ जाएगी लोन की EMI? जानें ऐसे ही सभी सवालों के जवाब
मर्जर के बाद बैंक अकाउंट, चेक बुक, सेविगंस और FD का क्या होगा?

सरकारी बैंकों के मर्जर (PSU Bank Merger) को लेकर बैंक ग्राहकों के मन में कई सवाल उठ रहे है. जैसे अब उनके लोन का क्या होगा? क्या लोन पर उनकी ब्याज दरें समान रहेंगी या बढ़ जाएंगी ? आइए जानें ऐसे ही सवालों के जवाब...

  • Share this:
नई दिल्ली. नए फाइनेंशियल (New Financial Year 2020-21) में सबसे बड़ा बदलाव सरकारी बैंकों (PSU Bank) को लेकर हुआ है. 10 सरकारी बैंकों (PSU Banks) को मर्ज कर 4 बैंक बना दिया गया है. ऐसे में ग्राहकों के मन में कई सवाल उठना लाजमी है. इसीलिए आज हम आपको मर्जर से जुड़े कुछ सवालों के जवाब देंगे. आपको बता दें कि केनरा बैैंक और सिडेंकेट बैंक का मर्जर हुुआ है. इंडियन बैंक का इलाहाबाद बैंक का मर्जर, पंजाब नेशनल बैंक के साथ ओबीसी और युुनाइटेड बैंक मर्जर हुुआ है. यूनियन बैंक के साथ आंध्रा बैंक और कॉर्पोरेशन बैंक का मर्जर हुआ है.

(1) सवाल- क्या मेरे लोन की ब्याज दरें पहले जैसी ही रहेंगी या उसमें कोई बढ़ोतरी होगी ?
जवाब-
मौजूदा ग्राहकों के लिए ब्याज की दर कानूनी कॉन्ट्रैक्ट के मुताबिक रिसेट पीरियड तक समान बनी रहेगी. हालांकि, नए ग्राहकों के लिए ब्याज की दर को बैंक की वेबसाइट पर डाल दिया जाएगा.

(2) सवाल- क्या अब मुझे अपने लोन के डॉक्युमेंट फिर से जमा करने होंगे? 



जवाब- मर्जर के बाद लोन दस्तावेजों को दोबारा जमा कराने की कोई जरूरत नहीं होगी. सामान्य कामकाज के आधार पर कुछ कैनूनी दस्तावेज, अगर पहले जमा नहीं किए गए हैं, तो उन्हें मांगा जाएगा.



(3) सवाल- लोन ट्रांसफर, प्री-क्लोजर जैसी सुविधाएं क्या विलय के बाद भी ग्राहकों को मिलेंगी ?
जवाब-
लोन से जुड़ी सभी सर्विसेज जैसे अमाउंट ट्रांसफर, प्री-क्लोजर, प्री-पेमेंट जैसी सेवाओं को संबंधित बैंक शाखा से लिया जा सकता है.

ये भी पढ़ें-SBI समेत इन बैंकों ने ग्राहकों को दी राहत, 3 महीने तक नहीं देनी होगी EMI

(4) सवाल- विलय के बाद मेरी ओवरड्राफ्ट (OD)/ कैश क्रेडिट (CC) की सुविधा का क्या होगा?
जवाब-
ओवरड्राफ्ट (OD)/ कैश क्रेडिट (CC) का रिन्यूअल आसानी से हो जाएगा. इसमें में किसी भी बदलाव को पहले बता दिया जाएगा.

(5) अगर कोई ओरिएंट बैंक कस्टमर है तो उसके बैंक अकाउंट, चेक बुक, सेविगंस और FD का क्या होगा?

जवाब-विलय के बाद जो नए बैंक बने हैं वो जब तक नोटिफिकेशन जारी नहीं करते तब तक आपका मौजूदा अकाउंट नंबर, IFSC, MICR, डेबिट कार्ड..सब चलते रहेंगे. अभी चाहे जिस भी बैंक के आप ग्राहक हो आपके लिए सब पहले की तरह चलता रहेगा.ठीक इसी तरह जब तक बैंक कोई नोटिफिकेशन जारी नहीं करते, तब तक आपक चेकबुक और पासबुक भी पहले की तरह चलता रहेगा.

आपके अपने खाते से कैश निकालने की सीमा में भी कोई चेंज नहीं आएगा. पंजाब नेशनल बैंक की बात करें तो विलय के बाद भी ओरिएंटल बैंक ऑफ कॉमर्स (OBC) और यूनाइटेड बैंक ऑफ इंडिया की इंटरनेट और मोबाइल बैंकिंग चलती रहेगी. पंजाब नेशनल बैंक इसमें बदलाव करने से पहले नोटिफिकेशन जारी करेगा.

ये भी पढ़ें-1 अप्रैल से बदल गए GST, टैक्स, PF समेत ये 8 नियम, आप पर पड़ेगा ये असर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 1, 2020, 3:34 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading