Home /News /business /

कम पैसों में शुरू करें मिल्क प्लांट, NABARD से लोन लेने पर मिलेगी 25% सब्सिडी

कम पैसों में शुरू करें मिल्क प्लांट, NABARD से लोन लेने पर मिलेगी 25% सब्सिडी

DEDS स्कीम में 10 भैंस की डेयरी के लिए 7 लाख रुपये तक का कर्ज मुहैया कराया जाता है. (Image-Banas Dairy)

DEDS स्कीम में 10 भैंस की डेयरी के लिए 7 लाख रुपये तक का कर्ज मुहैया कराया जाता है. (Image-Banas Dairy)

अगर आप डेयरी खोलने का मन बना चुके हैं और डीईडीएस योजना का फायदा भी उठाना चाहते हैं तो सबसे पहले डेयरी को रजिस्टर्ड करवाएं

    Small Business Idea: दूध का काम एक ऐसा काम जिसे कभी भी खोलकर बैठ जाओ, चलता ही है. लॉकडाउन में जहां सारे काम-धंधों पर ताला पड़ गया था, एक दूध का कारोबार ही था जो बिना किसी रोक-टोक के चलता रहा. दूध डेयरी का काम मेहनत जरूर मांगता है मगर मुनाफा भी तगड़ा ही देता है.

    डेयरी एक ऐसा काम है जो छोटी सी जमा-पूंजी से लेकर कितनी भी ज्यादा रकम लगाकर शुरू किया जा सकता है. आप दो गाय या भैंस से भी दूध का काम शुरू कर सकते हैं.

    सरकार भी पशुपालन को बढ़ावा दे रही है. और इसके लिए कई योजनाएं भी चलाई हुई हैं. आप इन सरकारी योजनाओं का फायदा उठाकर दूध की डेयरी का काम शुरू कर सकते हैं.

    पशुपालन में डेयरी उद्योग को सरकार बहुत ही सपोर्ट कर रही है. गाय-भैंस के लिए लोन से कर मिल्क प्रोसेसिंग प्लांट, दूध की डेयरी आदि खोलने में तकनीकी जानकारी के साथ आर्थिक मदद भी मुहैया कराई जा रही है.

    केंद्र सरकार ने डेयरी इंटरप्रेन्योर डेवलपमेंट स्कीम यानी डीईडीएस ( Dairy Entrepreneurship development Scheme- DEDS) चलाई हुई है. डीईडीएस योजना के तहत पशुपालन करने वालों को प्रोजेक्ट की कुल लागत पर 33 फीसदी तक की सब्सिडी मुहैया कराई जाती है. यह योजना नाबार्ड के तहत आती है. इसलिए डीईडीएस के लिए राष्ट्रीय कृषि और ग्रामीण विकास बैंक (NABARD) कर्ज में छूट मुहैया कराता है.

    Business Idea: बिना तालाब के पालें मछली, बायोफ्लॉक तकनीक से करें लाखों की कमाई

    DEDS स्कीम में 10 भैंस की डेयरी के लिए 7 लाख रुपये तक का कर्ज मुहैया कराया जाता है. सामान्य वर्ग के लोगों के लिए सब्सिडी 25 प्रतिशत तक है. किसी भी वर्ग की महिला या आरक्षित श्रेणी के लिए सब्सिडी की दर 33.33 फीसदी है.

    अगर आप छोटे स्तर पर काम शुरू करना चाहते हैं तो आप 2 गाय या भैंस से डेयरी की शुरूआत कर सकते हैं. दो पशुओं में आपको 35 से 50 हजार रुपये तक की सब्सिडी मिल सकती है.

    महज 10 फीसदी लागत
    अगर आप दूध डेयरी प्लांट खोलना चाहते हैं तो मिल्क प्लांट की कुल लागत का महज 10 फीसदी पैसा ही अपनी जेब से लगाना होगा. ध्यान रखें कि DEDS स्कीम के तहत लगाया जाने वाला डेयरी प्लांट लोन मंजूर होने के 9 महीने के भीतर शुरू हो जाना चाहिए. क्योंकि प्लांट शुरू होने में 9 महीने से ज्यादा समय लगने पर सब्सिडी का फायदा नहीं मिलेगा.

    Farmers Income: बीज उत्पादन तकनीक से होगी ज्यादा कमाई, जानें क्या है तकनीक

    DEDS योजना के तहत दी जाने वाली सब्सिडी बैक एंडेड सब्सिडी ( Back Ended Subsidy) होगी. इसका मतलब यह है कि जिस बैंक से लोन लिया गया है ‘NABARD’ सब्सिडी की रकम उसी बैंक को जारी करेगा.

    कैसे प्राप्त करें लोन
    डेयरी प्लांट के लिए एक प्रोजेक्ट तैयार करें. इसमें डेयरी प्लांट लगाने का स्थान, पशुओं की संख्या, लागत आदि के बारे में सभी जानकारी होनी चाहिए. अब इस प्रोजेक्ट को लेकर नाबार्ड द्वारा अधिकृत बैंक में जाएं और लोन के लिए आवेदन करें.

    योजना के तहत बैंक आपको डेयरी प्लांट के लिए शेड बनाने, गाय-भैंस की खरीद के लिए, गाय-भैंस का दूध निकलने की मशीन खरीदने के लिए, चारा व कुट्टी काटने की मशीन पर और डेयरी के अन्य किसी सामान की खरीद के लिए दिया जाता है.

    Tags: Business opportunities, Milk, Small business

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर