होम /न्यूज /व्यवसाय /PMC बैंक मामला: वित्त राज्यंत्री ने RBI, ऑडिटर्स की भूमिका पर उठाए सवाल

PMC बैंक मामला: वित्त राज्यंत्री ने RBI, ऑडिटर्स की भूमिका पर उठाए सवाल

PMC बैंक संकट पर वित्त राज्यमंत्री ने कही ये बात

PMC बैंक संकट पर वित्त राज्यमंत्री ने कही ये बात

वित्त राज्यमंत्री (Minister of State for Finance) अनुराग ठाकुर ने कहा, केंद्रीय बैंक इस मामले में ऑडिटरों की ओर से रही ...अधिक पढ़ें

    नई दिल्ली. पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव बैंक (PMC Bank) के संकट को ‘आंख खोलने’ वाला करार देते हुए वित्त राज्यमंत्री (Minister of State for Finance) अनुराग ठाकुर ने कहा है कि रिजर्व बैंक (RBI) इसके विभिन्न पहलुओं की जांच कर रहा है. पंजाब नेशनल बैंक (PNB) द्वारा सोमवार को यहां आयोजित कार्यक्रम में ठाकुर ने कहा कि केंद्रीय बैंक इस मामले में ऑडिटरों की ओर से रही खामियों का भी पता लगाएगा. कथित वित्तीय अनियमितताओं की वजह से PMC बैंक संकट में आ गया है. रिजर्व बैंक ने भी पीएमसी बैंक पर कई पाबंदियां लगाई है

    ठाकुर ने कहा, नियामक की भूमिका महत्वपूर्ण है. लेकिन इसके साथ ही ऑडिटरों, बैंक के निदेशकों और अधिकारियों की भूमिका भी महत्वपूर्ण है. वित्त राज्यमंत्री ने कहा कि रिजर्व बैंक यह पता लगा रहा है कि इतने वर्षों से ये लोग क्या कर रहे थे. कौन लोग इसके लिए जिम्मेदार हैं. अभी मैं इस पर इससे अधिक कुछ नहीं कह सकता.

    उन्होंने कहा, मीडिया में जिस तरह की खबरें आई हैं, लेख आ रहे हैं वे झटका देने वाले हैं. मुझे लगता है कि यह काफी ज्यादा महत्वपूर्ण है. बैंक क्षेत्र के लिए आंख खोलने वाला है. ऐसे मामले पहले तो होने ही नहीं चाहिए. इससे कई लोगों मसलन नियामक, ऑडिटर, निदेशक और अन्य अधिकारियों की भूमिका पर सवालिया निशान खड़ा होता है.

    ये भी पढ़ें: ई-सिगरेट को लेकर सरकार ने लागू किया ये​ नियम, भूलकर भी की गलती तो होगी 5 साल की जेल

    यह पूछे जाने पर कि क्या कॉरपोरेट मामलों का मंत्रालय भी इस मामले को देख रहा है, ठाकुर ने कहा कि सरकार जहां भी जरूरत होगी, उन क्षेत्रों को देखेगी. अंतत: इस तरह की घटनाओं का असर आम आदमी पर ही पड़ता है.

    HDIL पर बैंक का 2,500 करोड़ रुपये कर्ज
    पंजाब एंड महाराष्ट्र को-आपरेटिव बैंक के निलंबित प्रबंध निदेशक जॉय थॉमस ने शुक्रवार को खुलासा किया कि एचडीआईएल (HDIL) को बैंक ने 2,500 करोड़ रुपये का कर्ज दिया. उन्होंने कहा कि यह बैंक के कुल कर्ज का करीब एक तिहाई है. हालांकि, उन्होंने स्वीकार किया कि बैंक के पूर्व प्रबंधन ने गैर-निष्पादित संपत्तियों (एनपीए) के मामले में निदेशक मंडल को अंधेरे में रखा.

    ये भी पढ़ें: त्यौहारी सीजन से पहले HDFC बैंक ने ग्राहकों को दिया झटका!खत्म किया ये Discount

    Tags: Bank, Business news in hindi, RBI, RBI Governor

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें