आज से खुला निवेश का नया विकल्प, न्यूनतम 5 हजार रुपये से कर सकते हैं शुरुआत

आज से खुला निवेश का नया विकल्प, न्यूनतम 5 हजार रुपये से कर सकते हैं शुरुआत
मिराए एसेट इक्विटी एलोकेटर फंड ऑफ फंड लॉन्च

मिराए एसेट इक्विटी एलोकेटर फंड ऑफ फंड (Mirae Asset Equity Allocator Fund of Fund) आज से सब्सक्रिप्शन के लिए खुल गया है और यह 15 सितंबर को बंद होगा. आप बिना डीमैट अकाउंट के भी इस फंड ऑफ फंड में निवेश कर सकते हैं और इस तरह ईटीएफ तक पहुंच प्राप्त कर सकते हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 8, 2020, 1:20 PM IST
  • Share this:
मुंबई. मिराए एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स इंडिया (Mirae Asset Investment Managers India), देश के सबसे तेजी से बढ़ते फंड हाउसों में से एक है, जिसने आज मिराए एसेट इक्विटी एलोकेटर फंड ऑफ फंड (Mirae Asset Equity Allocator Fund of Fund) शुरू करने की घोषणा की है, जो घरेलू इक्विटी एक्सचेंज ट्रेडेड फंड्स (Exchange Traded Funds- ETFs) की इकाइयों में मुख्य रूप से निवेश करने वाली एक ओपन एंडेड योजना है.

आज से खुला NFO
एनएफओ (NFO) सब्सक्रिप्शन के लिए सदस्यता के लिए 8 सितंबर, 2020 से खुल गया है और 15 सितंबर, 2020 को बंद होगा. फंड को निफ्टी 200 इंडेक्स (टीआरआई) (Nifty 200 Index (TRI) के साथ बेंचमार्क किया जाएगा और भारती सावंत द्वारा मैनेज होगा. फंड निफ्टी 50 ईटीएफ (Nifty50 ETF), निफ्टी नेक्स्ट 50 ईटीएफ (Nifty Next 50 ETF) और मिडकैप 150 ईटीएफ (Midcap150ETFs) में लार्च और मिडकैप सेगमेंट (large & midcap segment) डेट जोखिम के साथ सक्रिय परिसंपत्ति आवंटन का पालन करेगी.

यह भी पढ़ें- EPFO की बुधवार को होगी अहम बैठक, नौकरीपेशा लोगों के लिए हो सकता है बड़ा फैसला
बिना डीमैट अकाउंट के भी कर सकते हैं निवेश


निवेशक बिना डीमैट अकाउंट के भी इस फंड ऑफ फंड में निवेश कर सकते हैं और इस तरह ईटीएफ तक पहुंच प्राप्त कर सकते हैं. मिराए असेट इंवेस्टमेंट मैनेजर्स इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के CEO स्वरूप मोहंती ने कहा कि जैसे-जैसे कोविड-19 (COVID-19) का प्रसार जारी है, बाजार में उतार-चढ़ाव मध्यम अवधि तक मौजूद रहने की संभावना है. ऐसी स्थिति में इक्विटी के भीतर आवंटन, विभिन्न श्रेणियों में विविधता और मार्केट कैप आवंटन को बनाए रखने के लिए पोर्टफोलियो को लगातार रिबैलेंस करना निवेशकों के लिए चुनौती बन जाता है. मिराए एसेट इक्विटी एलोकेटर फंड ऑफ फंड निवेशकों को इस चिंता से निपटने में मदद करने का प्रयास करता है कि इक्विटी में सबसे अधिक अवसर उपलब्ध हों, इसके परिणामस्वरूप न्यूनतम लागत पर बाजार के परिदृश्य के आधार पर पोर्टफोलियो को सक्रिय रूप से पुनर्संतुलित करके रिटर्न के अनुकूल करना है.

फंड ऑफ फंड इक्विटी फंड कराधान के लाभों के साथ कम लागत वाले ईटीएफ में अंतर्निहित निवेश करने के लिए एमएफ संरचना का उपयोग करने का लाभ प्रदान करता है. निवेशक अपनी लंबी अवधि की योजना के लिए एसआईपी मोड में निवेश कर सकते हैं और उन्हें निवेश करने के लिए डीमैट खाते की भी आवश्यकता नहीं है.

मिनिमम 5000 रुपये कर सकते हैं निवेश
योजना में न्यूनतम प्रारंभिक निवेश 5000 रुपए होगा और उसके बाद एक रुपए के मल्टीपल में किया जाएगा.निवेश का लक्ष्य कम लागत वाले ईटीएफ और लंबी अवधि के पूंजीगत लाभ / आय के साथ मध्यम उच्च जोखिम के साथ मार्केट रिटर्न उत्पन्न करना है. मिराए एसेट इक्विटी एलोकेटर फंड ऑफ फंड रेगुलर प्लान और डायरेक्ट प्लान के साथ ग्रोथ ऑप्शन और डिविडेंड ऑप्शन (पे-आउट एंड रि-इन्वेस्टमेंट) की पेशकश करेगा.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading