महज 5,000 रुपए के निवेश पर मिल सकता है शानदार रिटर्न, 9 मार्च तक है मौका

फंड खास तौर पर AA+ और इससे ऊपर की रेटिंग वाले कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश करेगा

फंड खास तौर पर AA+ और इससे ऊपर की रेटिंग वाले कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश करेगा

मिरे एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स इंडिया ने न्यू फंड ऑफर (NFO) के तहत मिरे एसेट कॉरपोरेट बॉन्ड फंड (Mirae Asset Corporate Bond Fund) लॉन्च किया है. सब्सक्रिप्शन के लिए इसका न्यू फंड ऑफर (NFO) 24 फरवरी 2021 को खुल चुका है और यह 9 मार्च 2021 को बंद हो जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: February 24, 2021, 5:47 PM IST
  • Share this:


  • नई दिल्ली. मिरे एसेट इन्वेस्टमेंट मैनेजर्स इंडिया ने न्यू फंड ऑफर (NFO) के तहत मिरे एसेट कॉरपोरेट बॉन्ड फंड (Mirae Asset Corporate Bond Fund) लॉन्च किया है. सब्सक्रिप्शन के लिए एनएफओ 24 फरवरी 2021 को खुल चुका है और यह 9 मार्च 2021 को बंद हो जाएगा. बॉन्ड का बेंचमार्क निफ्टी कॉरपोरेट बॉन्ड इंडेक्स पर आधारित होगा.

    फंड हाउस के मुताबिक यह एक ओपन एंडेड डेट स्कीम (Open Ended Debt Fund) है. यह खासतौर पर AA+ और उससे ऊपर की रेटिंग के कॉरपोरेट बॉन्ड (Corporate Bond) में निवेश कर कर रही है. इसमें कम से कम 5,000 रुपए का निवेश करना होगा. इसके बाद यह 1 रुपए के मल्टीपल में निवेश राशि बढ़ा सकते हैं. इसमें किसी भी तरह का कोई एग्जिट लोड नहीं है. यानी आप कभी भी बाहर निकल सकते हैं.

    यह भी पढ़ें : सैलरी हाइक मिलने के बाद भी टेक होम सैलरी में इजाफा होना मुश्किल, जानिए क्या है वजह


    शॉर्ट टर्म में औसत यील्ड लॉन्ग टर्म के औसत यील्ड से ज्यादा

    मिरे एसेट इनवेस्टमेंट मैनेजर्स प्राइवेट लिमिटेड के CEO (फिक्स्ड इनकम) महेंद्र जाजू ने बताया कि साल के दौरान AAA बॉन्ड यील्ड कर्व में गिरावट आई है. क्रेडिट स्प्रेड सिकुड़ रहा है और मौजूदा यील्ड AAA बॉन्ड सेगमेंट में निवेश के बेहतर मौके मुहैया करा रहे हा. शॉर्ट टर्म में औसत यील्ड लॉन्ग टर्म के औसत यील्ड से ज्यादा है. इससे पता चलता है कि स्प्रेड अभी इतना अच्छा है कि इस निवेश का फायदा उठाया जा सकता है.



    यह भी पढ़ें : आधी हो सकती हैं पेट्रोल-डीजल की कीमतें, सरकार कर रही है इस विकल्प पर विचार



    फंड की खास बातें


  • फंड खास तौर पर AA+ और इससे ऊपर की रेटिंग वाले कॉरपोरेट बॉन्ड में निवेश करेगा. इसका कुछ एक्सपोजर गवर्नमेंट सिक्योरिटीज और ट्रेजरी-बिल में भी होगा.


  • फंड पूरे यील्ड कर्व में निवेश करेगा लेकिन टारगेट मोडिफाइड ड्यूरेशन 2 से 5 साल की अवधि की रेंज में ही होगा. यह इंटरेस्ट रेट आउटलुक पर निर्भर करेगा.


  • फंड नरम ब्याज दर की स्टैटजी पर एक्टिव पोर्टफोलियो मैनजमेंट नीति के तहत काम करेंगे.


  • फंड अभी निचली रेटिंग के बॉन्ड या पेपर्स (AA रेटिंग से नीचे) बॉन्ड में निवेश को वरीयता नहीं देगा. अभी पूरा फोकस अपने क्रेडिट असेसमेंट प्रोसेस पर आधारित हाई क्वालिटी पोर्टफोलियो बनाने पर होगा.


  • इस कैटेगरी में दूसरी डेट कैटेगरी और पारंपरिक फिक्स्ड इंस्ट्रूमेंट्स के मुकाबले बेहतर रिस्क एडजेस्टेड रिटर्न हासिल करने की क्षमता है. तीन साल से ज्यादा होल्डिंग की वजह से डेट फंड को टैक्स बेनिफिट भी मिलता है. इसमें SIP के जरिए भी आप निवेश कर सकते हैं.



अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज