मोदी ने इस अरब देश के साथ की तेल की डील, देश को होगा 10 हजार करोड़ का फायदा

मोदी ने इस अरब देश के साथ की तेल की डील, देश को होगा 10 हजार करोड़ का फायदा
यूएई जल्द ही अपना कच्चा तेल को भारत में जमा करने वाला है. जानें भारत कहां जमा किया जाएगा तेल..

यूएई जल्द ही अपना कच्चा तेल को भारत में जमा करने वाला है. जानें भारत कहां जमा किया जाएगा तेल..

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 13, 2018, 4:29 PM IST
  • Share this:
यूएई जल्द ही अपना कच्चा तेल को भारत में जमा करने वाला है. भारत ने यूएई की अाबूधाबी नेशनल ऑयल कंपनी (ADNOC) को कर्नाटक अंडरग्राउंड स्ट्रैटेजिक ऑयल स्टोरेज के, एक हिस्से को लीज पर देने के लिए शुरुआती समझौता किया है. पेट्रोलियम मंत्री धर्मेंद्र प्रधान ने कहा कि यह इस साल यूएई की कंपनी के साथ हुई दूसरी इस तरह की डील है. पादुर में विदेशी कंपनियों को तेल जमा करने की अनुमति देने से भारत को 10 हजार करोड़ रुपए की बचत होगी.

इस एग्रीमेंट के मुताबिक, जमा किए गए तेल को एडीएनओसी स्थानीय रिफाइनर कंपनियों को बेच सकेगी, लेकिन इमर्जेंसी की स्थिति में इस तेल पर पहला अधिकार भारत सरकार का होगा.

ये भी पढ़ें: सिर्फ 399 रुपए में करें हवाई सफर! जानें टिकट बुकिंग का प्रोसेस



अंडरग्राउंड स्टोरेज के इस्तेमाल से विदेशी कंपनियों को जहां सरकार को तेल स्टोर करने में की कॉस्ट कम करने में मदद मिलेगी. लॉ एंड आईटी मिनिस्टर रविशंकर प्रसाद ने 8 नवंबर को कैबिनेट मीटिंग के बाद कहा था कि विदेशी कंपनियों को पादुर में तेल जमा करने की अनुमति देने से सरकार को 10 हजार करोड़ रुपए की बचत होगी.
इन देशों में जमा किया जाएगा तेल
भारत ने कर्नाटक के मंगलूर और पादुर व आंध्र प्रदेश के पादुर में अंडरग्राउंड कुएं तैयार किए हैं, जिनमें इमर्जेंसी के लिए 53.33 लाख टन तेल जमा किया जा सकता है. इतने तेल से भारत की 9.5 दिनों की तेल की जरूरत पूरी हो सकती है.

ये भी पढ़ें: LIC की इस स्कीम में रोजाना लगाएं 35 रुपये, बोनस के साथ मिलेंगे 4.72 लाख
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज