Home /News /business /

14,500 एनजीओ पर सरकार ने लगाया प्रतिबंध, संसद में दी इसकी जानकारी

14,500 एनजीओ पर सरकार ने लगाया प्रतिबंध, संसद में दी इसकी जानकारी

फॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट (FCRA) के तहत रजिस्टर्ड एनजीओ पर रोक लगाई गई है.

फॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट (FCRA) के तहत रजिस्टर्ड एनजीओ पर रोक लगाई गई है.

बुधवार को केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने राज्यसभा में बताया कि फॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट (FCRA) के तहत रजिस्टर्ड एनजीओ (NGO) पर रोक लगाई गई है. इन सभी एनजीओ ने अनिवार्य वार्षिक रिटर्न प्रस्तुत नहीं किया था.

    नई दिल्ली. केंद्र सरकार ने पिछले 5 साल में देशभर के 14,500 गैर-सरकारी संगठनों (NGO) पर प्रतिबंध लगा दिया है.  बुधवार को केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय (Nityanand Rai, Minister of State for Home Affairs) ने राज्यसभा (Rajya Sabha) में बताया कि फॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट (FCRA) के तहत रजिस्टर्ड एनजीओ पर रोक लगाई गई है. इन सभी एनजीओ ने नियमों का उल्लंघन किया था. आपको बता दें कि FCRA नियमों के मुताबिक, एनजीओ को विदेशी चंदे का सारा रिकॉर्ड सरकार को देना होता है. इसमें प्रत्येक वित्त वर्ष के लिए वार्षिक रिटर्न, आमदनी और खर्च का विवरण, प्राप्तियों, भुगतान का लेखा और बैलेंस शीट इत्यादि प्रस्तुत करना जरूरी है. साथ ही, अनिवार्य वार्षिक रिटर्न (mandatory annual returns ) न करना एफसीआरए 2010 और एफसीआरए 2011 के प्रावधानों का उल्लंघन है.

    सरकार ने संसद में बताया- केंद्रीय गृहराज्य मंत्री नित्यानंद राय ने एक सवाल के जवाब में बताया कि इस साल अभी तक 1808 एनजीओ का FCRA रजिस्ट्रेशन रद्द कर दिया गया है.

    ये भी पढ़ें-सोशल साइट और ऐप से अब कोई भी नहीं चुरा पाएगा आपकी निजी जानकारी, सरकार का फैसला

    >> पिछले 5 साल में करीब 14,500 का रजिस्ट्रेशन रद्द हुआ है. एनजीओ के  विदेशों से फंड लेने पर रोक लगाई गई है. फॉरेन कंट्रीब्यूशन (रेगुलेशन) एक्ट (एफसीआरए) के तहत रजिस्टर्ड एनजीओ ने नियमों का उल्लंघन किया था.

    >> एफसीआरए के गाइडलाइंस के मुताबिक, रजिस्टर्ड संस्थानों को हर वित्त वर्ष में आय और खर्च का ब्यौरा ऑनलाइन तरीके से जमा करना अनिवार्य होता है.

    >> एफसीआरए 2010 की धारा 14 के अनुसार, अगर कोई एनजीओ नियमों के तहत विदेशी चंदे की जानकारी छिपाता है तो उसकी मान्यता रद्द हो सकती है.

    ये भी पढ़ें-सरकार की नई स्कीम में पैसा लगाकर आप भी कर सकेंगे कमाई, कैबिनेट ने दी मंजूरी

    Tags: Business news in hindi, Government, Government of India

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर