भ्रष्टाचार पर वार: मोदी सरकार ने इन 15 वरिष्ठ अधिकारियों को समय से पहले किया रिटायर

मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सख्त फैसलों का दौर शुरू हो गया है. सरकार ने एक्साइज और कस्टम डिपार्टमेंट के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को समय से पहले रिटायर कर दिया है.

News18Hindi
Updated: June 18, 2019, 4:03 PM IST
भ्रष्टाचार पर वार: मोदी सरकार ने इन 15 वरिष्ठ अधिकारियों को समय से पहले किया रिटायर
एक्साइज और कस्टम के 15 वरिष्ठ अधिकारियों पर गिरी गाज! समय से पहले किए गए रिटायर
News18Hindi
Updated: June 18, 2019, 4:03 PM IST
मोदी सरकार के दूसरे कार्यकाल में सख्त फैसलों का दौर शुरू हो गया है. सरकार ने एक्साइज और कस्टम डिपार्टमेंट के 15 वरिष्ठ अधिकारियों को समय से पहले रिटायर कर दिया है. पिछले हफ्ते आयकर विभाग के 12 वरिष्ठ अफसरों को वित्त मंत्रालय ने जबरन रिटायर (Compulsory Retirement) कर दिया था. डिपार्टमेंट ऑफ पर्सनल एंड एडमिनिस्ट्रेटिव रिफॉर्म्स के नियम 56 के तहत वित्त मंत्रालय ने इन अफसरों को समय से पहले ही रिटायरमेंट दे दिया है.

माना जा रहा है कि ऐसा करने के पीछे सरकार की मंशा आलसी और न के बराबर काम करने वाले अधिकारियों को सेवामुक्त करना है. रिपोर्ट्स की मानें तो सरकार ने खराब परफॉर्मेंस वाले अधिकारियों की लिस्ट भी बनाई है. वहीं, अनिवार्य रिटायरमेंट दिए जाने से सरकार की इस प्रक्रिया के जरिये रोजगार में भी इजाफा होगा, क्योंकि सरकारी पद खाली होंगे तो उस पर भर्ती के लिए सरकार के जरिये रिक्तियां भी निकाली जाने की संभावनाएं हैं.

नियम 56 के तहत हुआ फैसला- वित्त मंत्रालय रूल 56 का इस्तेमाल ऐसे अधिकारियों पर किया जा सकता है जो 50 से 55 साल की उम्र के हों और 30 साल का कार्यकाल पूरा कर चुके हैं.

>> सरकार के जरिये ऐसे अधिकारियों को अनिवार्य रिटायरमेंट दिया जा सकता है. ऐसा करने के पीछे सरकार का मकसद नॉन-परफॉर्मिंग सरकारी सेवक को रिटायर करना होता है.

>> सरकार के जरिये अधिकारियों को अनिवार्य रिटायरमेंट दिए जाने का नियम काफी पहले से प्रभावी है.

ये भी पढ़ें-प्रधानमंत्री आवास योजना: आपको सस्ता होम लोन मिलेगा या नहीं!

>> रिपोर्ट्स के मुताबिक, आने वाले वक्त में मोदी सरकार रूल 56 का इस्तेमाल करके कई अधिकारियों को अनिर्वाय रिटायरमेंट दे सकती है.
Loading...

>> वहीं भ्रष्टाचार, अवैध और बेहिसाब संपत्ति के आरोप से घिर चुके अधिकारियों पर आने वाले दिनों में भी रूल 56 का इस्तेमाल किया जा सकता है.

(लक्ष्मण रॉय, इकोनॉमिक-पॉलिसी एडिटर, सीएनबीसी आवाज़)

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: June 18, 2019, 2:38 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...