Alert! 1 करोड़ से ज्यादा कैश विदड्रॉल पर देने होंगे दो लाख, 1 सितंबर से लागू होगा फैसला

News18Hindi
Updated: August 30, 2019, 10:16 PM IST
Alert! 1 करोड़ से ज्यादा कैश विदड्रॉल पर देने होंगे दो लाख, 1 सितंबर से लागू होगा फैसला
नकद लेनदेन कम करने के लिए मोदी सरकार का बड़ा फैसला

नकद लेनदेन (Cash Transaction) कम करने के लिए सरकार (Government) ने बड़ा फैसला किया है. 1 सितंबर से साल में 1 करोड़ रुपये से ज्यादा नकद लेनदेन पर 2 फीसदी टीडीएस (TDS) कटेगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: August 30, 2019, 10:16 PM IST
  • Share this:
नकद लेनदेन (Cash Transaction) कम करने के लिए सरकार (Government) ने बड़ा फैसला किया है. 1 सितंबर से साल में 1 करोड़ रुपये से ज्यादा नकद लेनदेन पर 2 फीसदी टीडीएस (TDS) कटेगा. ये फैसला 1 सितंबर से लागू होगा. बता दें कि वित्त मंत्री (Finance Minister) निर्मला सीतारमण (Nirmala Sitharaman) ने बजट में नकद लेनदेन पर TDS लगाने की घोषणा की थी.

इन पर नहीं होगा लागू
यह प्रावधान सरकार, बैंकिंग कंपनी, बैंकिंग में लगी सहकारी समिति, डाकघर, बैंकिंग प्रतिनिधि और व्हाइट लेबल एटीएम परिचालन करने वाली इकाइयों पर लागू नहीं होगा, क्योंकि व्यवसाय के तहत उन्हें भारी मात्रा में नकद का इस्तेमाल करना होता है.

2017-18 में 2 लाख ने किया 1 करोड़ से ज्यादा का नकद लेनदेन

आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, 2017-18 में करीब दो लाख लोगों और इकाइयों ने बैंक खातों से एक-एक करोड़ रुपये से अधिक की राशि निकाली. इन इकाइयों ने कुल मिलाकर 11.31 लाख करोड़ रुपये की निकासी की. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने अपने बजट भाषण में कहा था, कारोबारी भुगतान नकद में करने को हतोत्साहित करने के उद्देश्य से मैं बैंक खाते से एक साल में एक करोड़ रुपये से अधिक की निकासी पर दो प्रतिशत टीडीएस का प्रस्ताव करती हूं.

ये भी पढ़ें: इन 10 सरकारी बैंकों का आपस में हुआ विलय, जानें आपके अकाउंट और पैसे का क्या होगा?


Loading...

क्या कहते हैं आंकड़े
वित्त वर्ष 2017-18 में 1.03 लाख से अधिक इकाइयों ने एक से दो करोड़ रुपये की निकासी की और उनकी कुल मिलाकर निकासी 1.43 लाख करोड़ रुपये रही. वहीं 58,160 इकाइयों ने दो से पांच करोड़ रुपये की निकासी की और उनकी कुल मिला कर नकद निकासी 1.75 लाख करोड़ रुपये थी. इसी तरह 14,552 इकाइयां ऐसी थीं जिन्होंने साल के दौरान बैंक खातों से 5 से 10 करोड़ रुपये निकाले और उनकी कुल निकासी 98,900 करोड़ रुपये रही. इसके अलावा 7,300 लोग ऐसे रहे जिन्होंने 10 से 100 करोड़ रुपये की निकासी की. उनकी कुल निकासी 1.57 लाख करोड़ रुपये रही.

ये भी पढ़ें: मोदी सरकार 10 बैंकों को मिलाकर 4 बैंक बनाएगी, जानिए यहां नौकरी करने वालों का क्या होगा?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 30, 2019, 8:53 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...