लाइव टीवी

मोदी सरकार का बड़ा फैसला- 5,300 विस्थापित कश्मीरी परिवारों को मिलेंगे 5.5 लाख रुपये

News18Hindi
Updated: October 9, 2019, 4:30 PM IST
मोदी सरकार का बड़ा फैसला- 5,300 विस्थापित कश्मीरी परिवारों को मिलेंगे 5.5 लाख रुपये
मोदी सरकार ने हर विस्थापित कश्मीरी पंडित परिवार को 5.5 लाख की मदद देने का ऐलान किया है.

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पीओके से विस्थापित हुए 5300 परिवार जो देश के दूसरे हिस्सों में बस गए और फिर जम्मू-कश्मीर में ही लौट गए उन्हें 5.5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 9, 2019, 4:30 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में कई बड़े फैसले हुए हैं. सरकार ने कश्मीर से विस्थापित होकर भारत के कई राज्यों में आ बसे 5300 कश्मीरी परिवारों को बड़ी राहत देने का ऐलान किया है. अब इन परिवारों को केंद्र की ओर से 5.5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी, ताकि ये कश्मीर में बस सकें. केंद्रीय मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने पीओके के विस्थापितों के लिए मुआवजे का ऐलान करते हुए कहा कि इससे ऐतिहासिक भूल सुधार का मौका मिलेगा. उन्होंने कहा, 'कैबिनेट ने जम्मू-कश्मीर के लिए ऐतिहासिक फैसला लिया है.'

प्रकाश जावड़ेकर ने कहा कि पीओके से विस्थापित हुए 5300 परिवार जो देश के दूसरे हिस्सों में बस गए और फिर जम्मू-कश्मीर में ही लौट गए उन्हें 5.5 लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी जाएगी. यह विस्थापित हुए परिवारों के साथ हुई ऐतिहासिक गलती सुधारने के तौर पर लिया गया कदम है.

ये भी पढ़ें-दिवाली से पहले किसानों को बड़ा तोहफा, PM किसान सम्मान निधि योजना के लिए हुआ ये ऐलान





अभी कश्मीरी परिवार को मिलती है ये मदद- सरकारी नौकरी वालों को छोड़कर फिलहाल हर कश्मीरी परिवार को 13 हजार रुपये प्रतिमाह मिलते हैं. जो पहले सिर्फ 6600 रुपये था.

जिसे मोदी सरकार ने मई 2015 में बढ़ाकर 10 हजार किया था. सरकार ने महंगाई आदि को देखते हुए जून 2018 में इसमें तीन हजार रुपये का और इजाफा कर दिया था.

लेकिन अब बदले हालात में क्या होगा? जानकारों का कहना है कि जब तक उन्हें बसाया नहीं जाएगा तब तक इसे वापस नहीं लिया जा सकता.

कश्मीरी पंडितों की सहायता रकम चार साल में दो बार बढ़ाई. अब इसी सरकार से उम्मीद है कि कोई रोडमैप तैयार कर कश्मीरी पंडितों की घर वापसी भी करवाएगी.

चार साल पहले घोषित हुआ था पैकेज-मोदी सरकार ने 7 नवंबर 2015 को 1,080 करोड़ रुपये की लागत से कश्मीरी प्रवासियों के लिए राज्य सरकार की 3,000 अतिरिक्त नौकरियां सृजित करने और 920 करोड़ रुपये की लागत से कश्मीर घाटी में 6,000 ट्रांजिट आवासों के निर्माण का अनुमोदन प्रदान किया था.

ये भी पढ़ें-ट्रेन टिकट ना मिलने पर स्मार्ट बस से करें सफर, 12 शहरों में है ये सर्विस

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 9, 2019, 3:27 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...