लाइव टीवी

सरकार ने कारोबारियों को दी राहत! ई-वे बिल की वैलिडिटी 30 अप्रैल तक बढ़ाई

News18Hindi
Updated: April 5, 2020, 8:17 AM IST
सरकार ने कारोबारियों को दी राहत!  ई-वे बिल की वैलिडिटी 30 अप्रैल तक बढ़ाई
सरकार ने ई-वे बिल की वैधता अप्रैल के अंत तक बढ़ायी

COVID-19: यह सुविधा उन बिलों के लिये है जिनकी वैधता की समयसीमा 20 मार्च से 15 अप्रैल के बीच है.

  • Share this:
नई दिल्ली. सरकार ने देश में कोरोना वायरस (Coronavirus) के रोकथाम के लिये लॉकडाउन (Lockdown) के कारण माल की एक राज्य से दूसरे राज्य में ढुलाई में आ रही बाधाओं को देखते हुए ई-वे बिल (e-way bill) की वैधता 30 अप्रैल तक के लिये बढ़ा दी है. यह सुविधा उन बिलों के लिये है जिनकी वैधता की समयसीमा 20 मार्च से 15 अप्रैल के बीच है. केंद्रीय आयात एवं सीमा शुल्क बोर्ड (सीबीआईसी) ने एक अधिसूचना में कहा, ऐसे ई-वे बिल जो बनाये जा चुके हैं और उनकी वैधता की समयसीमा 20 मार्च से 15 अप्रैल के दौरान तक की है, उनकी वैधता 30 अप्रैल तक बढ़ायी जाती है. लॉकडाउन के कारण देश भर में राष्ट्रीय राजमार्गों पर माल से लदे ट्रक फंसे हुए हैं. इस कदम से इन ट्रकों को फायदा होगा.

ई-वे बिल की जरूरत एक राज्य से दूसरे राज्य में 50 हजार रुपये से अधिक की माल की ढुलाई करने में होती है. एएमआरजी एंड एसोसिएट्स के सीनियर पार्टनर रजत मोहन ने कहा कि सरकार ने लॉकडाउन के दौरान समाप्त हो रहे ई-वे बिल की वैधता बढ़ाकर करदाताओं को बड़ी राहत दी है. ईवाय के टैक्स पार्टनर अभिषेक जैन ने कहा कि अधिकांश फंसे वाहनों के ई-वे बिल की वैधता समाप्त हो चुकी थी. ऐसे में कारोबारियों को डर था कि इन्हें पकड़ लिया जाएगा.

ये भी पढ़ें: 15 अप्रैल के बाद कर सकते हैं ट्रेन यात्रा, टिकट बुक करने से पहले जान लें ये बातें



मार्च में 1 लाख करोड़ से कम रहा GST कलेक्शन



मार्च में GST कलेक्शन फरवरी महीने के मुकाबले कम रहा. मार्च में GST कलेक्शन घटकर 97,597 करोड़ रुपये रहा है. फरवरी जीएसटी कलेक्शन 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा था. वित्त मंत्रालय की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि 97,597 करोड़ रुपये में से सेंट्रल जीएसटी का कलेक्शन 19,183 करोड़ रुपये का रहा. वहीं, स्टेट जीएसटी 25,601 करोड़ रुपये और इंटीग्रेटेड जीएसटी कलेक्शन का आंकड़ा 44,508 करोड़ रुपये का रहा. इसमें आयात से प्राप्त 18,056 करोड़ रुपये भी शामिल हैं. बयान के अनुसार, 31 मार्च, 2020 तक कुल 76.5 लाख GSTR-3B रिटर्न भरे गए हैं.

बता दें कि लगातार चार महीने जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये के पार रहा था. नवंबर-दिसंबर 2019 और जनवरी-फरवरी 2020 में कुल जीएसटी कलेक्शन 1 लाख करोड़ रुपये से अधिक रहा था. फरवरी में जीएसटी कलेक्शन 1.05 लाख करोड़ रुपये रहा था.

ये भी पढ़ें:  एफडी कराने वालों के लिए बड़ी खबर! टैक्स डिपार्टमेंट ने 30 जून तक दी ये छूट

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: April 5, 2020, 8:17 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
corona virus btn
corona virus btn
Loading