मोदी सरकार ने इसलिए 140 फीसदी बढ़ाया खेती-किसानी का बजट

किसानों के बैंक खातों में सीधे जा रही है 87,000 करोड़ रुपये की बड़ी राशि, ताकि 2022 तक दोगुनी हो अन्नदाताओं की आय

News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 3:22 PM IST
मोदी सरकार ने इसलिए 140 फीसदी बढ़ाया खेती-किसानी का बजट
साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर है मोदी सरकार का फोकस
News18Hindi
Updated: July 17, 2019, 3:22 PM IST
केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण मंत्री नरेंद्र सिंह तोमर ने कहा है कि मोदी सरकार का फोकस साल 2022 तक किसानों की आय दोगुनी करने पर है. इसीलिए कृषि के बजट में पिछले साल के मुताबले रिकॉर्ड 140 फीसदी की बढ़ोत्तरी की गई है. वर्ष 2019-20 में खेती-किसानी के लिए कृषि मंत्रालय को 1,30,485 करोड़ रुपये का बजट आवंटित किया गया है. आजादी के बाद पहली बार सीधे किसानों के बैंक खातों में 87,000 करोड़ रुपये की बड़ी राशि जमा की जा रही है. तोमर पूसा में भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद (आईसीएआर) के एक कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

तोमर ने कहा कि प्रधानमंत्री ने वर्ष 2024 तक देश की अर्थव्यवस्था को 5 ट्रिलियन डॉलर तक पहुंचाने का लक्ष्य रखा है, इसमें किसानों ओर कृषि वैज्ञानिकों का योगदान महत्वपूर्ण है. मोदी सरकार ने किसानों की आय बढ़ाने के लिए कई कदम उठाए हैं, जिसमें एमएसपी में बढ़ोतरी, दशकों से अटकी पड़ी सिंचाई परियोजनाओं को पूरा करने, फसल बीमा योजना का विस्‍तार करने, 100 प्रतिशत नीम कोटेड यूरिया का उपयोग करने, किसान सम्‍मान निधि योजना और स्वायल हेल्थ कार्ड आदि शामिल हैं.

Farmer,kisan, किसान, Ministry of Agriculture, Narendra Singh Tomar, Indian Council for Agricultural Research, pradhan mantri Kisan Samman Nidhi, Modi Government, narendra modi, agriculture budget 2019-20, कृषि मंत्रालय, नरेंद्र सिंह तोमर, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, किसान, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मोदी सरकार, नरेंद्र मोदी, कृषि बजट 2019-20, किसानों की आय        कृषि के बजट में रिकॉर्ड बढ़ोत्तरी (File Photo)

उन्होंने कहा कि फसल उपज के भंडारण के लिए ग्रामीण भंडारण योजना के जरिए किसानों को उनके गांव में ही भंडारण की सुविधा दी जाएगी. साथ ही किसानों को लाभ पहुंचाने के लिए दस हजार नए किसान उत्‍पादक संगठन (एफपीओ) बनाने का लक्ष्‍य रखा गया है. फसल की उपज का भंडारण बड़ी समस्या है.

तोमर ने कहा, कृषि और किसानों को आगे बढ़ाने के लिए मोदी सरकार आईएआरई, पूसा संस्‍थान की तर्ज पर दिल्‍ली से बाहर पहली बार आईएआरआई–असम और आईएआरआई–झारखंड की स्‍थापना की है. उन्होंने कहा कि कृषि विकास और खेती का रकबा बढ़ाने के साथ-साथ युवाओं का रुझान खेती की ओर बढ़ाने के लिए नीति निर्माण की आवश्‍यकता है.

Farmer,kisan, किसान, Ministry of Agriculture, Narendra Singh Tomar, Indian Council for Agricultural Research, pradhan mantri Kisan Samman Nidhi, Modi Government, narendra modi, agriculture budget 2019-20, कृषि मंत्रालय, नरेंद्र सिंह तोमर, भारतीय कृषि अनुसंधान परिषद, किसान, प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि, मोदी सरकार, नरेंद्र मोदी, कृषि बजट 2019-20, किसानों की आय        पहली बार किसानों के अकाउंट में सीधे भेजा गया पैसा

कृषि मंत्री ने कहा कि कृषि वैज्ञानिकों की रिसर्च और किसान भाइयों की कड़ी मेहनत की बदौलत दलहन उत्‍पादन में वर्ष 2017-18 में लगभग 25 मिलियन टन का नया रिकॉर्ड हासिल किया गया है. बागवानी में तो तिहरे शतक (315 मिलियन टन) का आंकड़ा पार कर लिया गया है. यही नहीं, देश तिलहन सेक्‍टर में आत्मनिर्भर बनने की ओर है.
Loading...

खुशखबरी! किसान क्रेडिट कार्ड स्कीम में मोदी सरकार ने किया ये बड़ा बदलाव, संसद में दी जानकारी

मोदी सरकार की खास योजना, इन किसानों को मिलेगी 24 लाख रुपए की मदद!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए देश से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 17, 2019, 2:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...