लाइव टीवी

अब सामान खरीदने के बाद मांगे अपना बिल, मोदी सरकार देगी ईनाम

News18Hindi
Updated: December 11, 2019, 2:02 PM IST
अब सामान खरीदने के बाद मांगे अपना बिल, मोदी सरकार देगी ईनाम
GST बिल लेकर सामान खरीदने वाले को ईनाम देगी सरकार

मोदी सरकार (Modi Government) जीएसटी बिल (GST Bill) लेकर सामान खरीदने वाले ग्राहकों को ईनाम दे सकती है. ग्राहकों का चयन लकी ड्रॉ (Lucky Draw) से होगा. सभी बिलों में मौजूद लेनदेन आईडी के जरिए लकी ग्राहक चुने जाएंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 11, 2019, 2:02 PM IST
  • Share this:
नई दिल्ली. लगातार घटते गुड्स एंड सर्विसेज टैक्स (GST) कलेक्शन से निपटने के लिए सरकार ने एक नया प्लान बना रही है. जीएसटी (GST) वसूली बढ़ाने के लिए सरकार ग्राहकों को खरीदारी के वक्त रसीद (Bill) लेने के प्रति प्रोत्साहित करने के लिए लॉटरी स्कीम (Lottery Scheme) शुरू करने पर विचार कर रही है. लॉटरी स्कीम के तहत लकी ड्रॉ से चुने गए ग्राहकों को सरकार ईनाम देगी.

क्या होगी लॉटरी स्कीम?
लॉटरी स्कीम प्लान के तहत ग्राहकों के लिए डेली या मंथली आधार पर लॉटरी का आयोजन करने की है. इसमें वो ग्राहक भाग ले सकते हैं जो सामान खरीदने के लिए व्यापारी को जीएसटी भुगतान करने के बाद बिल की एक कॉपी लेते हैं.

ये भी पढ़ें-प्याज के बाद अब अंडा और चिकन खाना होगा महंगा! इस वजह से बढ़ सकते हैं दाम 

लकी ड्रॉ से चुने जाएंगे विजेता
इस बिल को डेडिकेटेड पोर्टल या ऐप पर पर अपलोड करना होगा जो बाद में बनाया जाएगा. पोर्टल का ऐप पर व्यापारी के फोन नंबर, बिल नंबर और जीएसटी नंबर को ऑटो कैप्चर करेगा और इसके जरिए विजेताओं के नाम चुने जाएंगे. सभी बिलों में मौजूद लेनदेन आईडी के जरिए लकी ग्राहक चुने जाएंगे.

सरकार का मानना है कि मंथली लॉटरी ईनाम के तहत ग्राहकों को जीएसटी का भुगतान करने के लिए लुभाया जाएगा और इससे जीएसटी कलेक्शन बढ़ाने में मदद मिलेगी.ये भी पढ़ें: LIC में फंस जाएगा आपका पूरा पैसा, अगर नहीं किया ये जरूरी काम

होंगी ये शर्तें
लॉटरी में भाग लेने के लिए बिलों की न्यूनतम सीमा तय की जाएगी और पानी और बिजली के बिलों को शामिल नहीं किया जाएगा. लॉटरी के लिए पुरस्कार कंज्यूमर वेलफेयर फंड से आएगा.

इन चीजों के बढ़ सकते हैं जीएसटी रेट
सरकार जीएसटी करने बढ़ाने के लिए जीएसटी दरों में बदलाव कर सकती है. संभावना है कि रॉ सिल्क, लग्जरी हेल्थकेयर, हाई वैल्यूम होम लीजिंग, ब्रांडेड सीरियल्स, पिज्जा, रेस्टोरेंट, क्रूज शिपिंग, प्रिंट एडवरटाइजिंग, एसी ट्रेन टिकट्स, ऑलिव ऑयल जैसे दर्जनों ऐसी चीजों के रेट में बदलाव पर चर्चा की जा रही है. यानी इनकी दरों में बढ़ोतरी करके जीएसटी राजस्व बढ़ाने पर विचार हो रहा है.

ये भी पढ़ें: 
Alert! 1 फरवरी से महंगा होगा ट्रेन का सफर, इतना बढ़ सकता है किराया
PPF, NSC, सुकन्या समृद्धि समेत इन स्कीम में पैसा लगाने वालों के लिए बड़ी खबर!

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए मनी से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 11, 2019, 2:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर